MP में Rahul Gandhi की Bharat Jodo Yatra का 11वां दिन है आज यात्रा Rajasthan में प्रवेश कर जाएगी- Bharat Jodo Yatra News
होम / देश / एमपी में राहुल गांधी बोले- BJP जय श्रीरा...

एमपी में राहुल गांधी बोले- BJP जय श्रीराम तो बोलती है, जय सियाराम क्यों नहीं; भारत जोड़ो यात्रा में भाग लेने वाला शिक्षक सस्पेंड

Atul Tiwari
03,दिसम्बर 2022, (अपडेटेड 03,दिसम्बर 2022 04:19 PM IST)
भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी दिव्यांगों के साथ भी चले।
भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी दिव्यांगों के साथ भी चले।

BHOPAL. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का मध्य प्रदेश में आज यानी 3 शनिवार को 11वां दिन है। यात्रा आगर-मालवा जिले में है। आगर में राहुल गांधी ने कहा कि संघ वाले जय श्री राम बोलते हैं, न कि जय सियाराम। वहां कोई 'सीता' नहीं है। उन्होंने सीता को बाहर रखा है, क्योंकि वे सीता की पूजा नहीं करते। राहुल ने जय सियाराम और जय श्रीराम में फर्क भी बताया। सुबह ब्रेक के बाद आमला शिवाय होटल के सामने से यात्रा शुरू हुई। शाम 4 बजे की यात्रा जैन मंदिर (सुसनेर) से शुरू होगी। शाम का ब्रेक 7 बजे मंगेशपुरा चौराहा होगा। नाइट स्टे अन्नपूर्णा ढाबा के पास लालाखेड़ी में किया जाएगा। 4 दिसंबर सुबह 6 बजे कैंपस साइट से शुरुआत होगी। शाम 7 बजे पिपलेश्वर बालाजी मंदिर, डोंगरगांव होते हुए नाइट स्टे राजस्थान में होगा।

बड़वानी जिले के प्राथमिक शाला कुजरी के शिक्षक राजेश कनोजे ने 24 नवंबर को आदिवासी सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होकर बोरगांव और रस्तमपुर के बीच में राहुल और प्रियंका गांधी से मुलाकात की थी। इस दौरान राहुल गांधी से आदिवासी समुदाय के मुद्दों पर बात कर उन्होंने कांग्रेस नेता को तीर-कमान भी भेंट किया था। इसके अगले ही दिन सहायक आयुक्त बड़वानी द्वारा आदेश जारी कर राजेश कनोजे को निलंबित कर दिया गया। इस पर पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस विधायक बाला बच्चन ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा की सफलता देखकर शिवराज सरकार डरी हुई है।  

राहुल ने गांधीजी के हे राम का मतलब समझाया

राहुल ने कहा कि गांधी जी, हे राम कहते थे। गांधी जी का नारा था हे राम। हे राम का मतलब क्या? हे राम का मतलब राम एक जीने का तरीका था, भगवान राम सिर्फ एक व्यक्ति नहीं थे, एक जिंदगी जीने का तरीका थे, प्यार, भाईचारा, इज्जत, तपस्या, उन्होंने पूरी दुनिया को जीने का तरीका सिखाया। गांधी जी हे राम कहते थे, उनका मतलब था, जो भगवान राम है, वो भावना हमारे दिल में है। और उसी भावना को लेकर हमें जिंदगी जीना है। ये हैं हे राम।

राहुल के राम पर बीजेपी का पलटवार

MP के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- राहुल बाबा का ज्ञान, बाबा-बाबा ब्लैक शीप तक ही सीमित है। राम की शुरुआत श्री से ही होती है और श्री जो हैं, वे विष्णु भगवानजी की पत्नी लक्ष्मी और सीता जी के लिए ही इस्तेमाल होता है। जरा खोल कर तो देख लें इतिहास। उधर, UP के डिप्टी CM केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट किया- भगवान श्रीराम के अस्तित्व को नकारने वाली कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी को जय श्रीराम न सही, भाजपा ने जय सियाराम बोलने के लिए विवश कर दिया है, यह भाजपा की वैचारिक विजय और कांग्रेसी विचारधारा की हार है। अभी आपसे जय श्री राधारानी सरकार की और जय श्रीकृष्ण भी कहलवाना है। 


rahul computer

राहुल गांधी ने 3 दिसंबर को दिव्यांगों से मुलाकात की। राहुल को रास्ते में दो बच्चे मिले, जिनके साथ उन्होंने फोटो खिंचवाई। राहुल के साथ यात्रा में कमलनाथ और कंप्यूटर बाबा भी शामिल रहे। दक्षिण भारत के मशहूर संगीतकार टीएम कृष्णा भी भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे। उन्हें देश में एकजुटता के प्रयासों के लिए मैग्सेसे और इंदिरा गांधी पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। 

भारत जोड़ो यात्रा की आप ये खबर भी पढ़ सकते हैं

rahul bharat jodo

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का वीडियो

RSS पर हमलावर हुए राहुल गांधी

राहुल गांधी ने आगर में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जय सियाराम का अर्थ है कि सीता जी और राम जी एक ही हैं। जब आरएसएस में कोई महिला नहीं है तो वे यह नारा कैसे दे सकते हैं। यह सियाराम का संगठन नहीं है। वहां कोई सीता नहीं है। उन्होंने सीता को बाहर रखा है। मेरा आरएसएस के दोस्तों से अनुरोध है कि जय श्री राम के साथ-साथ जय सियाराम और हे राम का भी जाप किया करें। सीताजी का अपमान न करें। उन्होंने आगे कहा कि ये सब मुझे एक पंडित ने बताया। पंडित उनके पास आए थे। राहुल ने कहा कि मैं यात्रा के दौरान काफी-कुछ सीख रहा हूं। राहुल ने हे राम, सिया राम और सीता राम को भी अलग तरीके से समझाया। राहुल ने ये भी कहा कि आरएसएस के लोग बीजेपी में गए और  उन्होंने भगवान राम के जीवन के तरीके को कभी नहीं अपनाया। भगवान राम ने कभी किसी के साथ अन्याय नहीं किया। उन्होंने समाज को एकजुट करने का काम किया। उन्होंने किसानों, व्यापारियों और मजदूरों की मदद की है। 

द-सूत्र ऐप डाउनलोड करें :
Like & Follow Our Social Media