बेटे से वोट डलवाने वाले भोपाल के BJP नेता पर FIR , पीठासीन अधिकारी समेत पूरी पोलिंग पार्टी सस्पेंड, हेड कांस्टेबल लाइन अटैच

लोकसभा चुनाव में अपने बेटे से वोट डलवाने वाले बीजेपी नेता जिला पंचायत सदस्य सहित पोलिंग टीम पर कार्रवाई की गई है। लोकतंत्र का मजाक बनाने वाली इस घटना को 'द सूत्र' ने सबसे पहले ब्रेक किया था। इसके बाद ही यह कार्रवाई की गई है।

author-image
Pratibha ranaa
एडिट
New Update
बेटे से वोट डलवाने वाले भोपाल के BJP नेता पर FIR द सूत्र
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. लोकसभा चुनाव के लिए 7 मई को हुई वोटिंग में अपने बेटे से वोट डलवाने वाले भोपाल जिपं सदस्य विनय मेहर के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है। इसके साथ ही पीठासीन अधिकारी समेत पूरी पोलिंग पार्टी सस्पेंड व हेड कांस्टेबल को लाइन अटैच कर दिया गया है।

बेटे से वोट डलवाते वक्त वीडियो भी बनाया

मध्यप्रदेश में EVM मानो खिलौना बन गई है। राजधानी भोपाल में ईवीएम से जुड़ा एक अजब मामला सामने आया है। यहां एक नेता ने ईवीएम से नाबालिग का वोट डलवाया है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। कांग्रेस ने इस मामले में सवाल उठाते हुए कार्रवाई की मांग की है।

कांग्रेस नेता पीयूष बबेले ने अपने एक्स अकाउंट पर वीडियो पोस्ट कर लिखा, 'भाजपा ने चुनाव आयोग को बच्चों का खिलवाड़ बना दिया है। भोपाल में भाजपा के जिला पंचायत सदस्य विनय मेहर ने नाबालिग बेटे से वोट डलवाया। वोट डालते वक्त का विनय ने वीडियो भी बनाया है। वीडियो फेसबुक पर विनय मेहर ने किया पोस्ट है।

RIP Election Commission of India

पीयूष बबेले की पोस्ट पर कई लोगों ने प्रतिक्रिया दी। एक यूजर ने लिखा, RIP Election Commission of India। दूसरे यूजर ने लिखा कि भाजपा के हैं,कोई कार्रवाई नहीं होगी। पोस्ट पर अन्य यूजर्स ने भी इसी तरह के कमेंट किए हैं। 

दिग्विजय सिंह ईवीएम पर उठा चुके सवाल 

लोकसभा चुनाव के बीच मध्यप्रदेश में ईवीएम का लेकर सियासी भी मचा हुआ है। ऐसे समय में ईवीएम को लेकर यह वीडियो सामने आने के बाद कांग्रेस अब बीजेपी पर हमलावर हो गई है। इससे पहले दिग्विजय सिंह ने भी ईवीएम पर सवाल उठाए थे।

EVM पर उठते रहे हैं सवाल

गौरतलब है कि EVM अब चुनाव प्रक्रिया का महत्वपूर्ण हिस्सा है। करीब दो दशक से हर संसदीय और विधानसभा चुनाव में ईवीएम का इस्तेमाल किया जा रहा है।  45 साल के इतिहास में EVM को शंकाओं, आलोचनाओं और आरोपों का भी सामना करना पड़ा है।

ये खबर भी पढ़िए...कमलेश्वर डोडियार BJP में जाएंगे? MP के सबसे गरीब विधायक ने कर दिया ये बड़ा खुलासा...

EVM ईवीएम पोलिंग पार्टी सस्पेंड