EX MINISTER इमरती देवी का फिर आया DISPUTED STATEMENT
होम / मध्‍यप्रदेश / सिंधिया समर्थक इमरती ने गृहमंत्री पर निश...

सिंधिया समर्थक इमरती ने गृहमंत्री पर निशाना साधा और समर्थकों से बोलीं , प्रशासन से डरने की जरूरत नहीं , जानें क्या है पूरा मामला

Dev Shrimali
Oct 26, 2022 06:26 PM

GWALIOR.जब से कांग्रेस की सरकार गिराकर एमपी में शिवराज सिंह के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनीं है तब से सिंधिया की समर्थक ,पूर्व मंत्री और लघु उद्योग विकास निगम की अध्यक्ष इमरती देवी अपने विवादित बयानों के जरिए वे लगातार सरकार को मुश्किल में डालती रहती है।  अब एक बार फिर उन्होंने ऐसा ही किया। दलितों की एक पंचायत में पहुँची इमरती ने मंच से कहा कि उन्हें प्रशासन से डरने की कोई जरूरत नहीं है। सरकारी जगह पर अम्बेडकर की जो मूर्ति लगी है अब वह नहीं हटेगी चाहे उन्हें स्वंय धरने पर बैठना पड़े। इस दौरान उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि तीन महीने पहले उन्हें मारने का प्रयास किया गया लेकिन माईएन नहीं डरी।  उन्होंने यह भी कहा कि जो नवग्रह मंदिर बनवा रहे है लेकिन आंबेडकर की मूर्ती का विरोध कर व रहे है। स्मरण रहे डबरा में गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा नवग्रह मंदिर का निर्माण करवा रहे हैं। अब उनका यह भाषण सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। 

गोहिंदा में थी पंचायत 

डबरा के गोहिंदा क्षेत्र में अम्बेडकर की प्रतिमा को लगवाने को लेकर एक पंचायत बुलाई गयी थी। इमरती देवी इसी में शिरकत करने पहुंचीं थी। यहाँ भीम आर्मी और उनके समर्थकों में पहले विवाद भी हुआ। इसके बाद इमरती ने भाषण दिया।  इस भाषण में उन्होंने कहा कि गोहिंदा गांव में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा स्थापित होने के बाद किसी भी कीमत पर प्रतिमा नहीं हटाने नहीं दी जायेगीं . उन्होंने गांव के समाज बंधुओं को समर्थन देते हुए कहा कि अब प्रतिमा यहीं रहेगी भले ही  इसके लिए उन्हें खुद धरने पर बैठना पड़े। वे प्रतिमा नहीं हटने देंगी। 


सीएम की तारीफ़ , गृहमंत्री पर निशाना 

इस दौरान जहां उन्होंने प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह की जमकर तारीफ की तो वहीं  प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा पर इशारों इशारों में निशाना साधा। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह की मंशा को बताते हुए कहा कि शिवराज सिंह  की मंशा है कि वे जाटव और आदिवासियों को साथ लेकर चलें तो वहीं पर प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा पर अप्रत्यक्ष रूप से कटाक्ष करते हुए कहा कि कुछ जैसे नेता भी बन गए है जो डबरा के शुगर मिल फैक्ट्री की जमीन तक खा गए। गौरतलब है कि इमारती देवी जिस शुगर मिल की भूमि अपने संबोधन में बात कर रही वो वही भूमि है जिस पर अभी वर्तमान में मिश्रा परिवार नवग्रह मंदिर का निर्माण करवा रहा है।

क्या है गोहिंदा का मामला 

आपको बता दे कि भितरवार अनुविभाग के ग्राम  गोहिंदा में निजी भूमि पर डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा स्थापित करने के बाद विवाद बढ़ता जा रहा है। स्थिति को देख कर लग रहा है कि गोहिंदा में कभी भी वर्गसंघर्ष जैसी स्थिति निर्मित हो सकती है। प्रशासनिक अधिकारी भूमि की नाप और गलत कार्रवाई की बात तो कर रहे हैं, लेकिन अभी तक ऐसा कुछ नहीं हुआ है। भूमि मालिक ने साफ तौर पर कहा कि हमारी भूमि से यदि प्रतिमा नहीं हटाई गई, तो कभी भी कोई अप्रिय स्थिति निर्मित हो सकती है। जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। अनुविभाग के ग्राम गोहिंदा में  मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात को जाटव समुदाय ने भूमि स्वामी भगत सिंह रावत की निजी भूमि पर बाबा साहेब डॉक्टर अंबेडकर की प्रतिमा रातों-रात स्थापित कर दी थी, इमरती देवी आज भितरवार के गोविंदा में समाज के उन्हीं लोगों के समर्थन में पहुंची थी जहां उन्होंने प्रतिमा नहीं हटने देने की बात करते हुए धरने तक की चेतावनी दी।

वीडियो देखें - 

द-सूत्र ऐप डाउनलोड करें :
Like & Follow Our Social Media