200 days हैं हमारे पास, मिलकर determination to win लें, Kamal Nath की 15 months की करतूतें remember दिलाएं : सीएम- MP News
होम / मध्‍यप्रदेश / दो सौ दिन हैं हमारे पास, मिलकर जीत का सं...

दो सौ दिन हैं हमारे पास, मिलकर जीत का संकल्प लें, कमलनाथ की 15 महीने की करतूतें लोगों को याद दिलाएं : सीएम

Jitendra Shrivastava
24,जनवरी 2023 11:21 PM IST

अरुण तिवारी, BHOPAL. हमारे पास अभी पूरे 200 दिन का समय है। यह समय है कि हम नए जोश के साथ पारिवारिक माहौल में काम करें। सब खुश रहें और दूसरों को खुश रखें। वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को सम्मान दें, बूथ को और ज्यादा सक्रिय करें तथा सब मिलकर जीत का संकल्प लें और खड़े हो जाएं। यह बात भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति बैठक के समापन सत्र में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही।

15 महीनों में कांग्रेस सरकार ने हमारी विचारधारा को कुचलने का प्रयास किया

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कार्यकर्ताओं को कांग्रेस की सरकार द्वारा 15 महीनों में किए गए कारनामों का स्मरण कराते हुए कहा कि यहां बैठे कार्यकर्ताओं में से कितने ही कार्यकर्ता ऐसे हैं, जिनकी दुकानों और मकानों पर कांग्रेस की सरकार ने दुर्भावनापूर्वक बुलडोजर चलवा दिए थे। कितने कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे लाद दिए थे। नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में रैली निकाल रहे लोगों को पीटा था। हमारी विचारधारा को कुचलने का प्रयास किया। यही लोग आज भी हमारी विचारधारा पर हमला कर रहे हैं, सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगते हैं और धारा 370 हटाने का विरोध करते हैं। 15 महीने की उस सरकार ने प्रदेश को लूट लिया और संबल समेत जनहित की सारी योजनाएं बंद कर दी थी। वो सरकार अपने इन्हीं कर्मों से गिरी थी और हमें उस सरकार के कारनामों को भूलना नहीं है। वही कमलनाथ अब फिर रोज एक ट्वीट कर रहे हैं। झूठे वादों का जाल फैला रहे हैं। हमें इनके झूठ और पाखंड को जनता के सामने लाना है।

प्रदेश के विकास की झांकी प्रस्तुत करेगी विकास यात्राएं


मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि 2003 के पहले की प्रदेश की स्थिति किसी से छिपी नहीं है। सड़कें जर्जर थीं। डाकुओं के कई गिरोह सक्रिय थे और प्रदेश में कुंओं से हथियार निकलते थे। हमारी सरकार ने प्रदेश से डाकुओं का समूल नाश कर दिया है और नक्सलियों पर प्रभावी कार्रवाई की जा रही है। गुंडों और माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 23000 एकड़ सरकारी जमीन मुक्त कराई गई है, जिस पर गरीबों की कॉलोनियां बनाई जाएंगी। 42 दुराचारियों को फांसी की सजा सुनाई गई है। वर्तमान में प्रदेश में हजारों करोड़ रुपए की सिंचाई और सड़क परियोजनाओं पर काम चालू है। बिजली की उपलब्धता इतनी है कि हम दिल्ली तक प्रदेश की बिजली भेज रहे हैं। गेंहू उत्पादन में पंजाब को पीछे छोड़ दिया है और धान के उत्पादन में भी हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। हमारी सरकार ने 19000 लोगों को तीर्थदर्शन कराया और संबल योजना के हितग्राहियों को 3700 करोड़ रुपए दिए हैं। हमने जनजातीय क्रांतिवीरों को सम्मान दिया।

यह खबर भी पढ़ें

ओरछा-चित्रकूट में भी महाकाल लोक की तरह काम किए जाएंगे 

उज्जैन के महाकाल महालोक की तर्ज पर देवास, मैहर, ओंकारेश्वर में भी काम हो रहा है। ओरछा और चित्रकूट में भी इसी तरह काम किए जाएंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि क्या विकास के इतने काम गिनने के लायक नहीं हैं? क्या इनके बारे में जनता को नहीं बताया जाना चाहिए? यही काम हम 5 फरवरी से शुरू हो रही विकास यात्राओं के माध्यम से करेंगे, जिसमें संगठन की भी महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। इन यात्राओं के दौरान हम लोकार्पण, शिलान्यास के अलावा हितग्राही सम्मेलन भी आयोजित करेंगे।

हमें कहां अधिक मजबूती की जरूरत, इस पर चिंतन करेंः अजय जामवाल

बैठक के समापन सत्र को संबोधित करते हुए पार्टी के क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल ने कहा  मध्यप्रदेश का पार्टी संगठन देश में आदर्श संगठन है। इसके बाद भी अगर हम खुद को कुछ जगहों पर कमजोर पाते हैं, तो इस पर हमें चिंतन करना चाहिए। जामवाल ने कहा कि चुनाव की दृष्टि से बूथ सबसे महत्वपूर्ण इकाई है। जिसका बूथ अच्छा होगा, जीत भी उसी की होगी। इसलिए बूथ को साध लें, तो मंडल, शक्ति केंद्र और जिला सब मजबूत हो जाएंगे। 

तय करें कि मेरे कारण कोई समस्या नहीं होगी

जामवाल ने पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को परामर्श देते हुए कहा कि हमारे सामने कोई समस्या नहीं है। हर समस्या का समाधान हम ही हैं। जिस दिन सभी कार्यकर्ता यह तय कर लेंगे कि मेरे कारण कोई समस्या पैदा नहीं होने दूंगा, तो जीत आपकी है। यह ध्यान रखें कि आप राष्ट्र के लिए काम कर रहे हैं। अपने ऊपर, पार्टी पर और ईश्वर पर विश्वास रखें, आपकी जीत को कोई रोक नहीं सकता। श्री जामवाल ने कहा कि जिस तरह से परिवार में बुजुर्गों को सम्मान मिलता है, वैसे ही वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को सम्मान दें। स्वयं खुश रहें, दूसरों को खुश रखें और कार्यकर्ताओं से मिलते रहें, क्योंकि वही हमारे भगवान हैं। अगर आप इतना करते हैं, तो आपकी जीत को कोई रोक नहीं सकता।

द-सूत्र ऐप डाउनलोड करें :
Like & Follow Our Social Media