Advertisment

छत्तीसगढ़ में मनमर्जी से की खरीदी, चार जिला शिक्षा अधिकारी सस्पेंड

सूरजपुर, मुंगेली, बीजापुर, कोंडागांव जैसे जिलों में खरीदी की गई थी। खरीदी के लिए जरूरी नियम कायदों का पालन नहीं किया गया। यह मामला बजट सत्र के दौरान छत्तीसगढ़ विधानसभा में उठा, इस पर स्कूल शिक्षा मंत्री ने कार्रवाई की घोषणा की।

author-image
Marut raj
New Update
सीजी विधानसभा
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

रायपुर.  स्कूल शिक्षा विभाग में टेंडर के बिना सामग्री खरीदने का मामला बजट सत्र के दौरान विधानसभा में उठा। इसके बाद स्कूल शिक्षा मंत्री मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस मामले पर जवाब दिया है। सूरजपुर, मुंगेली, बस्तर, कोंडागांव, बीजापुर में करोड़ों की गड़बड़ी का सवाल उठाया गया है। इस पर बीजेपी विधायक धरमलाल कौशिश ने कार्रवाई की मांग की। इस पर मंत्री ने चार जिला शिक्षा अधिकारी को निलंबित करने की घोषणा की।

Advertisment

बीजेपी विधायक ने उठाया मामला

जानकारी के अनुसार प्रश्नकाल में भाजपा विधायक धरमलाल कौशिक ने स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बिना निविदा सामग्री खरीदने का मामला उठाते हुए सवाल किया कि क्या छत्तीसगढ़ भंडार क्रय नियम में एनसीसीएफ, नेकाफ, केंद्रीय भंडार और स्व सहायता समूह से बिना निविदा खरीदी करने की छूट दी गई है? मुझे जानकारी है कि करीब 50 करोड़ रुपए की सामग्री की ख़रीदी की गई है। क्या इसकी जांच की जाएगी?

स्कूल शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि करीब 36 करोड़ रुपए की खरीदी हुई है। जो छूट लेनी चाहिए थी, वह छूट नहीं ली गई। नियमों का पालन नहीं किया गया।

Advertisment

यहां हुई गड़बड़ी

 सूरजपुर, मुंगेली, बीजापुर, कोंडागांव जैसे जिलों में खरीदी की गई। सूरजपुर जिले में 11 करोड़ 36 लाख, मुंगेली में 99 लाख 95 हज़ार, बस्तर में 20 करोड़ 47 लाख, बीजापुर में 55 लाख 4 हजार और कोंडागाँव में 3 करोड़ रुपए की ख़रीदी की गई थी। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि इन जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

 

Advertisment

इन अधिकारियों पर की गई कार्रवाई

बीजेपी विधायक धरमलाल कौशिक के सवाल पर मंत्री बृजमोहन अग्रवाल का जवाब आने पर नेताप्रतिपक्ष चरणदास महंत ने अधिकारियों का नाम पूछा जिस पर बहस भी हुई है। वहीं आखिर में बृजमोहन अग्रवाल ने चारों अधिकारियों के नामों का खुलासा किया। मंत्री ने सदन से ही विनोद राय, एल्मा, प्रमोद ठाकुर और राजेश मिश्रा को निलंबित किए जाने की घोषणा की।

छत्तीसगढ़ अधिकारी सस्पेंड जिला शिक्षा अधिकारी
Advertisment
Advertisment