मणिपुर में रविवार को फिर हिंसा भड़की, 5 की मौत; 26 दिनों में 40 एनकाउंटर, सीएम बीरेन सिंह ने मरने वालों को मिलिटेंट बताया 

author-image
BP Shrivastava
एडिट
New Update
मणिपुर में रविवार को फिर हिंसा भड़की, 5 की मौत; 26 दिनों में 40 एनकाउंटर, सीएम बीरेन सिंह ने मरने वालों को मिलिटेंट बताया 

IMPHAL. मणिपुर में कुकी और मैतेई समुदाय के बीच आरक्षण को लेकर 3 मई से हिंसा जारी है। इसी दौरान रविवार (28 मई) को एक बार फिर राजधानी इंफाल से सटे सेरौ और सुगनू इलाके में आगजनी और उपद्रव के बीच हिंसक झड़प हुई। इसमें एक पुलिसकर्मी समेत 5 लोगों की मौत हो गई और 12 लोग घायल हुए हैं। मणिपुर में अब तक हिंसा में करीब 80 लोगों की जानें जा चुकी हैं। जारी हिंसा में 26 दिनों में पुलिस ने 40 लोगों का एनकाउंटर भी किया है। इसकी पुष्टि खुद मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह ने की है। उन्होंने इन्हें मिलिटेंट बताया है।





सीएम बीरेन सिंह ने यह कहा





राज्य के सीएम एन बीरेन सिंह ने एनकाउंटर में मारे गए लोगों को 'मिलिटेंट' बताया है। उन्होंने कहा कि ये लोग आम नागरिकों के खिलाफ एम-16, एके-47 असॉल्ट राइफलों और स्नाइपर गन का इस्तेमाल कर रहे हैं।





ये भी पढ़ें...











मैतेई समुदाय को ST का दर्जा देने का विरोध





मणिपुर में कुकी जनजाति के लोग मैतेई समुदाय को अनुसूचित जाति का दर्जा देने के खिलाफ 3 मई से विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। चूराचांदपुर में 3 मई की रात प्रदर्शन के दौरान दोनों समुदाय के लोग एक-दूसरे से भिड़ गए। इसके बाद चूराचांदपुर में ही 4 मई को सीएम एन बीरेन सिंह का एक कार्यक्रम था। जिसकी तैयारियों को लेकर मंच और पंडाल लगाए गए थे, जिसे प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया था।





31 मई तक इंटरनेट बैन, 40 हजार लोगों का पलायन





हिंसा के बाद से राज्य में कानून-व्यवस्था बिगड़ती गई। केंद्र सरकार को राज्य में सेना और अर्धसैनिक बलों को तैनात करना पड़ा है। कई जिलों में कर्फ्यू लगा दिया गया, जो अब तक जारी है। 31 मई तक इंटरनेट भी बैन कर दिया गया है। बताते हैं राज्य से अब तक 40 हजार लोग पलायन कर चुके हैं।





अब अमित शाह का दौरा





केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 29 मई से 1 जून तक राज्य के दौरे पर जा रहे हैं। 3 मई को हिंसा शुरू होने के बाद अमित शाह पहली बार मणिपुर पहुंच रहे हैं। शाह राज्य में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए राज्य सरकार, सुरक्षाबलों और कुकी-मैतेई समुदाय के लोगों से बारी-बारी से मिलेंगे। वे यहां के अन्य सामाजिक संगठनों और बुद्धिजीवियों से भी मिलेंगे। इससे पहले केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय और आर्मी चीफ जनरल मनोज पांडेय राज्य का दौरा कर चुके हैं। आर्मी चीफ दो दिन 27-28 मई को मणिपुर में रहे।





आरएफ के तीन जवान गिरफ्तार





मणिपुर पुलिस ने शनिवार, 27 मई को राज्य में तैनात रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) के तीन जवानों को गिरफ्तार किया था। जवानों पर इंफाल के न्यू चेकॉन इलाके में एक मीट की दुकान में आग लगाने का प्रयास करने का आरोप है। गृह मंत्रालय ने बताया कि RAF के सोमदेव आर्य, कुलदीप सिंह और प्रदीप कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।





हाईकोर्ट के आदेश को SC में चुनौती 





हाल ही में मणिपुर हाईकोर्ट ने मैतेई समुदाय को अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई। सीजेआई डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस पी एस नरसिम्हा और जस्टिस जे बी पारदीवाला की बेंच केस की सुनवाई कर रही है। बेंच ने कहा कि वह हाईकोर्ट में पेंडिंग रिजर्वेशन के मुद्दे में नहीं जाएंगे। कानून व्यवस्था राज्य सरकार का विषय है। कोर्ट में मामले में राज्य सरकार से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। कोर्ट ने पूछा है कि हिंसा के बाद क्या सुरक्षा मुहैया कराई गई? क्या रिलीफ दिया गया और पुनर्वास के बारे में बताइए? जिस पर छुट्टियों के बाद सुनवाई होगी।





....



Manipur CM N Biren Singh 5 dead in Manipur violence arson in Imphal मणिपुर में हिंसा मणिपुर में 40 एनकाउंटर मणिपुर सीएम एन बीरेन सिंह मणिपुर हिंसा में 5 मरे इंफाल में आगजनी 40 encounters in Manipur Violence in Manipur