संघ प्रचारकों को डिजिटल अरेस्ट करने की धमकी, महाराष्ट्र से आए कॉल पर धमकाया जेल में डाल देंगे

29 मई की शाम को संघ के वरिष्ठ प्रचारक देवेंद्र आर रेड्‌डी, पुत्र चिनप्पा रेड्‌डी के पास तीन अलग-अलग नंबरों से कॉल आया। कॉल करने वाले खुद को महाराष्ट्र पुलिस से बताकर व्यक्तिगत जानकारी मांगने लगे।

author-image
Pratibha ranaa
New Update
संघ प्रचारकों को डिजिटल अरेस्ट करने की धमकी
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता@ INDORE.

इंदौर में एक बार फिर डिजिटल अरेस्ट करने की घटना सामने आई है। डिजिटल अरेस्ट की ये घटना संघ प्रचारकों ( Sangh preachers ) के पास आई है। कॉल करने वालों की लोकेशन महाराष्ट्र की निकली है। कॉल करने वालों ने प्रचारक को उनके खिलाफ महाराष्ट्र में एफआईआर होने की बात कहते हुए जेल में डालने की धमकी दी। प्रचारक के दोनों मोबाइल नंबर पर ठगों से अलग-अलग बात हुई। कॉल करने वालों ने वीडियो कॉल और डीप फेक कॉल किया। उन्होंने अपने साथ आए कार्यकर्ता को पूरी बात बताई। बुधवार ( 5 जून ) को पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है।

इन्होंने कराई FIR

सदर बाजार पुलिस ने संघ कार्यकर्ता दौलत राम उर्फ सोहन जोशी निवासी शांति पथ, चिमनबाग की शिकायत पर तीन अज्ञात नंबरों पर केस दर्ज किया है। दौलत राम ने बताया कि वह सामाजिक कार्यकर्ता हैं। 29 मई की शाम को संघ के वरिष्ठ प्रचारक देवेंद्र आर रेड्‌डी, पुत्र चिनप्पा रेड्‌डी के पास तीन अलग-अलग नंबरों से कॉल आया। कॉल करने वाले खुद को महाराष्ट्र पुलिस से बताकर व्यक्तिगत जानकारी मांगने लगे। देवेंद्र ने जब नाम-पता पूछा तो उन्होंने कहा कि तुम्हारे नाम पर महाराष्ट्र में एफआईआर है। तुम कहना नहीं मानोगे तो तुम्हें जेल भेज देंगे।

ट्राई के अफसर बनकर भी चमकाया

संघ प्रचारक देवेंद्र ने बताया कि वह संघ कार्य के लिए देशभर में घूमते हैं। फिलहाल उज्जैन में रहते हैं और कुछ दिन पहले ही मुंबई से इंदौर आए थे। उन्होंने बताया कि 29 मई को उनके बीएसएनएल के नंबर पर कॉल आया। ठग ने TRAI का अफसर बन बात की। कहा कि आप पर केस दर्ज हुआ है।

आपने अपने नंबर को लेकर गलत जानकारी दी। इस पर देवेंद्र ने कहा कि काफी पुराना नंबर है। इस पर ठग ने नंबर ब्लॉक करने की धमकी देते हुए आधार कार्ड और अन्य जानकारी मांगी। नंबर ब्लैक लिस्ट में डालने की धमकी देते हुए ठग ने कहा कि नंबर ब्लॉक होने से बचना है तो ऑनलाइन शिकायत करो। 

डीपफेक कॉल भी किया

फिर देवेंद्र से दूसरा नंबर लेकर उस पर वॉट्सऐप कॉलिंग की। इस कॉल पर ट्राई की एफआईआर का नंबर बताते हुए 2 साल की सजा होने की धमकी दी। इसके बाद डीपफेक कॉल करते हुए किसी अफसर से बात कराई, जो खुद को मुंबई का बता रहा था। देवेंद्र को ठगी की शंका हुई तो उन्होंने अफसर के बताए अनुसार ऑनलाइन प्रोसेस नहीं करते हुए कॉल कट कर दिया। बाद में भी उन्हें लगातार कॉल आते रहे। उन्होंने अपने परिचितों को इस बारे में जानकारी दी। बाद में कार्यकर्ता दौलत राम को कहकर मामले में अज्ञात नंबरों के खिलाफ एफआईआर करवा दी।

 

thesootr links

 

सबसे पहले और सबसे बेहतर खबरें पाने के लिए thesootr के व्हाट्सएप चैनल को Follow करना न भूलें। join करने के लिए इसी लाइन पर क्लिक करें

द सूत्र की खबरें आपको कैसी लगती हैं? Google my Business पर हमें कमेंट के साथ रिव्यू दें। कमेंट करने के लिए इसी लिंक पर क्लिक करें

 

Sangh preachers digital arrest Threat संघ प्रचारक Sangh preachers