लोकसभा चुनाव 2024 : टेस्ला के मालिक एलन मस्क इस महीने आएंगे भारत

एलन मस्क की कंपनी टेस्ला भारत में 25 हजार करोड़ तक का निवेश कर सकती है। महाराष्ट्र, गुजरात या तमिलनाडु में टेस्ला इलेक्ट्रिक कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की घोषणा कर सकती है।

author-image
Marut raj
New Update
Lok Sabha Elections 2024 Tesla owner Elon Musk will visit India this month the sootr द सूत्र
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

भोपाल. लोकसभा चुनाव 2024 ( Lok Sabha Elections 2024  ) के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) सरकार के लिए अच्छी खबर है। इलेक्ट्रिक व्हीकल ( EV )   सहित AI क्षेत्र की दिग्गज अमेरिकी कंपनी टेस्ला ( Tesla ) के मालिक एलन मस्क ( elon musk ) इस महीने भारत आ सकते हैं। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि उनकी यह यात्रा 22 से 27 अप्रैल के बीच हो सकती है। उनकी यह पहली भारत यात्रा होगी। गौरतलब है कि इस समय देश में लोकसभा चुनाव चल रहे हैं। मस्क की यात्रा और उनके द्वारा भारत में निवेश के ऐलान को पीएम मोदी चुनाव में कैश करा सकते हैं। 

कर सकते हैं ये बड़ा ऐलान

मस्क भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट की जगह का ऐलान कर सकते हैं। उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी होगी। हालांकि, मस्क या प्रधानमंत्री ऑफिस की ओर से इसके बारे में ऑफिशियल तौर पर कोई भी जानकारी नहीं दी गई है। मोदी और मस्क अब तक 2 बार मिल चुके हैं। 2015 में कैलिफोर्निया में टेस्ला फैक्ट्री में मुलाकात हुई थी। इसके बाद जून 2023 में दोनों न्यूयॉर्क में मिले थे।

 25 हजार करोड़ तक के निवेश का प्लान

3 अप्रैल को ब्रिटेन की फाइनेंशियल टाइम्स ने बताया था कि टेस्ला इस महीने भारत में एक टीम भेजेगी, जो देश में 2 से 3 बिलियन डॉलर ( 16 से 25 हजार करोड़ ) के इलेक्ट्रिक कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए जगह की तलाश करेगी। रिपोर्ट में बताया गया था कि इलेक्ट्रिक कार मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए टीम का फोकस महाराष्ट्र, गुजरात और तमिलनाडु जैसे ऑटोमोटिव हब वाले राज्यों पर होगा। इसकी वजह इन राज्यों के पोर्ट ( बंदरगाह ) हैं, जहां से कारों का एक्सपोर्ट आसान होगा। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार टेस्ला भारत में इलेक्ट्रिक कार के साथ बैटरी स्टोरेज सिस्टम भी बनाना और बेचना चाहती है। कंपनी ने इसके लिए भारतीय अधिकारियों के पास एक प्रपोजल दिया था।

 2022 में नहीं बनी थी बात

 2022 में टेस्ला ने भारत आने की इच्छा जताई थी, लेकिन तब कंपनी और सरकार के बीच बात नहीं बन पाई थी। टेस्ला ने सरकार से पूरी तरह से असेंबल गाड़ियों पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को 100% से घटाकर 40% करने की मांग की थी। कंपनी चाहती थी कि उसकी गाड़ियों को लग्जरी नहीं बल्कि इलेक्ट्रिक व्हीकल माना जाए, लेकिन सरकार ने कहा था कि दूसरे देशों से इंपोर्ट किए जाने वाले किसी भी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर इंपोर्ट ड्यूटी माफ या कम करने का कोई भी इरादा नहीं है। 

मस्क चाहते हैं ये खास सुविधा

सरकार ने कहा था कि अगर टेस्ला भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने का कमिटमेंट करती है तो इंपोर्ट पर छूट देने पर विचार किया जाएगा। हालांकि मस्क चाहते थे कि पहले भारत में कारों की बिक्री की जाए, इसके बाद प्लांट लगाने पर विचार किया जाएगा। 27 मई 2022 को भी एक ट्वीट में रिप्लाई करते हुए एलन मस्क ने कहा था, 'टेस्ला ऐसे किसी लोकेशन पर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं लगाएगी जहां उसे पहले से कारों को बेचने और सर्विस की परमिशन नहीं है।'

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टेस्ला एलन मस्क Prime Minister Narendra Modi Elon Musk Tesla लोकसभा चुनाव 2024