ग्वालियर-चंबल में फिर डकैत हुए एक्टिव, जंगलों में पुलिस कर रही सर्चिंग

50 से अधिक जवान ग्वालियर-मुरैना बॉर्डर से लगे जंगल में लगातार सर्चिंग कर रहे हैं। SDOP घाटीगांव शेखर दुबे ने बताया कि गुड्‌डा गुर्जर की गिरफ्तारी के बाद गांव में एक बार फिर डकैतों की हलचल बढ़ गई है।

author-image
Pooja Kumari
New Update
chambal
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00



GWALIOR. ग्वालियर-चंबल के जंगली इलाकों में एक बार फिर डकैत एक्टिव हो गए हैं। बता दें कि ग्वालियर के घाटीगांव स्थित भंवरपुरा के जंगल में रविवार को ग्रामीणों ने चार हथियारबंद डकैतों को देखा। ऐसे में लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस को दी। खबर मिलते ही पुलिस अलर्ट मोड में आ गई। पुलिस का कहना है कि ये गैंग डकैत रामसहाय गुर्जर का हो सकता है।

यह खबर भी पढ़ें - किसान आंदोलन: आज फिर दिल्ली कूच, हरियाणा के 7 जिलों में इंटरनेट बैन

एक बार फिर डकैत हुए एक्टिव 

बता दें कि 50 से अधिक जवान ग्वालियर-मुरैना बॉर्डर से लगे जंगल में लगातार सर्चिंग कर रहे हैं। SDOP घाटीगांव शेखर दुबे ने बताया कि गुड्‌डा गुर्जर की गिरफ्तारी के बाद गांव में एक बार फिर डकैतों की हलचल बढ़ गई है। रामसहाय गुर्जर गिरोह के इलाके में आने की सूचना पर पिछले 24 घंटे से सर्चिंग की जा रही है। जानकारी के मुताबिक इस गैंग ने हाल ही में मुरैना और राजस्थान के धौलपुर में वारदातों को अंजाम दिया है।

यह खबर भी पढ़ें - बसंत पंचमी पर धार भोजशाला बनी छावनी, अयोध्या, ज्ञानवापी की तरह यहां भी स्थल पाने हाईकोर्ट में लड़ रहे हिंदू संगठन

पुलिस कर रही है सर्चिंग 

डकैत रामसहाय पर चंबल रेंज आईजी की ओर से 30 हजार रुपए का इनाम घोषित है। वहीं, धौलपुर और ग्वालियर SSP ने भी 10-10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। SDOP दुबे का कहना है कि रविवार को रामसहाय गुर्जर भंवरपुरा में दिखाई दिया था। पुलिस ने जब घेराबंदी की, तो वह आरोन के जंगल की ओर निकल गया। इसके बाद से ही घाटीगांव टीआई प्रशांत शर्मा और आरोन थाना प्रभारी अतुल सिंह के साथ पुलिस के जवान जंगल में सर्चिंग कर रहे हैं।

यह खबर भी पढ़ें - अलर्ट! इंडिया में 66 % लोग ऑनलाइन डेटिंग स्कैम का हुए शिकार

2022 में रामसहाय ने किया था एक नाबालिग का अपहरण 

जानकारी के मुताबिक डकैत रामसहाय गुर्जर ने 14 जनवरी 2023 को श्योपुर जिले में विजयपुर थाना क्षेत्र के जंगल से तीन लोगों का अपहरण किया था। इसके बाद उस पर 30 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया। इसके बाद 15 फरवरी को प्रशासन ने विजयपुर स्थित उसके अवैध मकानों पर बुलडोजर भी चलाया था। गुर्जर के गैंग ने मुरैना के साथ धौलपुर में भी वारदातों को अंजाम दिया है। पहली बार वह ग्वालियर के जंगल में मूवमेंट करता नजर आया है। बता दें कि रामसहाय राजस्थान के कुदिन्ना साहपुरा का रहने वाला है। उसकी बुआ भंवरपुरा में रहती है। पुलिस के मुताबिक, राजस्थान में डकैत जगन गुर्जर से दुश्मनी के बाद रामसहाय ने बुआ के यहां लंबा समय बिताया था। 2022 में उसने एक नाबालिग बच्ची का अपहरण किया था। पुलिस ने उसे पकड़ा भी था, लेकिन जमानत मिलने के बाद वह दोबारा पुलिस के हाथ नहीं आ सका।

यह खबर भी पढ़ें - आज का राशिफल, इन पर होगी गणेश जी की कृपा, जानिए कौन सी हैं वो राशियां

पुलिस जल्द ही डकैत गिरोह को करेगी गिरफ्तार 

पुलिस का कहना है कि डकैत रामसहाय गुर्जर के गिरोह में उसके अलावा चार सदस्य हैं। गिरोह के पास 315 बोर की बंदूकें हैं। पुलिस को आशंका है कि भंवरपुरा और आरोन के आसपास उसकी मूवमेंट किसी बड़ी वारदात के लिए भी हो सकती है। ग्वालियर एसएसपी राजेश चंदेल का कहना है कि पुलिस लगातार सर्चिंग कर रही है। जल्द ही डकैत गिरोह को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ग्वालियर चंबल