महाशिवरात्रि पर मंदिरों में बम भोले, उज्जैन में आधी रात से कतारें

उज्जैन में लगातार 44 घंटे तक भगवान महाकाल के दर्शन होंगे। महाकाल के पट गुरुवार रात 2.30 बजे खुले जो शनिवार रात 10.30 बजे तक खुले रहेंगे। दावा किया जा रहा है कि महाशिवरात्रि पर करीब 12 लाख श्रद्धालुओं के उज्जैन पहुंचने की संभावना है।

author-image
CHAKRESH
एडिट
New Update
SHIVRATRI LIVE

आज महाशिवरात्रि है। उज्जैन के महाकाल मंदिर, ओंकारेश्वर और रायसेन के भोजपुर मंदिर समेत प्रदेश सभी शिवालयों में लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। महाशिवरात्रि पर प्रदेशभर में जगह-जगह धार्मिक आयोजन भी होंगे।महाशिवरात्रि के मौके पर उज्जैन के महाकाल मंदिर पर विशेष साज-सज्जा की गई है। उज्जैन में लगातार 44 घंटे तक भगवान महाकाल के दर्शन होंगे। महाकाल के पट गुरुवार रात 2.30 बजे खुले जो शनिवार रात 10.30 बजे तक खुले रहेंगे। दावा किया जा रहा है कि महाशिवरात्रि पर करीब 12 लाख श्रद्धालुओं के यहां पहुंचने की संभावना है।

  • Mar 08, 2024 13:38 IST
    CM मोहन यादव ने की महाकाल की पूजा- अर्चना



  • Mar 08, 2024 10:37 IST
    उज्जैन के महाकालेश्वर में भस्म आरती का दृश्य



  • Mar 08, 2024 10:13 IST
    सुदर्शन पटनायक ने रेत में उकेरे शिवजी



  • Mar 08, 2024 08:43 IST
    रायसेन किले पर स्थित भगवान भोलेनाथ के मंदिर के खुले ताले 

    रायसेन के ऐतिहासिक किले पर स्थित प्राचीन सोमेश्वर धाम मंदिर के ताले आज महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर आज रायसेन के ऐतिहासिक किले पर स्थित भगवान सोमेश्वर धाम मंदिर के ताले पुरातत्व विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारियों की देखरेख में सुबह 6 बजे खोले गए। मंदिर के ताले खुलने के साथ पूजा अर्चना की शुरुआत हुई और बम बम भोले  के जयकारों से पूरा किला गूंज उठा, जो शाम 6 बजे तक चलेगा आपको बता दें कि पुरातत्व विभाग के अधीन होने के कारण भगवान भोलेनाथ 364 दिन इस किले के मंदिर में कैद रहते हैं तो वहीं महाशिवरात्रि के दिन महज 12 घंटे के लिए भगवान भोलेनाथ को कैद से आजादी मिलती है। पुरातत्व विभाग के अधीन आने के बाद जब इस रायसेन के ऐतिहासिक किले के मंदिर में ताले लगा दिए गए थे, तब सन 1972 में एक जन आंदोलन चला जिसमें किले के ताले खोलने के लिए युवाओं सहित आम जनता ने बड़ी संख्या में भाग लिया इसको देखते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रकाश चंद्र शेट्टी ने 1974 में रायसेन के ऐतिहासिक किले पर पहुंचकर महाशिवरात्रि के दिन भगवान भोलेनाथ को महज 12 घंटे के लिए आजादी और पूजा अर्चना की जो अनुमति प्रदान की थी, तब से लेकर आज तक महाशिवरात्रि के दिन भगवान भोलेनाथ को रायसेन के सोमेश्वर धाम मंदिर में आजादी मिलती है। इस ऐतिहासिक किले पर महाशिवरात्रि के दिन मेला लगता है जिसमें हजारों की संख्या में भक्त रायसेन के ऐतिहासिक किले पर पहुंचते हैं अगर व्यवस्थाओं की बात करते हैं तो जिला प्रशासन की किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए चाक चौबंद व्यवस्थाएं हैं।



  • Mar 08, 2024 07:48 IST
    वाराणसी के काशी विश्वनाथ पहुंचेंगे 10 लाख श्रद्धालु

    वाराणसी के विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए गुरुवार को ही 2 लाख श्रद्धालु पहुंच गए थे। बाबा का दरबार लगातार कुल 36 घंटे से ज्यादा समय तक खुला रहेगा। इस दौरान करीब 10 लाख भक्तों के मंदिर आने का अनुमान है। आज शिव विवाह पर काशी में बाबा विश्वनाथ की भव्य बारात निकाली जाएगी। भस्मी लपेटे शिव गण (भूत-पिशाच, ताल-बेताल, सपेरे) नरमुंड लिए काली, गदारी, साधु-संन्यासियों और जादूगरों की टोलियां नृत्य करेंगी। 



महाशिवरात्रि