भोपाल पुलिस लगाएगी अलीगढ़ी हथकड़ी, 20 लाख में खरीदीं 5 हजार नई हथकड़ियां

नई अलीगढ़ी हथकड़ियों को पुलिस ट्रेनिंग स्कूल और पुलिस अकादमियों में भेजा जाएगा, ताकि नए कैडेट्स को इनके इस्तेमाल की प्रक्रिया और जरूरी कानून के बारे में ट्रेनिंग दी जा सके....

author-image
Deeksha Nandini Mehra
New Update
अलीगढ़ी हथकड़ी

Madhya Pradesh police bought Aligarhi handcuffs

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

Madhya Pradesh police bought Aligarhi handcuffs : मध्य प्रदेश पुलिस ने 20 लाख रुपए में पांच हजार नई हथकड़ियां खरीदी हैं। ये सभी हथकड़ियां अलीगढ़ से मंगाई गई हैं। इसके लिए शासन ने 20 लाख रुपए अदा किए हैं। अलीगढ़ से खरीदी गईं ये हथकड़ियां जल्द प्रदेश के थानों में अलॉट की जाएंगी। हालांकि, 8 साल पहले हुई खरीदी के मुकाबले इस बार हथकड़ी करीब 200 रुपए ज्यादा दाम पर मिली हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इन 8 सालों में लोहे की कीमतें भी बढ़ी हैं। खास पहलू ये भी है कि देश समेत मध्य प्रदेश में भी एक जुलाई से लागू हो रहे नए कानूनों के तहत इन हथकड़ियों की जरूरत ज्यादा पड़ने वाली है।

ये खबर पढ़िए ...मध्य प्रदेश के कई जिलों में भयंकर लू चलने को लेकर IMD का ऑरेंज अलर्ट, ग्वालियर-दतिया समेत 16 जिलों में लू का अलर्ट

मध्य प्रदेश पुलिस फिलहाल पुरानी हथकड़ियां इस्तेमाल कर रही है। इनमें ज्यादातर ऐसी हैं, जिनके बार-बार इस्तेमाल से दांते घिस गए हैं। कुछ तो ऐसी भी हैं, जिन्हें आरोपी जरा सी कोशिश से भी खोलकर फरार हो चुके हैं। इससे पहले MP पुलिस ने साल 2016 में करीब 8000 हथकड़ियां खरीदी थीं। तब इन्हें 213 रुपए प्रति नग की दर से खरीदा गया था। फिलहाल नई हथकड़ियां थानों को अलॉट नहीं की गई हैं। इन्हें पुलिस ट्रेनिंग स्कूलों और पुलिस अकादमियों में भी भेजा जाएगा। ताकि नए कैडेट्स को इनके इस्तेमाल की प्रक्रिया और जरूरी कानून के बारे में ट्रेनिंग दी जा सके।

सात अलग-अलग साइज की हथकड़ियां 

अलीगढ़ का नाम ताले बनाने में जाना जाता है लेकिन हथकड़ी के लिए भी इसकी पहचान है। मध्य प्रदेश पुलिस ने हथकड़ियां 7 अलग-अलग साइज की खरीदी हैं। तय मानकों के मुताबिक वयस्क व्यक्तियों की कलाई इतने ही प्रकार की होती हैं। हालांकि, हथकड़ियों के दांते ऐसे हैं जो मोटी- पतली दोनों तरह की कलाइयों में फिट हो सकते हैं।



डीसीपी प्रियंका शुक्ला ने बताया कि भारतीय न्याय संहिता (बीएनएस) में आरोपियों को हथकड़ी लगाने के हक एक बार फिर पुलिस को मिल रहे हैं। अब तक सुप्रीम कोर्ट के कुछ आदेशों के कारण पाबंदियां थीं। मौजूदा परिस्थितियों में किसी आरोपी को हथकड़ी लगाने से पहले पुलिस को कोर्ट से अनुमति लेनी होती है।

इन मामलों में मिले अधिकार : आदतन अपराधी, पुलिस अभिरक्षा से भाग सकने या भाग चुका आरोपी, संगठित अपराध का आरोपी, आतंकी कृत्य, अवैध हथियार के आरोपी, हत्या के आरोपी, दुष्कर्म का आरोपी, एसिड अटैक, नकली नोट मामले, पॉक्सो एक्ट के आरोपी।

अलीगढ़ी हथकड़ी | भोपाल पुलिस | DCP Priyanka Shukla

thesootr links

 सबसे पहले और सबसे बेहतर खबरें पाने के लिए thesootr के व्हाट्सएप चैनल को Follow करना न भूलें। join करने के लिए इसी लाइन पर क्लिक करें

द सूत्र की खबरें आपको कैसी लगती हैं? Google my Business पर हमें कमेंट के साथ रिव्यू दें। कमेंट करने के लिए इसी लिंक पर क्लिक करें

भोपाल पुलिस अलीगढ़ी हथकड़ी Aligarhi Handcuffs डीसीपी प्रियंका शुक्ला DCP Priyanka Shukla