MP Board 10th 12th Class Result बच्चो और पैरेंट्स! रिजल्ट की टेंशन छोड़िए, क्योंकि 'फाइटर' हमेशा जीतता है...

यदि आपका बच्चा मैरिट में आता है तो यह बहुत अच्छी बात है, यदि वह ऐसा नहीं कर पाता है तो उससे उसका आत्मविश्वास न छीनें। उसे बताएं कि सबकुछ ठीक है और ये सिर्फ परीक्षा ही है। वह जीवन में इससे कहीं ज्यादा बड़ी चीजों के लिए बना है।

author-image
Marut raj
New Update
MP Board 10th 12th class result declared द सूत्र the sootr
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

MP Board 10th 12th class result declared

रविकांत दीक्षित, भोपाल. बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने का सिलसिला शुरू हो गया है। MP  में 5वीं और 8वीं के परिणाम आ चुके हैं। आज यानी 24 अप्रैल को MP बोर्ड के हाईस्कूल और हायर सेकंडरी के नतीजे आएंगे। आगे CBCE बोर्ड का रिजल्ट आना है। ऐसे में बच्चे इस टेंशन में हैं कि रिजल्ट कैसा रहेगा। अभिभावकों की चिंता अलग है। 

तो जनाब! सब चिंता छोड़िए। बच्चों की प्रतिभा को अंकों से मत आंकिए। भविष्य संवारने की तैयारी को बोझ न बनाएं। सिर्फ अच्छे अंक सफलता की कुंजी नहीं हो सकते। क्लास में फर्स्ट, जिले में टॉप, तहसील में अव्वल, मैरिट में नाम... यह सब बातें मिलकर बच्चों को तनाव दे सकती हैं। अभिभावक समझें। बच्चों पर रिजल्ट को लेकर अनावश्यक दबाव न बनाएं। 

क्योंकि परीक्षा में शामिल होने वाले बच्चों में कई कलाकार भी हैं, जिन्हें गणित में पारंगत होना जरूरी नहीं है। इनमें संगीतकार भी हैं, जिनके लिए रसायनशास्त्र के अंक कोई मायने नहीं रखते। इनमें भविष्य के कई बिजनेसमैन हैं, जिन्हें इतिहास या अंग्रेजी साहित्य में कुछ कठिनाई महसूस होती होगी, लेकिन ये आगे चलकर इतिहास बदलेंगे। इनमें खिलाड़ी भी हैं, जिनकी फिजिकल फिटनेस फिजिक्स के अंकों से ज्यादा महत्वपूर्ण है। 

अब रिजल्ट आ रहा है, सो ध्यान रखें कि यदि आपका बच्चा मैरिट में आता है तो यह बहुत अच्छी बात है, लेकिन यदि वह ऐसा नहीं कर पाता है तो उससे उसका आत्मविश्वास न छीनें। उसे बताएं कि सबकुछ ठीक है और ये सिर्फ परीक्षा ही है। वह जीवन में इससे कहीं ज्यादा बड़ी चीजों के लिए बना है। यदि आप अपने बच्चे को खुशमिजाज बनाते हैं तो वह कुछ भी बने, उसका जीवन हर हाल में सफल है, लेकिन यदि वह खुशमिजाज नहीं तो वह कुछ बन जाए, सफल कभी नहीं हो सकता। इसलिए ध्यान रखें कि एक परीक्षा या मार्कशीट आपके बच्चे के सपनों का पैमाना नहीं है। 

आखिर में जावेद अख्तर साहब की बड़ी मशहूर पंक्ति है कि .....

जिंदगी है तो ख्वाब हैं, ख्वाब हैं तो मंजिलें हैं, 

मंजिलें हैं तो फासले हैं, फासले हैं तो रास्ते हैं, 

रास्ते हैं तो मुश्किलें हैं, मुश्किलें हैं तो हौसला है, 

हौसला है तो विश्वास है 

क्योंकि 'फाइटर' हमेशा जीतता है।

एमपी बोर्ड 10वीं 12वीं क्लास रिजल्ट घोषत | एमपी बोर्ड 10वीं 12वीं क्लास रिजल्ट

एमपी बोर्ड 10वीं 12वीं क्लास रिजल्ट घोषत MP Board 10th 12th class result declared एमपी बोर्ड 10वीं 12वीं क्लास रिजल्ट MP Board 10th 12th Class Result