मणिपुर सरकार ने लगाई कई पाबंदियां, प्रतिबंधों के बीच राहुल गांधी आज मणिपुर से भारत जोड़ो न्याय यात्रा की करेंगे शुरुआत

author-image
Pooja Kumari
एडिट
New Update
मणिपुर सरकार ने लगाई कई पाबंदियां, प्रतिबंधों के बीच राहुल गांधी आज मणिपुर से भारत जोड़ो न्याय यात्रा की करेंगे शुरुआत

BHOPAL. राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा आज यानी रविवार दोपहर 12 बजे से खोंगजोम युद्ध स्मारक से शुरू होने जा रही है और ये लगातार दो महीने तक चलने वाली है। बता दें कि ये यात्रा मणिपुर के थौबल जिले से शुरू होकर मुंबई तक जाएगी। हालांकि, पहले ये यात्रा राजधानी इंफाल से शुरू होने वाली थी। इस यात्रा के दौरान राहुल गांधी 60 से 70 यात्रियों के साथ पैदल और बस से 6000 किलोमीटर से अधिक का सफर तय करने वाले हैं।

2 जनवरी को किया था मांग

कांग्रेस के मणिपुर अध्यक्ष कीशम मेघचंद्र का कहना है कि "हमने 2 जनवरी को राज्य सरकार से को इस यात्रा का प्रस्ताव दिया था कि इंफाल में हप्ता कांगजीबुंग सार्वजनिक मैदान को भारत जोड़ो न्याय यात्रा को हरी झंडी दिखाने के लिए अनुमति दी जाए। साथ ही ये भी बताया था कि ये यात्रा इंफाल से शुरू होगी और मुंबई में समाप्त हो जाएगी। मेघचंद्र ने आगे बताया कि हमने 10 जनवरी को सीएम एन बीरेन सिंह से मुलाकात की थी। इस दौरान यात्रा के लिए हप्ता कांगजीबुंग मैदान में सीमित संख्या में प्रतिभागियों के साथ जाने की अनुमति मांगी थी, लेकिन उन्होंने इजाजत देने से इनकार कर दिया था।

मणिपुर सरकार ने लगाई पाबंदियां

मणिपुर सरकार ने 14 जनवरी को थौबल जिले से कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू किए जाने से जुड़े कार्यक्रम पर पाबंदियां कई लगाते हुए कहा कि ये कार्यक्रम एक घंटे से अधिक का नहीं होना चाहिए और इसमें भाग लेने वालों की अधिकतम संख्या 3,000 हो। इस आदेश को पार्टी ने यात्रा से एक दिन पहले साझा किया। बता दें कि इस यात्रा के मार्ग में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं हुआ है। केवल शुरुआती स्थान बदला है। जानकारी के मुताबिक ये यात्रा 15 राज्यों के 110 जिलों को कवर करेगी।

भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर कांग्रेस क्या कहती है?

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि ये यात्रा पिछले 10 साल में हुए राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक अन्याय को ध्यान में रखते हुए निकाली जा रही है। उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री 'अमृतकाल' के सुनहरे सपने दिखाते हैं, लेकिन पिछले 10 साल की हकीकत 'अन्याय काल' है। इस अन्याय काल का जिक्र कोई नहीं करता।

Q&A

Q: राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा क्यों शुरू की गई?

A: कांग्रेस का कहना है कि भारत जोड़ो न्याय यात्रा पिछले 10 साल में हुए राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक अन्याय को ध्यान में रखते हुए निकाली जा रही है। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी सरकार ने इन 10 सालों में गरीबों, किसानों, श्रमिकों और दलितों के साथ अन्याय किया है। सरकार की आर्थिक नीतियों ने बेरोजगारी, महंगाई और गरीबी को बढ़ाया है। सरकार की सामाजिक नीतियों ने जातिवाद, धार्मिक कट्टरता और सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा दिया है।

Q: राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा कहां से शुरू होगी और कहां तक जाएगी?

A: राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा मणिपुर के थौबल जिले से शुरू होगी और मुंबई तक जाएगी। यात्रा की कुल लंबाई 6000 किलोमीटर है। यात्रा के दौरान राहुल गांधी विभिन्न राज्यों का दौरा करेंगे और लोगों से मिलेंगे।

Q: मणिपुर सरकार ने राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर क्या पाबंदियां लगाईं?

A: मणिपुर सरकार ने यात्रा के कार्यक्रम पर पाबंदियां लगाते हुए कहा कि ये कार्यक्रम एक घंटे से अधिक का नहीं होना चाहिए और इसमें भाग लेने वालों की अधिकतम संख्या 3,000 की गई है।

Q: राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का कांग्रेस के लिए क्या महत्व है?

A: कांग्रेस का कहना है कि यह यात्रा कांग्रेस को एकजुट करने और जनता के बीच अपनी पहुंच बढ़ाने में मदद कर रही है। यह यात्रा कांग्रेस को आगामी चुनावों में भाजपा को चुनौती देने की तैयारी में भी मदद कर रही है।





Rahul Gandhi भारत जोड़ो न्याय यात्रा राहुल गांधी Bharat Jodo Nyaya Yatra Bharat Jodo Nyaya Yatra from today Nyaya Yatra भारत जोड़ो न्याय यात्रा आज से न्याय यात्रा