राहुल गांधी के गुरु सत्यनारायण गंगाराम अमेरिका में जाकर हो गए सैम पित्रोदा

राजीव गांधी और मनमोहन सिंह सरकार के सलाहकार रहे सैम पित्रोदा का जन्म ओडिशा में हुआ था। अपने बयानों से पित्रोदा ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को परेशानी में डाल रखा था।

author-image
Marut raj
एडिट
New Update
Rahul Gandhi Satyanarayan Gangaram Pitroda Sam Pitroda Indian Overseas Congress  द सूत्र the sootr
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

भोपाल. लोकसभा चुनाव के बीच विवादित बयानबाजी कर घिरे कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा ने इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। उनका इस्तीफा स्वीकार करने की जानकारी पार्टी के नेता जयराम रमेश ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर दी है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के गुरु माने जाने वाले सैम पित्रोद का मूल नाम सत्यनारायण गंगाराम ( Satyanarayan Gangaram Pitroda ) है। उनका जन्म ओडिशा में हुआ था। अमेरिका में जाकर वह सत्यनारायण गंगाराम से सैम पित्रोदा ( Sam Pitroda ) हो गए।

पीएम मोदी ने लिया था निशाने पर

दरअसल, इंडियन ओवरसीज कांग्रेस (  Indian Overseas Congress ) के चेयरमैन सैम पित्रोदा का एक वीडियो सामने आया है। इसमें वह भारत के अलग-अलग हिस्सों में रहने वाले लोगों की रंगभेद के जरिए विवादित रूप से तुलना करते नजर आ रहे हैं। वीडियो में पित्रोदा पूर्वी भारत के लोगों की तुलना चीनी और दक्षिण भारत के लोगों की तुलना अफ्रीकी लोगों से करते नजर आ रहे हैं। इसको लेकर बीजेपी ने कांग्रेस निशाने पर ले लिया है।

विरासत टैक्स को लेकर भी दिया था बयान 

इससे पहले सैम पित्रोदा के विरासत टैक्स को दिए बयान पर विवाद हो गया था। उन्होंने ये बयान राहुल गांधी की उस टिप्पणी के जवाब में दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर कांग्रेस सरकार में आई तो एक सर्वे कराया जाएगा और पता लगाया जाएगा कि किसके पास कितनी संपत्ति है। उनके इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पित्रोदा ने अमेरिका में लगने वाले विरासत टैक्स का जिक्र किया था।

पित्रोदा ने कहा था कि अमेरिका में विरासत टैक्स लगता है। अगर किसी शख्स के पास 10 करोड़ डॉलर की संपत्ति है। उसके मरने के बाद 45 फीसदी संपत्ति उसके बच्चों को ट्रांसफर हो जाती है, जबकि 55 फीसदी संपत्ति पर सरकार का मालिकाना हक हो जाता है, लेकिन भारत में ऐसा कोई कानून नहीं है।

राजीव गांधी, मनमोहन सिंह के सलाहकार थे

सैम पित्रोदा अब संयुक्त राज्य अमेरिका में रहते हैं, जब राजीव प्रधानमंत्री थे तब उनके सलाहकार थे।  2004 के चुनाव में यूपीए की जीत के बाद, सैम पित्रोदा को तत्कालीन प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने भारत के राष्ट्रीय ज्ञान आयोग का प्रमुख बनने के लिए आमंत्रित किया था। 2009 में वह मनमोहन सिंह के सलाहकार बन गए।  सैम पित्रोदा का असली नाम Sam Pitroda real name

सीएम मोहन यादव बोले- राहुल गांधी के गुरु पित्रोदा का बयान निंदनीय

 

सैम पित्रोदा Sam Pitroda सैम पित्रोदा का असली नाम इंडियन ओवरसीज कांग्रेस Satyanarayan Gangaram Pitroda Indian Overseas Congress Sam Pitroda real name