Advertisment

मंडला के नारायणगंज में फुल्की खाने से 30 बच्चों को फूड प्वाइजनिंग, जिला अस्पताल में इलाज जारी, फुल्की वालों की भी हुई जांच

author-image
Rajeev Upadhyay
New Update
मंडला के नारायणगंज में फुल्की खाने से 30 बच्चों को फूड प्वाइजनिंग, जिला अस्पताल में इलाज जारी, फुल्की वालों की भी हुई जांच

Mandla. मंडला के नारायणगंज ब्लॉक के समीप सिरोही डूंगरी रोड और उसके आसपास के गांवों के 30 से अधिक बच्चे शनिवार को फुल्की खाने के बाद फूड प्वाइजनिंग के शिकार हो गए। उन्हें उल्टी-दस्त की शिकायत होने के बाद स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और फिर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सभी की हालत में सुधार भी देखा जा रहा है। 

Advertisment





दरअसल, बच्चों ने गांव में बाहर घूम-घूमकर फुल्की बेचने वाले से फुल्की खाई थी, इसके बाद वे उल्टी-दस्त से पीड़ित हो गए। स्वास्थ्य विभाग को जानकारी मिलने के बाद कुछ बच्चों को नारायणगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। कुछ बच्चों को सीधे मंडला जिला अस्प्ताल में भर्ती कराया गया था। 





फुल्की वालों की भी हुई जांच





इधर गांव में घूम-घूमकर फुल्की बेचने वालों की भी प्रशासन ने जांच पड़ताल की है। जांच में पाया गया कि रिलायंस पेट्रोल पंप के पीछे हीरालाल की जमीन पर 6-7 परिवार रहते हैं। यूपी के जालौन के निवासी ये लोग घूम-घूमकर फुल्की और आइसक्रीम बेचने का काम करते हैं। इस दौरान यूनुस मंसूरी नामक युवक को पकड़ा गया जिसने बच्चों को फुल्की खिलाई थी। बच्चों ने भी यूनुस को पहचान लिया है। इसी तरह चिरईडोंगरी में यूसुफ नामक युवक से भी पूछताछ की जा रही है। सभी की खटाई में ज्यादा मात्रा में साइट्रिक एसिड होने की संभावना है। जिनका सैंपल प्रशासन ने लिया है। वहीं कोतवाली थाने में मामले की एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। 



Mandla News मंडला न्यूज़ 30 children get sick after eating phulki in Mandla 30 children get food poisoning after eating phulki in Narayanganj phulki people also got investigated मंडला में फुल्की खाने से 30 बच्चे बीमार नारायणगंज में फुल्की खाने से 30 बच्चों को फूड प्वाइजनिंग फुल्की वालों की भी हुई जांच
Advertisment
Advertisment