इंग्लैंड को रौंदकर भारत ने जीता अंडर-19 महिला टी20 वर्ल्ड कप, MP की बेटी सौम्या ने विनिंग पारी खेली, इंग्लैंड को 7 विकेट से हराया

author-image
The Sootr
एडिट
New Update
इंग्लैंड को रौंदकर भारत ने जीता अंडर-19 महिला टी20 वर्ल्ड कप,  MP की बेटी सौम्या ने विनिंग पारी खेली, इंग्लैंड को 7 विकेट से हराया

स्पोटर्स डेस्क. शेफाली वर्मा के नेतृत्व वाली भारतीय टीम ने आईसीसी अंडर-19 महिला टी20 वर्ल्ड कप जीत लिया है। भारत ने 29 जनवरी, रविवार को फाइनल में इंग्लैंड को 7 विकेट से रौंदकर बड़ा इतिहास रच दिया। मैच में MP की बेटी सौम्या तिवारी ने विनिंग पारी खेली। उन्होंने 37 गेंदों पर नाबाद 24 रन बनाए। जीत के बाद भोपाल में घर पर मैच देख रहे उनके माता-पिता और बहन साक्षी की आंखों में आंसू आ गए। भारतीय टीम की कसी हुई गेंदबाजी की वजह से इंग्लैंड की पारी 17.1 ओवर में 68 रन पर सिमट गई थी। इंग्लैंड की छह बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा तक नहीं छू सकी थी। 







— Shivraj Singh Chouhan (@ChouhanShivraj) January 29, 2023





भारत की ऐसी रही बेटिंग







  • शेफाली 11 गेंदों में 15 रन बनाकर हन्ना बेकर का शिकार बन गईं। उन्होंने तीसरे ओवर में एलेक्सा स्टोनहॉउस को कैच थमाया। 



  • ओपनर श्वेता सहरावत ने 6 गेंदों में 5 रन का योगदान दिया। उन्हें ग्रेस स्क्रिवेंस ने चौथे ओवर में पवेलियन भेजा। 


  • 20 के स्कोर के बाद सौम्या तिवारी और गोंगाडी तृषा ने मोर्चा संभाला। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 44 रन की अहम साझेदारी की। 


  • तृषा 13वें ओवर में बोल्ड हुईं। उन्हें स्टोनहॉउस ने अपने जाल में फंसाया। उन्होंने 29 गेंदों में 3 चौकों की मदद से 24 रन की पारी खेली। 


  • सौम्या ने 37 गेंदों में 3 चौकों के जरिए नाबाद 24 रन बनाए। उन्होंने विजयी रन बनाया। वहीं, हर्षिता बसु बिना कोई रन बनाए नाबाद लौटीं।






  • ऐसे गिरे इंग्लैंड के विकेट







    • पहले ओवर की चौथी बॉल पर साधू ने लीबर्टी हीप को कॉट एंड बोल्ड कर दिया। हीप शून्य पर आउट हुईं।



  • चौथे ओवर की तीसरी बॉल पर अर्चना देवी ने निआम हॉलैंड को बोल्ड कर दिया। हॉलैंड ने 8 बॉल पर 10 रन बनाए।


  • चौथे ओवर की आखिरी बॉल पर अर्चना देवी ने इंग्लैंड की कप्तान ग्रेस स्रीवंस को कैच आउट कराया। ओपनर स्रीवंस 4 रन ही बना सकीं।


  • 7वें ओवर की दूसरी बॉल पर टिटास साधू ने सेरेन स्मैल को बोल्ड कर दिया। स्मैल 9 बॉल पर 3 रन ही बना सकीं।


  • 10वें ओवर की आखिरी बॉल पर पार्शवी चोपड़ा ने केरिस पावले को LBW कर दिया। पावले ने 2 रन बनाए।


  • 12वें ओवर में पार्शवी चोपड़ा की बॉल पर रायना मैकडोनाल्ड-गे आउट हुईं। अर्चना देवी ने शानदार कैच पकड़ कर उन्हें 19 रन पर पवेलियन भेजा।


  • जोसी ग्रोव्स 4 रन बनाकर रन आउट हुईं। वह 14वें ओवर की पांचवीं बॉल पर पवेलियन लौटीं।


