बिहार में गंगा में डुबकी लगाकर नौसनी बनी रुक्मणी, विधिविधान से प्रेमी संग लिए 7 फेरे, वैवाहिक जीवन के लिए सातों वचन

author-image
Rajeev Upadhyay
एडिट
New Update
बिहार में गंगा में डुबकी लगाकर नौसनी बनी रुक्मणी, विधिविधान से प्रेमी संग लिए 7 फेरे, वैवाहिक जीवन के लिए सातों वचन

Hajipur. बिहार के हाजीपुर में एक मुस्लिम लड़की ने बकायदा विधिविधान से हिंदू धर्म को अंगीकार किया और फिर वह जिससे प्रेम करती थी, उस हिंदू युवक के साथ शादी के 7 फेरे लिए हैं। पूरे बिहार में इस विवाह की चर्चा है, खास बात यह है कि इस युवती ने अपने प्रेमी के साथ गंगा नदी में डुबकी लगाई और फिर हिंदू धर्म स्वीकार कर वह नौसनी से रुक्मणि बनी थी। जिसके बाद उसने अपने प्रेमी रोशन के साथ विवाह किया। शहर के अनेक आचार्यों ने इस विवाह को वैदिक रीति से संपन्न कराया है। हाजीपुर के लालगंज शिव मंदिर में हुई इस शादी में हिंदू विवाह की तमाम रस्में निभाई गईं। 





पढ़ाई के दौरान हो गया था प्रेम





जानकारी के अनुसार लालगंज के सहथा का निवासी रौशन कुंवर अपनी पढ़ाई के लिए मुजफ्फरपुर गया था। इस दौरान वहां के गिंजास इलाके की रहने वाली नौसनी से उसकी मुलाकात हुई। मुलाकात दोस्ती में बदल गई और कब दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ गया पता ही नहीं चला। दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया, लेकिन अलग-अलग धर्मों के होने की वजह से इस शादी में काफी दिक्कतें भी आईं। 





रोशन के परिवार वालों ने भर दी हामी





रोशन और नौसनी एक साथ अपनी जिंदगी जीना चाहते थे, लेकिन दोनों के बीच मजहब की ऊंची-ऊंची दीवारें आ रही थीं। इसी बीच रौशन कुंवर ने अपने परिवार को नौसनी के साथ अपने रिश्ते की बात बताई। परिवार ने पहले तो नौसनी के मुसलमान होने की दुहाई दी लेकिन रोशन के प्यार को देखते हुए वे मान गए। लेकिन नौसनी का परिवार शादी के लिए राजी न था। 





नौसनी के परिवार वाले नहीं हुए शामिल





रौशन के साथ जिंदगी भर का साथ पाने अब गेंद नौसनी के पाले में थी। वह अपने परिवार को शादी के लिए राजी तो न कर सकी लेकिन उसने हिंदू धर्म अपनाने का फैसला ले लिया। फिर क्या था गंगा स्नान के बाद उसे विधिविधान के साथ हिंदू धर्म में प्रवेश दिलाया गया। जिसके बाद उसका नामकरण रुक्मणि के नाम से हुआ। बाद में शादी की सारी रस्में निभाई गईं और दो प्यार करने वाले दिल पूरे समाज के सामने एक हो गए। 





वैदिक विधिविधान से कराया विवाह





लालगंज के आचार्य कमलाकांत पांडे ने बताया कि नौसनी नाम की मुस्लिम युवती ने रौशन से शादी के लिए धर्म परिवर्तन किया है। नौसनी से रुक्मणि बनी युवती ने गंगा स्नान के बाद वैदिक विधिविधान से हिंदू धर्म अपनाया। जिसके बाद शिव मंदिर में दोनों का विवाह संपन्न कराया गया है। वर-वधू को सुखी वैवाहिक जीवन की प्रार्थना ईश्वर से की जाती है। 



married a Hindu youth Rukmani became Nausani Conversion for marriage Bihar News बिहार न्यूज़ हिन्दू युवक से किया विवाह नौसनी बनी रुक्मणी शादी के लिए धर्मान्तरण