Madhya Pradesh Assembly Elections 2023 में जीत के लिए BJP की strategy Madhya Pradesh News
होम / मध्‍यप्रदेश / मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में जीत क...

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में जीत के लिए बीजेपी की रणनीति, 200 पार और हर बूथ पर 51 फीसदी वोट का टारगेट

Arun
25,जनवरी 2023, (अपडेटेड 25,जनवरी 2023 08:05 AM IST)

BHOPAL. साल 2023... ये साल मध्यप्रदेश के राजनीतिक दलों के लिए बेहद अहम है क्योंकि ये चुनावी साल है और इस साल के आखिर में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी और कांग्रेस समेत सभी पार्टियों ने वोट बैंक जुटाने के लिए जोड़तोड़ शुरू कर दी है। इसी जोड़तोड़ के सिलसिले में राजधानी भोपाल में बीजेपी की प्रदेश कार्य समिति की अहम बैठक हुई और इस बैठक में नेताओं को विधानसभा चुनाव में जीत का नुस्खा तैयार करने की रेसि​पी बताई गई।

हर बूथ पर 51 फीसदी वोट का टारगेट

बीजेपी की बैठक में मंत्रियों और विधायकों को बताया गया कि मिशन 2023 में पार्टी का सारा फोकस 19 हजार बूथों पर रहेगा। इसके अलावा हर बूथ पर 51 फीसदी वोट शेयर हासिल करने का टारगेट भी दिया गया।

19 हजार बूथ, 50 सीटों पर नजर

बीजेपी ने 19 हजार हारे हुए बूथों पर जीत का टारगेट दिया है। प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर वीडी शर्मा ने नेताओं को दिल्ली के स्पष्ट निर्देशों को समझा दिया। प्रदेश में बीजेपी की जीत में 19 हजार बूथ और 50 सीटें ही अहम भूमिका निभाने वाली हैं। इन 19 हजार बूथ में 14 हजार बूथ पार्टी लंबे समय से हार रही है। वहीं 5 हजार बूथ 2018 में पार्टी हारी थी। नेताओं से ये साफ तौर पर कह दिया गया कि ये बूथ जीतेंगे तभी चुनाव जीतेंगे।

10 फीसदी की खाई पाटने की चुनौती


2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 41 फीसदी और कांग्रेस को 40.9 फीसदी वोट मिले थे और बीजेपी को कांग्रेस से 0.1 फीसदी वोट ज्यादा मिलने के बावजूद वो सरकार नहीं बना पाई थी। यही कारण है कि बैठक में 51 फीसदी वोट शेयर हासिल करने का टारगेट दिया गया है और इस विधानसभा चुनाव में वोटिंग परसेंट की 10 फीसदी की खाई पाटने की बड़ी चुनौती भी बीजेपी के सामने है।

वीडियो देखने के लिए क्लिक करें.. हर बूथ पर 51% वोट, नहीं तो लगेगी चोट

2018 विधानसभा चुनाव का हाल

  • बीजेपी को मिले 41 फीसदी वोट
  • कांग्रेस को मिले 40.9 फीसदी वोट 
  • बीजेपी को कांग्रेस से 0.1 फीसदी वोट ज्यादा मिले 
  • फिर भी बीजेपी नहीं बना पाई सरकार
  • बैठक में दिया 51 फीसदी वोट शेयर का टारगेट

ST-SC और मुस्लिमों पर फोकस

इसके साथ ही पार्टी ने तय किया है कि हर बूथ पर 51 फीसदी वोट लाना आवश्यक है। इसके लिए उस बूथ पर पन्ना प्रमुख से लेकर मंत्री तक की जवाबदेही तय की गई है। 51 फीसदी वोट बढ़ाने के लिए एससी-एसटी और मुस्लिमों को बीजेपी के पाले में लाने को कहा गया। हारे हुए 19 हजार बूथों में इन वर्गों की संख्या ज्यादा है।

अबकी बार 200 पार

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने बैठक में बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष यही चाहते हैं कि पार्टी साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में बड़ा लक्ष्य हासिल करे ताकि 2024 के लोकसभा चुनाव में भी जीत का रास्ता तय हो सके। इन हारे हुए 19 हजार बूथों पर जीत हासिल कर ली तो 200 पार का टारगेट हासिल हो जाएगा।

'जी-20 को भुनाओ'

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जी-20, प्रवासी भारतीय सम्मेलन और ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की कामयाबी को प्रदेशभर में भुनाना चाहिए। निवेश से रोजगार बढ़ेगा जिससे युवा आकर्षित होंगे। दिल्ली ने विधानसभा चुनाव में जीत का जो रोडमैप दिया है उस पर हर कार्यकर्ता को अमल करना है।

चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी रहेंगे चेहरा

कार्य समिति की बैठक में इशारों-इशारों में ये भी तय कर दिया गया कि चुनाव का चेहरा नरेंद्र मोदी रहेंगे। इसके साथ ही उनकी गरीब कल्याण की योजनाओं के जरिए ही वंचित वर्ग को लुभाया जा सकता है। मुस्लिम वर्ग के बीच में मुस्लिम हितैषी छवि बनाने पर भी जोर दिया गया।

द-सूत्र ऐप डाउनलोड करें :
Like & Follow Our Social Media