Advertisment

सीएम भूपेश बघेल ने गौरा गौरी पूजा पर सोंटा प्रहार की परंपरा निभाई, अनिष्ट टलने और खुशहाली आने की मान्यता, शाम को दिल्ली जाएंगे

author-image
Yagyawalkya Mishra
New Update
सीएम भूपेश बघेल ने गौरा गौरी पूजा पर सोंटा प्रहार की परंपरा निभाई, अनिष्ट टलने और खुशहाली आने की मान्यता, शाम को दिल्ली जाएंगे

Raipur. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल परंपरागत तरीक़े से होने वाले गौरी गौरा पूजा में शामिल होने जंजगिरी और कुम्हारी पहुँचे। लोक मान्यता है कि इस पूजा के दौरान सोंटे का प्रहार झेलने से अनिष्ट टलते हैं। मुख्यमंत्री बघेल हर साल इस परंपरागत तरीक़े में शामिल होते हैं। सीएम बघेल आज शाम दिल्ली रवाना हो रहे हैं।

Advertisment





परंपराओं के निर्वहन का मसला





दीवाली पर विभिन्न परंपराएं छत्तीसगढ़ के अलग अलग इलाक़ों में मौजूद हैं। मुख्यमंत्री बघेल के गृहक्षेत्र में यह मान्यता है कि सोंटा का प्रहार झेलने से अनिष्ट टलते हैं और ख़ुशहाली आती है। यह परंपरा फ़िलहाल स्थानीय पूजारी वीरेंद्र ठाकुर निभाते हैं।





शाम को दिल्ली रवानगी कल लौटेंगे सीएम बघेल

Advertisment





मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शाम छ बजे दिल्ली रवाना हो रहे हैं। वे कल दोपहर को लौटेंगे॥ सीएम बघेल कल राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगे। वे अन्य नेताओं से भी मुलाक़ात कर सकते हैं। वे कल ही छत्तीसगढ़ लौटेंगे, क़रीब तीन बजे सीएम निवास पर आयोजित गोवर्धन पूजा आयोजित है, जिसमें वे मौजूद रहेंगे।





वीडियो देखें -







Chhattisgarh News छत्तीसगढ़ न्यूज Chhattisgarh CM Follow Tradition Bhupesh Baghel Sonta Prahar Chhattisgarh Traditions छत्तीसगढ़ सीएम ने परंपरा निभाई भूपेश बघेल सोंटा प्रहार छत्तीसगढ़ की परंपराएं
Advertisment
Advertisment