Advertisment

हरदा पटाखा फैक्ट्री ब्लास्ट केस में एक और आरोपी देवास से गिरफ्तार

हरदा में पटाखा फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट मामले में एक और आरोपी की गिरफ्तारी हुई है। देवास के खातेगांव से गिरफ्तार हुआ अभिषेक पटाखा फैक्ट्री में पार्टनर था।

author-image
Rahul Garhwal
New Update
Abhishek Aggarwal arrested
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

HARDA. हरदा पटाखा फैक्ट्री ब्लास्ट केस में एक और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। 6वें आरोपी अभिषेक अग्रवाल (Abhishek Aggarwal) को देवास के खातेगांव से अरेस्ट किया गया। अभिषेक पटाखा फैक्ट्री में पार्टनर था। पुलिस ने शनिवार को 2 और आरोपियों को पकड़ा था। आशीष और अमन की गिरफ्तारी हुई थी। दोनों पटाखा फैक्ट्री के मैनेजर थे।

Advertisment

जगह-जगह फेंके जा रहे सुतली बम

पलासनेर गांव में रेलवे ट्रैक के पास नहर में सुतली बम की 6-7 बोरी मिली थीं। ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी थी। दरअसल, पटाखा फैक्ट्री ब्लास्ट के बाद प्रशासन सख्त हो गया है। इसके बाद लोग जगह-जगह सुतली बम फेंक रहे हैं। पुलिस ने सुतली बम जब्त किए।

6 फरवरी को हुई थी राजेश अग्रवाल की गिरफ्तारी

Advertisment

फैक्ट्री मालिक राजेश अग्रवाल को पुलिस ने 6 फरवरी को राजगढ़ के सारंगपुर से गिरफ्तार किया गया था। उसके साथ सोमेश अग्रवाल और रफीक खान को भी पकड़ा गया था।

राजेश अग्रवाल ने कमिश्नर से लिया था स्टे

हरदा ब्लास्ट (Harda-Blast) की वजह 2022 से शुरू होती है। हरदा के लोगों ने इस फैक्ट्री में बारूद के अवैध भंडारण और सेफ्टी के मानक पूरा न होने को लेकर जिला प्रशासन से शिकायत की थी। जनता के बढ़ते दबाव की वजह से जिला प्रशासन ने इस फैक्ट्री को 26 सितंबर 2022 में सील कर दिया। ऋषि अग्रवाल कलेक्टर थे। फैक्ट्री के मालिक राजेश अग्रवाल ने इस आदेश के विरोध में कमिश्नर माल सिंह बहेड़िया से अपील की। इसके बाद उसे स्टे मिल गया।

Advertisment

शर्त पर मिला स्टे, लेकिन फिर भी नहीं माने नियम

कमिश्नर से 14 अक्टूबर 2022 को राजेश अग्रवाल को स्टे मिला। 1 महीने के लिए उसे सशर्त स्टे दिया गया था कि वो सारे नियम-कायदे, सुरक्षा के मानक आदि को फॉलो करेगा। 14 नवंबर 2022 को इस स्टे की समय सीमा समाप्त हो गई, लेकिन फैक्ट्री चलती रही। सोमवार तक चल ही रही थी। हादसा होने तक करीब 14 महीने बीत जाते हैं, लेकिन अफसरों ने ध्यान ही नहीं दिया कि फैक्ट्री मालिक राजेश अग्रवाल को मिला स्टे एक्सपायर हो गया है। यानी राजेश अग्रवाल बीच हरदा में इतनी बड़ी पटाखा फैक्ट्री अवैध रूप से चला रहा था और किसी का उस तरफ ध्यान ही नहीं था।

ये खबर भी पढ़िए...

Advertisment

MP में 15 फरवरी तक बड़े स्तर पर तबादले, EC के निर्देश पर होगा अमल

कलेक्टर और एसपी हटाए गए थे

हरदा फैक्ट्री ब्लास्ट के बाद सीएम मोहन यादव ने हरदा कलेक्टर ऋषि गर्ग और एसपी संजीव कुमार कंचन को हटा दिया था। आदित्य सिंह नए कलेक्टर और अभिनव चौकसे नए एसपी बनाए गए हैं।

harda blast Harda firecracker factory blast Harda factory blast accused arrested Accused arrested from Dewas Abhishek Aggarwal arrested
Advertisment
Advertisment