चुनाव आयोग के सामने मतदान के बाद अब मतगणना की चुनौती, काउंटिंग हॉल में मोबाइल- स्मार्ट वॉच ले जाने पर पाबंदी

छत्तीसगढ़ में चुनाव आयोग अब 4 जून को होने वाली लोकसभा चुनाव की मतगणना की तैयारियों में जुटा है। मतगणना में विवाद न हो इसके लिए भी पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं।

author-image
Deeksha Nandini Mehra
New Update
raipur news
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

अरुण तिवारी @ रायपुर। चुनाव आयोग के सामने अब मतदान के बाद मतगणना की बड़ी चुनौती है। छत्तीसगढ़ में तीन चरणों में मतदान संपन्न हो चुका है। प्रदेश में लोकसभा की कुल 11 सीटें हैं। अब चुनाव आयोग मतगणना की तैयारियों में जुटा है। मतगणना के दौरान किसी तरह का कोई विवाद न हो इसके लिए मतगणना स्थल पर मोबाइल फोन से लेकर स्मार्ट वॉच तक ले जाने पर पाबंदी लगाई गई है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी खुद हर लोकसभा क्षेत्र में जाकर तैयारियों का जायजा ले रही हैं। 

ये खबर पढ़िए ...युवाओं हो जाओ तैयार...जल्द निकलने वाली हैं इमर्जिंग टेक्नोलॉजी में 10 लाख नौकरियां

चुनाव आयोग की तैयारियां 

वोटिंग और उसके बाद काउंटिंग चुनाव में सबसे चुनौतीपूर्ण काम होता है। चुनाव आयोग के लिए ये मौका किसी अग्नि परीक्षा से कम नहीं होता। चुनाव आयोग अब 4 जून को होने वाली लोकसभा चुनाव की मतगणना की तैयारियों में जुटा है। वोट काउंट में विवाद की आशंका न हो इसके लिए भी पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबासाहेब कंगाले ने  राजनांदगांव, दुर्ग और महासमुंद का दौरा कर  4 जून को होने वाली मतगणना की तैयारियों का जायजा लिया। कंगाले हर लोकसभा क्षेत्र में जाकर वहां की तैयारियों की खुद निगरानी कर रही हैं। उन्होंने तीनों जिला मुख्यालयों में स्ट्रांग-रूम में रखे ईवीएम की सुरक्षा व्यवस्थाओं देखा। इसके साथ ही काउंटिंग रुम की व्यवस्थाओं के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। कंगाले ने अधिकारियों की बैठक लेकर स्पष्ट निर्देश दिए कि मतगणना के दौरान किसी भी तरह के विवाद की खबरें नहीं आनी चाहिए। 

ये खबर पढ़िए ...छत्तीसगढ़ : सरकार के रडार पर पांच साल की भर्तियां, टेंशन में पैसे के बदले पद देने वाले कुलपति

मोबाइल,स्मार्ट वॉच बैन 

सीईओ कंगाले ने तीनों जिलों में विधानसभावार मतगणना कक्षों, उम्मीदवारों और उनके एजेंट की बैठक व्यवस्था, प्रवेश पास, सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से मॉनिटरिंग, मतगणना के दिन वीडियोग्राफी, सुरक्षा व्यवस्था, बैरीकेडिंग, डाक मतपत्रों और वीवीपैट पर्ची की गिनती की व्यवस्था और मीडिया सेंटर का दौरा भी किया। उन्होंने बताया कि मतगणना हॉल में मोबाइल फोन, आईपेड, लैपटॉप, स्मार्ट वॉच, कैमरा समेत सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण प्रतिबंधित रहेंगे। मीडिया प्रतिनिधि मीडिया सेंटर तक मोबाइल ले जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मीडिया प्रतिनिधि छोटे_छोटे ग्रुप बनाकर काउंटिंग देखने जा सकते हैं। 

ये खबर पढ़िए ...पं. रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी समेत 3 और कॉलेजों में होगा B.Ed, 13 संस्थानों की अनुमति लंबित

चुनाव कार्य के दौरान महिलाकर्मी की मौत पर परिजनों को मिले 15 लाख

दुर्ग पहुंची मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबासाहेब कंगाले ने निर्वाचन कर्तव्य के दौरान मृत महिलाकर्मी मधु बंजारे के दोनों पुत्रों  को अनुग्रह प्रतिकर राशि के कुल 15 लाख रूपए की राशि का चेक प्रदान किया। उन्होंने नितिन कुमार बंजारे को साढ़े सात लाख रुपए और विपिन कुमार बंजारे को साढ़े सात लाख रुपए का चेक प्रदान किया।

लोकसभा चुनाव के दौरान मधु बंजारे की 8 मई को कुम्हारी के पास वाहन दुर्घटना में मौत हो गई थी। छत्तीसगढ़ राज्य अनुग्रह प्रतिकर भुगतान नियम 2009 के प्रावधानों के तहत उनके उत्तराधिकारियों को ये राशि दी गई।

 vote Counting | काउंटिंग हॉल में मोबाइल पर पाबंदी | लोकसभा चुनाव रिजल्ट 

thesootr links

 सबसे पहले और सबसे बेहतर खबरें पाने के लिए thesootr के व्हाट्सएप चैनल को Follow करना न भूलें। join करने के लिए इसी लाइन पर क्लिक करें

द सूत्र की खबरें आपको कैसी लगती हैं? Google my Business पर हमें कमेंट के साथ रिव्यू दें। कमेंट करने के लिए इसी लिंक पर क्लिक करें

मतगणना vote Counting काउंटिंग हॉल में मोबाइल पर पाबंदी लोकसभा चुनाव रिजल्ट