CBI : राम मनोहर लोहिया अस्पताल के दो डॉक्टर मरीजों से रिश्वत लेते गिरफ्तार

दिल्ली में सीबीआई ने डॉक्टर्स और मेडिकल इक्यूपमेंट्स से जुड़े डीलर्स के 15 ठिकानों पर छापेमारी की है। RML से गिरफ्तार दो डॉक्टर्स में एक प्रोफेसर और एक असिस्टेंट प्रोफेसर है।

author-image
Marut raj
एडिट
New Update
CBI doctors arrested Ram Manohar Lohia Hospital  bribe patients द सूत्र
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

भोपाल. मरीजों से इलाज के नाम पर रिश्वत लेने की शिकायत पर सीबीआई ने दिल्ली के प्रतिष्ठत राम मनोहर लोहिया यानी RML अस्पताल ( Ram Manohar Lohia Hospital  ) के डॉक्टरों को गिरफ्तार किया है। सीबीआई ने अस्पताल के दो डॉक्टरों सहित 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में मेडिकल उपकरणों की सप्लाई करने वाले भी शामिल हैं। ये लोग पूरा रैकेट चलाकर अस्पताल आने वाले मरीजों से इलाज के नाम पर मोटी रकम वसूल रहे थे। गिरफ्तार दो डॉक्टरों में एक प्रोफेसर और एक असिस्टेंट प्रोफेसर है। सीबीआई ने डॉक्टर्स और मेडिकल इक्यूपमेंट्स से जुड़े डीलर्स के 15 ठिकानों पर छापेमारी की है।

डॉक्टर को ढाई लाख की रिश्वत लेते पकड़ा

आरएमएल अस्पताल के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर पर्वतगौड़ा को करीब ढाई लाख रुपए की रिश्वत के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। ये रिश्वत उन्हें यूपीआई के माध्यम से मिली थी। इनके अलावा रजनीश कुमार जो कि आरएमएल अस्पताल की कैथ लैब में सीनियर टेक्निकल इंचार्ज है, उसे भी गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई ने कार्डियोलॉजी विभाग में प्रोफेसर डॉक्टर अजय राज, नर्स शालू शर्मा, अस्पताल के क्लर्क भुवल जैसवाल और संजय कुमार गुप्ता समेत पांच अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से चार अलग-अलग इक्यूपमेंट सप्लाई करने वाली कंपनी में काम करते हैं। इन सभी को सीबीआई ने प्रिवेंशन ऑफ करप्शन और क्रिमनल कॉन्सपिरेसी 120बी के तहत गिरफ्तार किया है।

सीबीआई को जानकारी मिली थी कि राम मनोहर लोहिया अस्पताल के कई डॉक्टर्स और कर्मचारी करप्शन में शामिल हैं। ये अलग अलग मॉड्यूल के जरिए करप्शन करते है। जैसे मेडिकल इक्यूपमेंट्स की सप्लाई या डॉक्टर्स से उन्हें प्रमोट कराना और इसकी एवज में प्राइवेट कंपनियों से मोटी रकम लेना, गरीब लोगों से उनके मरीज का इलाज कराने के नाम पर क्लर्क के जरिए पैसे वसूलना आदि।

मेडिकल कंपनियों से सांठगांठ

सीबीआई की एफआईआर के मुताबिक डॉ. पर्वतगौड़ा और डॉ. अजय राज सहित मेडिकल कपनियों के प्रतिनिधि नरेश नागपाल, अबरार अहमद, आकर्षण गुलाटी, मोनिका सिन्हा, भरत सिंह दलाल का जिक्र है। डॉक्टर इनके इक्यूमेंट्स प्रमोट और सप्लाई करने के नाम पर रिश्वत लेते थे। वहीं, आरएमएल के क्लर्क भुवल जैसवाल और नर्स शालू शर्मा मरीजो के तीमारदारों से इलाज के नाम पर पैसा ऐंठते थे। गिरफ्तार आरोपियों को कोर्ट में पेश करके इनकी कस्टडी ली जाएगी। डॉक्टर रिश्वत लेते पकड़े Doctor caught taking bribe

Doctor caught taking bribe डॉक्टर रिश्वत लेते पकड़े Ram Manohar Lohia Hospital राम मनोहर लोहिया अस्पताल सीबीआई