  • 15वें ओवर की पहली बॉल शेफाली वर्मा ने हनाह बेकर स्टंपिंग कराया। हनाह गोल्डन डक का शिकार हुईं।


  • 17वें ओवर की चौथी बॉल पर मन्नत कश्यप ने एलेक्सा स्टोनहाउस को पवेलियन भेजा। एलेक्सा ने 11 रन बनाए।


  • 18वें ओवर की पहली बॉल पर सोफिया स्मैल 11 रन बनाकर आउट हुईं। उन्हें सोनम यादव ने अपनी ही बॉल पर कैच आउट कराया।






  • तितास साधु, अर्चना देवी और पार्श्वी चोपड़ा ने दो-दो विकेट लिए





    भारत के लिए तितास साधु, अर्चना देवी और पार्श्वी चोपड़ा ने दो-दो विकेट लिए। जबकि मन्नत कश्यप, शेफाली वर्मा और सोनम यादव ने एक-एक शिकार किया। इंग्लैंड की एक खिलाड़ी रनआउट होकर पवेलियन लौटीं। 





    दक्षिण अफ्रीका में हुआ टूर्नामेंट





    बता दें कि यह अंडर-19 महिला टी20 वर्ल्ड कप का पहला संस्करण था, जिसका चैंपियन भारत बना। टूर्नामेंट का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में हुआ। खिताबी मुकाबला पोत्शेफस्ट्रूम के मैदान पर खेला गया। भारत को महज 69 रन का लक्ष्य मिला था, जिसे टीम ने 14 ओवर में 3 विकेट खोकर आसानी से हासिल कर लिया।





    BCCI ने किया इनाम का एलान





    बीसीसीआई ने वर्ल्ड कप जीतने के बाद पांच करोड़ रुपये देने की घोषणा की है, जय शाह ने इसकी जानकारी दी।







    — Jay Shah (@JayShah) January 29, 2023





    मैच के एक घंटे पहले से सौम्या की मां पूजा पर बैठ गई थीं





    publive-image





    क्रिकेटर सौम्या की मां भारती ने कहा कि बेटी ने फक्र से सिर ऊंचा कर दिया। हमें उस पर नाज है। बता दें कि मैच शुरू होने के एक घंटे पहले से सौम्या की मां पूजा पर बैठ गई थीं। वे बेटी की जीत के लिए प्रार्थना करती रहीं। उनका कहना था कि जब तक बेटी नहीं जीतेगी, वह पूजा से नहीं उठेंगी।





    लड़कों की तरह हेयर स्टाइल की वजह से कोच ने कर दिया था मना





    publive-image





    सौम्या टीम इंडिया की ऑलराउंडर हैं। उनका क्रिकेट खेलने और नेशनल टीम में सिलेक्शन का किस्सा भी खास है। सौम्या कभी लड़कों की तरह हेयर स्टाइल रखने की वजह से क्रिकेट नहीं खेल पाई थीं, लेकिन उनके जिद-जज्बे की बदौलत वह आगे बढ़ीं और ऑलराउंडर प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया में सिलेक्ट हो गई। जानते हैं सौम्या के जिद-जज्बे की कहानी...। सौम्या भोपाल के रचना नगर के रहने वाले सरकारी कर्मचारी मनीष तिवारी की छोटी बेटी हैं। 10 साल की उम्र में सौम्या को क्रिकेट खेलने का शौक चढ़ा। फिर क्या था, घर में रखी कपड़े धोने की मोगरी और प्लास्टिक के बैट से क्रिकेट खेलना शुरू किया। बेटी के क्रिकेट के प्रति लगन को देखकर पिता मनीष और मां भारती ने अरेरा क्रिकेट अकादमी में भर्ती करा दिया। बड़ी बहन साक्षी ने भी उसका साथ दिया। सौम्या को क्रिकेट ग्राउंड-घर लाने-ले जाने के साथ मोटिवेट करने का काम वही करती थीं। कभी-कभार बैट्समैन का रोल भी अदा किया।



    Under-19 World Cup India won the Women Under-19 World Cup beat England by 7 wickets Soumya hit winning shot अंडर-19 वर्ल्ड कप भारत ने जीता विमेंस अंडर-19 वर्ल्ड कप इंग्लैंड को 7 विकेट से हराया सौम्या तिवारी ने लगाया विनिंग शॉट