ED पहुंचा नगर निगम का 150 करोड़ का फर्जी बिल घोटाला, फिलहाल दस्तावेज खंगाल रही, कांग्रेस ने भी खोला मोर्चा

नगर निगम के करोड़पति बेलदार असलम खान पर भी जब आय से अधिक कमाई में लोकायुक्त ने केस किया था, तब भी ईडी ने इसी अपराध से कमाई के तहत केस दर्ज किया था, जो अभी तक चल रहा है। ईडी ने असलम की कई संपत्तियां अटैच की हुई है।

author-image
Pratibha ranaa
एडिट
New Update
THESOOTR
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता@ INDORE.

नगर निगम का फर्जी बिल घोटाला ( Municipal Corporation Fake Bill Scam ) ईडी ( ED प्रवर्तन निदेशालय ), इंदौर पहुंच गया है। इस घोटाले से जुड़े कई अहम दस्तावेज, इसकी समरी और दर्ज केस की जानकारी ईडी के पास पहुंच गई है। ईडी अभी इस मामले में दस्तावेज खंगाल रही है और इसकी वैधानिक स्थिति देख रही है कि किस तरह इसमें मनी लाण्ड्रिंग का मजबूत केस बन सकता है। 

PMLA के तहत पूरी तरह से सही केस 

हालांकि अभी ईडी ने इसमें औपचारिक रूप से पुलिस से बात नहीं की है। ईडी में अंदरूनी तौर पर इस पर बात शुरू हुई है। गौरतलब है कि ईडी में मनी लॉन्ड्रिंग केस दर्ज करने के लिए धारा 420 का केस अहम होता है, जो इसमें दर्ज सभी एफआईआर में प्रमुखता से है। साथ ही अपराध से कमाई की गई है, जो मनी लॉन्ड्रिंग में आती है। इसलिए पीएमएलए (प्रिवेंशन ऑफ मनी लाण्ड्रिंग एक्ट) के तहत यह पूरे तरह से सूटेबल केस है। 

निगम के बेलदार असलम पर भी इसलिए ईडी ने केस किया था

नगर निगम के करोड़पति बेलदार असलम खान पर भी जब आय से अधिक कमाई में लोकायुक्त ने केस किया था तब भी ईडी ने इसी अपराध से कमाई के तहत केस दर्ज किया था। जो अभी तक चल रहा है और ईडी ने असलम की कई संपत्तियां अटैच की हुई है। ऐसे में जब एक बेलदार असलम की संपत्ति को लेकर ईडी केस दर्ज कर सकता है तो अब घोटाला ही 150 करोड के पार जा रहा है और खुद असलम के परिवार की ही कई रिश्तेदारों की फर्म इसमें शामिल है तो फिर ऐसे में ईडी के लिए यह फिट केस बताया जा रहा है।

 

इधर कांग्रेस ने घोटालों के लिए खुला मोर्चा

कांग्रेस ने घोटालों को लेकर मोर्चा खोला है। इंदौर सहित मध्य प्रदेश मैं नर्सिंग कॉलेज में घोटाला, मेडिकल कॉलेज में घटिया निर्माण घोटाला, इंदौर नगर निगम में 150 करोड रुपए का फर्जी बिल घोटाला, ईएसबी में घोटाला इन सभी चार मुद्दों को लेकर शहर कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल द्वारा 27 मई में दोपहर 12:00 बजे  ED कार्यालय एचएमटी पर यातायात सेंटर कोतवाली थाने के पास ज्ञापन दिया जाएगा। कांग्रेस आईटी व सोशल मीडिया सेल अध्यक्ष किशोर डोंगरे ने कहा कि कांग्रेस घोटालों को लेकर आवाज उठाती रहेगी। इंदौर शहर कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष  (म/प्र ) अध्यक्ष, देवेंद्र सिंह यादव ने बताया है कि प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष  जीतू पटवारी, शहर कांग्रेस के अध्यक्ष सुरजीत सिंह चड्ढा एवं वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में ज्ञापन दिया जाएगा।

