SATNA: 5 बजे लेना था 7 फेरे , बेटी ने पहले निभाया नागरिक होने का फर्ज बोली- मायके का यह अंतिम वोट, आगे भीलवाड़ा की हो जाउंगी वोटर

Sachin Tripathi
Jul 6, 2022 09:42 PM
सात फेरों से पहले पोलिंग बूथ पहुंचा जोड़ा। 
सात फेरों से पहले पोलिंग बूथ पहुंचा जोड़ा। 

SATNA. किसी भी जोड़े के लिए विवाह की रस्में अधिक महत्वपूर्ण होती है लेकिन लोकतंत्र के उत्सव का उत्साह में एक जोड़े ने फेरों से पहले मतदान करने का फैसला किया। खासकर दुल्हन में उत्सव का उत्साह ज्यादा देखने को मिला। वजह यह रही कि यह चुनाव मायके का अंतिम था। 

जानकारी के मुताबिक नगर निकाय के प्रथम चरण में सतना जिले के 1 नगर निगम और 5 नगर परिषद में मतदान किया गया। इस दिन ही रैन्सी जैन की शादी भी थी। शाम 5 बजे मुहूर्त था लेकिन रैन्सी ने फैसला किया कि पहले मतदान कर लें इसके बाद वैवाहिक रस्में पूरी की जाएंगी। रैन्सी के इस फैसले पर होने वाले पति ने भी सहमति दे दी। सो रैन्सी हाथों में मेहंदी लगाए दुल्हन के ड्रेस में पोलिंग स्टेशन पहुंच गई और अपना मतदान  किया। मतदान करने के बाद रैन्सी ने मीडिया से कहा कि सतना में वोट डालने का यह अंतिम चुनाव है। इसके बाद राजस्थान के भीलवाड़ा की वोटर बन जाउंगी। आज विदाई भी है मेरी, ऐसे में नागरिक होने का फर्ज बड़ा था इसलिए पहले यह निभाया। 


पिता रह चुके हैं पार्षद 

रैंसी के पिता पूर्व में सतना नगर निगम के पार्षद भी रहे हैं। बताया गया है कि पुष्पराज कॉलोनी निवासी 29 साल की रैंसी जैन के पिता जवाहर जैन नगर निगम सतना के पार्षद भी रहे हैं। रैंसी ने पोलिंग बूथ क्रमांक 1 में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। रैंसी का विवाह राजस्थान के भीलवाड़ा निवासी बसंती लाल जैन और कैलाश देवी के बेटे निखिल जैन से हुई है। 

डिजिटल इनविटेशन में अपील 

रैन्सी ने अपने विवाह का  डिजिटल इनविटेशन कार्ड बनाया था उसमें मेंहदी, पाणिग्रहण और विदाई की रस्मों और तारीखों के अलावा मतदान करने की अपील का भी उल्लेख कर रखा था। गौरतलब है कि बुधवार को सतना जिला में नगर निगम और 5 नगर परिषद में पहले चरण का मतदान हुआ।

द-सूत्र ऐप डाउनलोड करें :
Like & Follow Our Social Media