Damohकी पथरिया नगर परिषद के नवनिर्वाचित अध्यक्ष arrest, court में किया पेश, आपराधिक मामले में 10 माह से थे फरार
होम / मध्‍यप्रदेश / दमोह की पथरिया नगर परिषद के नवनिर्वाचित ...

दमोह की पथरिया नगर परिषद के नवनिर्वाचित अध्यक्ष गिरफ्तार, न्यायालय में किया पेश, आपराधिक मामले में 10 माह से थे फरार

Rajeev Upadhyay
Oct 26, 2022 06:14 PM

Damoh. दमोह जिले की नगर परिषद पथरिया के नव निर्वाचित अध्यक्ष सुंदर लाल विश्वकर्मा को 10 माह पुराने एक आपराधिक मामले में पथरिया पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया है। ये वही सुंदरलाल विश्वकर्मा हैं जिन्होंने पूरे प्रदेश में एक इतिहास बनाया था। दरअसल इन्होंने बीएसपी से पार्षद का चुनाव लड़ा था और जीतने के बाद कांग्रेस में शामिल होकर पथरिया नगर परिषद अध्यक्ष का चुनाव लड़ा और यहां भी जीतने के बाद कुछ ही घंटों के अंदर भाजपा की सदस्यता ले ली थी, जिससे महज कुछ ही घंटे के अंदर कांग्रेस के हाथ से अध्यक्ष की कुर्सी चली गई थी।

गिरफ्तारी के बाद न्यायालय में किया पेश


पुलिस से  प्राप्त जानकारी के अनुसार  पथरिया नगर परिषद के अध्यक्ष सुंदर लाल विश्वकर्मा पर 10 माह पुराने एक धारा 326 के मामले में छह आरोपियों के साथ उनका भी नाम शामिल था, जिसमें से अभी तक 5 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं, लेकिन सुंदर लाल विश्वकर्मा लगातार ही इस मामले में फरार चल रहे थे। इसी बीच नगर पालिका परिषद के चुनाव में भी खुलेआम अपना चुनाव प्रचार करते रहे और बहुजन समाज पार्टी के चुनाव चिन्ह पर उन्होंने पार्षद का चुनाव भी जीता, लेकिन नगर परिषद अध्यक्ष बनने के उपरांत वह भाजपा में शामिल हो गए और भाजपा समर्थित अध्यक्ष के रूप में वर्तमान में कार्य कर रहे हैं।  पूरे निकाय चुनाव एवं नगर परिषद के अध्यक्ष के चुनाव के बाद तक पुलिस द्वारा उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया जबकि वह खुलेआम सार्वजनिक कार्यक्रमों में भी शामिल हुए।  यहां तक कि स्वतंत्रता दिवस के समारोह में भी वह शामिल हुए,  लेकिन आज अचानक पथरिया पुलिस द्वारा उन्हें गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। 

इन धाराओं में मामला दर्ज

नगर परिषद अध्यक्ष सुंदर लाल विश्वकर्मा पर 294, 323, 325, 326 का मामला दर्ज किया गया था इसमें 5 अन्य आरोपी भी थे जिनकी जमानत हो चुकी है। नगर परिषद अध्यक्ष बनने के बाद सुंदर लाल विश्वकर्मा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नगरीय शासन मंत्री भूपेंद्र सिंह, परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा तथा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा से भी मुलाकात कर चुके हैं, लेकिन पुलिस द्वारा उन्हें गिरफ्तार नहीं किया। पथरिया थाना प्रभारी रजनी शुक्ला ने  बताया कि सुंदर लाल विश्वकर्मा करीब 10 माह पुराने एक मामले में फरार चल रहे थे।  6 आरोपियों  पर धारा 294, 323, 325, 326  का मामला बना था।  उक्त मामले में सुंदर लाल विश्वकर्मा को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दिया गया है। इसके पहले  पांच आरोपियों को जमानत मिल चुकी है।

द-सूत्र ऐप डाउनलोड करें :
Like & Follow Our Social Media