यह है घोटालों को लेकर मांग

  • इंदौर सहित प्रदेश में नर्सिंग कॉलेज में भारी भ्रष्टाचार घोटाला हुआ है और सीबीआई के भ्रष्ट अफसर के चेहरे उजागर हुए हैं।
  • इंदौर सहित प्रदेश के मेडिकल कॉलेज के निर्माण में घटिया सामग्री  लगाई गई है इसमें 100 करोड रुपए का महा घोटाला हुआ है और भाजपा चुप है।
  • इंदौर नगर निगम में 150 करोड़ का फर्जी बिल महा घोटाला हुआ है और बीजेपी चुप है।
  • ईएसबी में चयन में पक्षपात का कर योग उम्मीदवारों को आपत्र कर दिया गया है, इससे भी इसमें बड़ा महा घोटाला हुआ है।
  • कांग्रेस ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल सरकार पर 100 करोड़ के शराब घोटाले के आरोप है और सीएम, डिप्टी सीएम सभी को गिरफ्तार किया गया, वहीं इंदौर बीजेपी शांत है और नाक के नीचे 150 करोड़ का घोटाला हो गया।  

निगम नेता प्रतिपक्ष चौकसे ने की प्रेस कांफ्रेंस

उधर, निगम नेता प्रतिपत्र चिंटू चौकसे ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस करते हुए बताया कि नगर निगम कांग्रेस पार्षद दल के द्वारा "जनधन का हिसाब दो घोटाले का जवाब दो" अभियान शुरू किया जा रहा है । कांग्रेस के इस महा अभियान की शुरुआत मंगलवार से होगी। इस अभियान के तहत हर दिन घोटाले से जुड़े नए पहलू उजागर किए जाएंगे। नगर निगम के फर्जी फाइल घोटाले ने शहर की जनता को झकझोर दिया है। नगर निगम के अधिकारियों और पदाधिकारियों ने ठेकेदार के साथ गठजोड़ कर पैसा भ्रष्टाचार में बहा दिया।

कितने करोड़ का है फर्जी बिल घोटाला? 

चौकसे ने कहा कि फर्जी फाइल घोटाला कुल कितने करोड़ का है ? यह अभी भी कोई नहीं जानता है।  पूरे मामले में लीपा पोती करने की कोशिश की जा रही है। राज्य सरकार की उच्च स्तरीय कमेटी जो वापस गई तो पलट कर आ ही नहीं रही है। पुलिस के द्वारा जो जांच की जा रही है वह जांच भी कार्यपालन यंत्री अभय राठौर के पास पहुंच कर रुक गई है। जब तक की ऊपर के बड़े अधिकारियों और नेताओं का उन्हें संरक्षण नहीं हो, तब तक कुछ ठेकेदार, इंजीनियर यह नहीं कर सकते हैं। 

इस तरह चलेगान अभियान

चौकसे ने कहा कि इस मामले को लेकर मंगलवार से कांग्रेस पार्षद दल के द्वारा "जनधन का हिसाब दो घोटाले का जवाब दो" अभियान शुरू किया जा रहा है। इस अभियान के अंतर्गत हर दिन शाम को 5 बजे इस घोटाले से जुड़े नए तथ्य उजागर किए जाएंगे। नगर निगम के जो पदाधिकारी यह दावा करते हुए नहीं थक रहे हैं कि किसी दोषी को बचने नहीं दिया जाएगा, वे सारे लोग इस घोटाले के दोषियों को बचाने में पूरी ताकत के साथ लगे हैं। मंगलवार को अभियान का स्टीकर लॉन्च किया जाएगा। इसके बाद में बुधवार को गांधी प्रतिमा पर 1 घंटे का सद्बुद्धि कीर्तन का आयोजन होगा। अभियान का समापन इंदौर नगर निगम पर मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जीतू पटवारी की मौजूदगी में बड़े प्रदर्शन के साथ किया जाएगा।

thesootr links

 

सबसे पहले और सबसे बेहतर खबरें पाने के लिए thesootr के व्हाट्सएप चैनल को Follow करना न भूलें। join करने के लिए इसी लाइन पर क्लिक करें

द सूत्र की खबरें आपको कैसी लगती हैं? Google my Business पर हमें कमेंट के साथ रिव्यू दें। कमेंट करने के लिए इसी लिंक पर क्लिक करें

 

 

ईडी नगर निगम फर्जी बिल घोटाला Municipal Corporation Fake Bill Scam