ऑस्ट्रेलिया ने तीन T-20 सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया को 4 विकेट से हराया, जानें हार की 5 मुख्य वजहें
होम / स्पोर्ट्स / ऑस्ट्रेलिया ने तीन T-20 सीरीज के पहले मै...

ऑस्ट्रेलिया ने तीन T-20 सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया को 4 विकेट से हराया, जानें हार की 5 मुख्य वजहें

Pratibha Rana
Sep 21, 2022 06:53 AM
 टीम इंडिया की करारी हार
टीम इंडिया की करारी हार

MOHALI. ऑस्ट्रेलिया ने तीन मैचों की सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया को 4 विकेट से हरा दिया है। टॉस होने के बाद पहले बेटिंग करने मैदान पर उतरी टीम इंडिया ने 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 208 रन बनाए। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट के नुकसान पर टारगेट हासिल कर लिया। कैमरून ग्रीन ने खेली 61 रन की धमाकेदार पारी खेली। 

कैमरून ग्रीन का शानदार प्रदर्शन

ऑस्ट्रेलिया टीम के कैमरन ग्रीन ने 30 बॉल में 61 रनों की पारी खेली। 3 मैचों की सीरीज में टीम इंडिया 0-1 से पीछे हो गया है। बात करें टीम इंडिया की तो यहां से हार्दिक पंड्या ने 30 बॉल पर 71 रन बनाए। टीम इंडिया के स्ट्राइक बॉलर भुवनेश्वर कुमार ने 4 ओवर में 52 रन बनाए। इसके अलावा युजवेंद्र चहल ने 3.2 ओवर में 42 रन बनाए। हर्षल पटेल ने 4 ओवर में 49 रन पिटवा दिए। अक्षर पटेल ने 4 ओवर में 17 रन देकर 3 विकेट लिए।

टीम इंडिया की हार की ये रहे 5 कारण

1.डेथ ओवर में खराब बॉलिंग


ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी20 मुकाबले में भारतीय बॉलर्स ने निराशाजनक प्रदर्शन किया। भुवनेश्वर कुमार और हर्षल पटेल ने मिलकर 101 रन लुटा दिए। अक्षर पटेल ने अपने चार ओवर में सिर्फ 17 रन दिए थे।

2.खराब फील्डिंग, कैच छोड़े

भारतीय टीम की फील्डिंग भी औसत दर्जे की रही। भारत की तरफ से दो कैच छोड़े गए, जो अहम साबित हो सकते थे। पहला कैच अक्षर पटेल, जबकि दूसरा केएल राहुल ने छोड़ा। 

3.डीआरएस नहीं लिया

कैमरून ग्रीन ने इस मैच में भारत के खिलाफ एक मैच जिताऊ पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया की पारी के पांचवें ओवर में युजवेंद्र की बॉल पर एक अपील की थी, लेकिन कैप्टन ने इस पर रिव्यू नहीं लिया। बाद में देखा गया गेंद सीधे विकेट पर जाकर लगी थी, अगर डीआरएस ले लिया गया होता तो ग्रीन वहीं पर आउट हो सकते थे। 

4.युजवेंद्र का खराब फॉर्म

पिछली बार टी20 वर्ल्ड कप में ये देखा जा रहा था कि सब युजवेंद्र चहल को ना खिलाए जाने को लेकर आवाज उठा रहे थे, लेकिन एशिया कप और ऑस्ट्रेलिया के साथ पहले मैच में भी वे इतने असरदार साबित नहीं हुए, जिसके चलते भारत को बीच के ओवरों में विकेट नहीं मिले। 

5.कप्तान और बॉलर्स में तालमेल की कमी

भुवनेश्वर कुमार एक्सपीरियंस बॉलर हैं, लेकिन इस मैच में उन्होंने लगातार वाइड, फुलटॉस और शॉर्ट लैंथ बॉल्स डालीं, जिन पर ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों ने आसानी से रन बनाए। इससे कप्तान के साथ मिलकर की गई प्लानिंग पर सवाल उठे।

 

thesootr
द-सूत्र ऐप डाउनलोड करें :
Like & Follow Our Social Media