SDM कोर्ट के क्लर्क को ACB ने रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा, जानिए किस काम के लिए मांगे थे पैसे

शिकायतकर्ता को अपनी जमीन के रिकॉर्ड में संशोधन कराना था। इसके लिए एसडीएम कोर्ट ने आदेश भी जारी कर दिया था, लेकिन आरोपी क्लर्क कोर्ट के आदेश की कॉपी संबंधित शाखा में फॉरवर्ड नहीं कर रहा था।

Advertisment
author-image
Marut raj
एडिट
New Update
Chhattisgarh ACB team SDM office clerk bribe Narayanpur News द सूत्र
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

रायपुर. एसडीएम ऑफिस के क्लर्क को एंटी करप्शन ब्यूरो यानी ACB की टीम ने रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। एसीबी की ओर से कार्रवाई नारायणपुर में की गई। आरोपी क्लर्क राजस्व रिकॉर्ड में सुधार करवाने के बदले में 8 हजार की रिश्वत ले रहा था।

एसडीएम कोर्ट के आदेश की कॉपी फॉरवर्ड नहीं कर रहा था क्लर्क

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नारायणपुर के चांदनी चौक इलाके में रहने वाले लवदेव देवांगन ने एंटी करप्शन ब्यूरो के जगदलपुर ऑफिस में एक शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें उन्होंने बताया था कि उन्होंने जमीन खरीदी थी। इस जमीन का राजस्व के रिकॉर्ड में सुधार करवाना है। इसके लिए उन्होंने एसडीएम कोर्ट में आवेदन दिया था। सुनवाई के बाद एसडीएम की ओर से उनके पक्ष में आदेश दो महीने पहले पारित कर दिया गया था।

इसके बाद भी एसडीएम ऑफिस में पदस्थ सहायक ग्रेड-2 संकेर कुमेटी की ओर से आदेश को कॉपी शाखा में अगली  कार्रवाई के लिए नहीं भेजी जा रही है। क्लर्क की ओर से 8 हजार रुपए की रिश्वत मांगी जा रही थी। 

शिकायत सही पाए जाने पर 11 जुलाई को आरोपी संकेर कुमेटी को एसडीएम ऑफिस में आठ हजार रुपए की रिश्वत ीेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया गया। आरोपी को गिरफ्तार कर उसके विरुद्ध धारा 7 पीसीएक्ट 1988 के प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जा रही है।

Chhattisgarh ACB Chief Chhattisgarh ACB action