Advertisment

प्रमोद कृष्णम कांग्रेस से निष्कासित, 2 फरवरी को PM मोदी से मिले थे

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में पार्टी के बड़े नेता और कल्कि धाम के पीठाधीश्वर ​​​​आचार्य प्रमोद कृष्णम को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने शनिवार (10 फरवरी) को इसकी जानकारी दी।

author-image
BP shrivastava
New Update
Pramod Krishnam

प्रमोद कृष्णम 2 फरवरी को पीएम नरेंद्र मोदी से मिले थे। इसके बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

NEW DELHI. कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में पार्टी के बड़े नेता और कल्कि धाम के पीठाधीश्वर ​​​​आचार्य प्रमोद कृष्णम को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने शनिवार (10 फरवरी) को इसकी जानकारी दी।

Advertisment

प्रमोद कृष्णम 6 साल के लिए पार्टी से हटाए गए

वेणुगोपाल ने कहा कि अनुशासनहीनता और पार्टी के खिलाफ बार-बार बयान देने की शिकायतों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रमोद कृष्णम को तत्काल प्रभाव से निष्कासित करने के उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

खबर यह भी पढ़ें... PM मोदी का चुनाव अभियान झाबुआ से, BJP का आदिवासी अंचल पर फोकस

Advertisment

प्राण प्रतिष्ठा समारोह में हुए थे शामिल, कांग्रेस की निंदा की थी

हाल ही में प्रमोद कृष्णम ने अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी की जमकर तारीफ की थी। वे 22 जनवरी को अयोध्या भी गए थे। उन्होंने इस कार्यक्रम में भाग ना लेने पर कांग्रेस की आलोचना की थी।

खबर यह भी पढ़ें... अमित शाह ने कहा- लोकसभा चुनाव के पहले लागू होगा CAA,ये देश का एक्ट

Advertisment

2 फरवरी को PM मोदी से मिले थे

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने 2 फरवरी को प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात भी की थी। उन्होंने 19 फरवरी को PM मोदी को कल्कि धाम के शिलान्यास कार्यक्रम में आने का न्योता दिया था। प्रमोद कृष्णम ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर मोदी के साथ अपनी फोटो शेयर की थी।

इसके बाद वे 6 फरवरी को CM योगी से मिले और उन्हें भी कल्कि धाम आने का न्योता दिया। प्रमोद ने कहा- भगवान राम सबके हैं, मैं भगवान राम का हूं। मैं सभी को कल्कि धाम आने का निमंत्रण दे रहा हूं। मैंने यह न्योता राहुल गांधी और सोनिया गांधी को भी दिया है, अब वो आएं या ना आएं उनकी मर्जी।

Advertisment

कौन हैं आचार्य प्रमोद कृष्णम ?

आचार्य प्रमोद कृष्णम का जन्म 4 जनवरी 1965 को संभल के गांव एंचोड़ा कम्बोह में हुआ था। वह ब्राह्मण परिवार से संबंध रखते हैं। प्रमोद कृष्णम की गिनती यूपी में कांग्रेस के बड़े नेताओं में होती है। वह दो बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव भी लड़ चुके हैं।

दो बार लोकसभा चुनाव लड़ा

Advertisment

2014 में संभल और 2019 में लखनऊ से उन्होंने चुनाव लड़ा था। हालांकि, दोनों बार हार गए। कहा जाता है कि राम मंदिर निर्माण के सपोर्ट में प्रमोद कृष्णम ही कांग्रेस में सबसे आगे रहे। राजनीति से ज्यादा प्रमोद कृष्णम की यूपी के संभल में श्री कल्कि धाम को लेकर चर्चा होती है, जो इन्होंने अपने गांव में बनाया है।

कल्कि धाम निर्माण के लिए जमीन कब्जाने का आरोप

कांग्रेस नेता और अधिवक्ता अमित उठवाल ने 10 फरवरी को ही प्रमोद कृष्णम पर कल्कि धाम निर्माण के नाम पर सरकारी जमीन पर कब्जा करने का आरोप लगाया था। अमित उठवाल ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी से लेकर कमिश्नर-डीएम तक को ईमेल और रजिस्टर्ड डाक के जरिए प्रमोद कृष्णम के खिलाफ सबूत भेजे हैं।

अमित उठवाल ने दावा किया कि प्रमोद कृष्णम पिछले 40 साल से कल्कि धाम के नाम पर जमीन पर कब्जा करने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाते रहे हैं। एक बार उन्होंने इस जमीन पर स्कूल के नाम की फर्जी एंट्री करा दी थी। वर्तमान में भी इस जमीन पर हवन कुंड बनाकर कब्जा करने का प्रयास किया गया है।​​​​

कांग्रेस प्रमोद कृष्णम प्रमोद कृष्णम कांग्रेस से निष्कासित कल्कि धाम
Advertisment
Advertisment