MP CABINET की बैठक में कई प्रस्तावों पर मुहर, हर जिला अस्पताल बनेगा मेडिकल कॉलेज

मध्यप्रदेश कैबिनेट मीटिंग में तय हुआ है कि प्रदेश के हर ऐसे जिले, जहां मेडिकल कॉलेज नहीं हैं, वहां इन्हें PPP (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) मोड पर बनाया जाएगा।

author-image
Pratibha Rana
New Update
B FGV

MP Cabinet Meeting

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव की अध्यक्षता में आज मंत्रालय में कैबिनेट की बैठक हुई है। इसमें महत्‍वपूर्ण न‍िर्णय ल‍िए गए।  मंत्रिपरिषद की आगामी बैठक में मंत्रिमंडलीय उप समिति बनाकर धर्मस्व, राजस्व और संस्कृति विभाग को आपस में जोड़ा जाएगा।  जिस तरह कृषि उत्पादन आयुक्त के अंतर्गत कृषि सहकारिता ,उद्यान आदि कुछ विभाग होते हैं वैसे ही एक वरिष्ठ अधिकारी इन विभागों के प्रभारी होंगे। प्रदेश के जिन जिलों में मेडिकल कॉलेज नहीं हैं, वहां इन्हें PPP ( पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप ) मोड पर बनाया जाएगा। इसके लिए जिला अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में अपग्रेड किया जाएगा। 

मोहन कैबिनेट में इन अहम प्रस्तावों पर लगी मुहर

सिंचाई और पीडब्ल्यूडी विभाग की पुरानी योजनाओं को समय सीमा में काम पूर्ण करने के लिए बजट स्वीकृत किया गया। इससे दो हजार से ज्यादा गांवों में फायदा मिलेगा।

डायल 100 छ महीने और काम करती रहेगी।

100 स्मार्ट सिटी योजना में से 2.0 स्मार्ट सिटी योजना के18 शहर एमपी के होंगे। इन शहरों को लगभग 135 करोड़ की राशि दी जाएगी। इसमें 50% राज्य शासन का समावेश भी होगा। 

2000 प्रोफेसर PhD कराने के लिए अधिकृत होंगे।

सिंचाई और PWD विभाग की पुरानी योजनाओं के काम पूरा करने के लिए बजट स्वीकृत किया गया। 

न्यायिक अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिए ग्राम मंगेली बरेला बायपास रोड (जबलपुर) में भवन निर्माण किया जाएगा। लागत 485.84 करोड़ रुपए है।

उज्जैन और जावरा के बीच 4 लेन ग्रीनफील्ड एक्सेस कंट्रोल्ड हाईवे का निर्माण होगा। इसके लिए 5000 करोड़ का बजट रखा गया।

न्यायिक अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिए 485.84 करोड़ से मध्यप्रदेश राज्य न्यायिक अकादमी हेतु ग्राम मंगेली बरेला बायपास रोड जबलपुर में नवीन भवन निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा जबलपुर में नर्मदा नदी पर झूला पुल बनेगा। 

पंचायत सचिव की मौत पर परिवार के एक सदस्य को अनुकम्पा नियुक्ति दी जाएगी।

अब जिले के बाहर भी तबादले हो सकेंगे।

10 सिंचाई परियोजना के लिए बजट स्वीकृत

उज्जैन में सिहस्थ को ध्यान रखते हुए दो लेन सड़के फोरलेन और फोर लेन सड़के सिक्स लेन में तब्दील होगी।

पीपीपी मोड पर जिला अस्पताल का जिला चिकित्सा महाविद्यालय में होगा उन्नयन। निजी एजेंसी को देंगे काम 75% बेड गरीबों के लिए होंगे आरक्षित। 25% बेड निजी एजेंसी कर सकेगी इस्तेमाल।

परिवार सहित अयोध्या पहुंचे सीएम मोहन

दरअसल मुख्यमंत्री मोहन यादव आज अपने मंत्रियों के साथ कैबिनेट बैठक ( MP Cabinet Ayodhya Visit ) के बाद अयोध्या रवाना हो गए हैं। यहां श्री रामलला का दर्शन कर सीएम अपने मंत्रियों के साथ शाम तक भोपाल लौटेंगे। बता दें, मोहन 3 मार्च को लखनऊ (यूपी) दौरे पर थे। वहां से भोपाल लौटने के बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि फरवरी महीने में अयोध्या में ज्यादा भीड़ होने और अन्य व्यस्तताओं के कारण मध्यप्रदेश मंत्रिमंडल के सदस्यों ने मार्च माह में अयोध्या जाने का फैसला लिया था। यह हमारी श्रद्धा है, हम सनातन संस्कृति को मानने वाले भी हैं। हमारी आस्था का केंद्र आज जब सबकी श्रद्धा के रूप में उभरकर सामने आया है, तो स्वाभाविक रूप से सबकी भावना भी जुड़ गई है।

CM Mohan Yadav सीएम मोहन यादव मध्यप्रदेश कैबिनेट मीटिंग MP Cabinet meeting