लोकसभा चुनाव : बिना वोटिंग के ही सांसद बने मुकेश दलाल, क्या है वजह...

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। गुजरात में जिसे उम्मीदवार बनाया, उसे 3 प्रस्तावक तक नहीं मिले। आइए हम आपको बताते हैं कि विपक्षी दलों के उम्मीदवारों के कहां-कहां से फॉर्म निरस्त हुए। बीजेपी को अब तक कहां- कहां से मिल चुका है वॉक ओवर....

author-image
Marut raj
एडिट
New Update
Congress candidate form canceled from Surat Lok Sabha seat BJP candidate wins unopposed द सूत्र
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Congress candidate's form canceled from Surat Lok Sabha seat , BJP candidate wins unopposed

भोपाल. गुजरात की सूरत लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार को प्रस्तावक तक नहीं मिले। इसके चलते उनका पर्चा निरस्त हो गया। इसके बाद बीएसपी यानी बहुजन समाज पार्टी सहित 7 निर्दलीय उम्मीदवारों ने अपना पर्चा वापस ले लिया। इसके चलते बीजेपी  कैंडिडेट मुकेश दलाल निर्विरोध जीत गए हैं। कलेक्टर ने सोमवार को उन्हें जीत का प्रमाण पत्र सौंप दिया।

कलेक्टर ने कहा था, प्रस्तावकों को लेकर आएं

बीजेपी की तरफ से निर्वाचन अधिकारी को शिकायत दी गई थी कि नीलेश कुंभाणी और डमी उम्मीदवार के नामांकन में जिन प्रस्तावकों ने साइन किए हैं, वो सही नहीं हैं। इसी के बाद विवाद बढ़ा और निर्वाचन अधिकारी ने कांग्रेस के कैंडिडेट को अपना पक्ष रखने का मौका दिया था। 21 अप्रैल को 11 बजे तक कांग्रेस उम्मीदवार अपने प्रस्तावकों को कलेक्टर यानी निर्वाचन अधिकारी के सामने हाजिर नहीं कर सके। इसके बाद जिला कलेक्टर/निर्वाचन अधिकारी ने दोनों फॉर्म रद्द कर दिए। कांग्रेस ने इसके लिए बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होंने बीजेपी पर साम, दाम, दंड से नामांकन रद्द करवाने का आरोप लगाया। कांग्रेस की तरफ से इस फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दिए जाने की संभावना है।

इन जगाहों पर भी विपक्षी दलों के उम्मीदवारों के नामांकन फॉर्म हुए निरस्त

2024 के चुनावी रण में पहले दौर की वोटिंग संपन्न हो चुकी है। अब 26 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान है। इसे लेकर सभी पार्टियां प्रचार अभियान में जुटी हैं। वहीं इस चुनाव में कई सीटें ऐसी भी रहीं जहां उम्मीदवारों के पर्चे ठीक से भरे नहीं होने की वजह से खारिज कर दिए गए। इस फेहरिस्त में कांग्रेस, बीएसपी और समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार भी शामिल हैं। आइए, हम आपको बताते हैं कि अब तक INDIA गठबंधन व अन्य विपक्षी दलों के उम्मीदवारों का कहां-कहां फॉर्म निरस्त हो गया

बरेली में बीएसपी कैंडिडेट का पर्चा खारिज

पर्चा खारिज होने की लिस्ट में मायावती की पार्टी बीएसपी के दो कैंडिडेट भी शामिल हैं। यूपी के बरेली और आंवला लोकसभा सीट पर बीएसपी प्रत्याशियों का पर्चा रिजेक्ट हुआ है। बरेली लोकसभा सीट से बहुजन समाज पार्टी ने छोटेलाल गंगवार को टिकट दिया था। जिला निर्वाचन अधिकारी रविंद्र कुमार का कहना है कि बसपा प्रत्याशी छोटेलाल गंगवार ने दो नामांकन पत्र दाखिल किए थे - एक 16 और दूसरा 18 अप्रैल को। बसपा प्रत्याशी के नामांकन पत्र में कुछ कॉलम खाली थे। इस कारण उनके नामांकन पत्र खारिज कर दिए गए हैं। अब बसपा बरेली के चुनावी मैदान से बाहर हो गई है।

आंवला में BSP से टिकट का दावा करने वाले का नामांकन रद्द

वहीं आंवला सीट से चुनाव लड़ने वाले सत्यवीर सिंह का भी पर्चा खरिज हुआ है। सत्यवीर अपने आपको बीएसपी का उम्मीदवार बता रहे थे, लेकिन पार्टी सुप्रीमो मायावती ने सिंबल आबिद अली को दे दिया। आरोप है कि सत्यवीर फर्जी लेटर लगाकर अपनी दावेदारी जता रहे थे। मायावती के फैसले से सत्यवीर सिंह को करारा झटका लगा। रिटर्निंग ऑफिसर ने बीएसपी मुखिया से बात करने के बाद सत्यवीर सिंह का पर्चा खारिज कर दिया। आंवला और बरेली सीट पर दूसरे फेज में वोटिंग है।

खजुराहो में सपा कैंडिडेट का नामांकन रद्द

इससे पहले समाजवादी पार्टी के भी एक उम्मीदवार का नामांकन खारिज हुआ है। ये मामला मध्य प्रदेश की खजुराहो लोकसभा सीट का है। समाजवादी पार्टी मीरा यादव को खजुराहो सीट से टिकट दिया था। हालांकि, उनके नामांकन को रिजेक्ट कर दिया गया। सपा उम्मीदवार का नामांकन खारिज होने पर पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सवाल उठाए थे। अखिलेश यादव ने कहा कि घटना की न्यायिक जांच होनी चाहिए। किसी उम्मीदवार का पर्चा निरस्त करना लोकतांत्रिक अपराध है। सपा ने बीजेपी उम्मीदवार वीडी शर्मा के खिलाफ मीरा यादव को मैदान में उतारा था। खजुराहो में भी दूसरे फेज में वोटिंग है।

शिवमोग्गा में AAP कैंडिडेट का पर्चा खारिज

कर्नाटक के शिवमोग्गा लोकसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार का नामांकन खारिज हुआ। आप कैंडिडेट सुभान खान का पर्चा खारिज कर दिया गया। बताया जा रहा कि सुभान खान ने पार्टी का बी-फॉर्म जमा नहीं किया था। हालांकि, उन्हें एक इंडीपेंडेट उम्मीदवार के रूप में मानने का कोई मौका नहीं था क्योंकि उन्होंने केवल दो प्रस्तावकों का जिक्र किया था।

सूरत लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार का फॉर्म निरस्त , बीजेपी लोकसभा उम्मीदवार निर्विरोध जीते

BJP बीजेपी लोकसभा उम्मीदवार निर्विरोध जीते सूरत लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार का फॉर्म निरस्त BJP candidate wins unopposed Congress candidate's form canceled from Surat Lok Sabha seat