पुलिस मुख्यालय में महिला को पीछे से पकड़ लिया SI ने, चिल्लाई तब जाकर...

मध्य प्रदेश के पुलिस मुख्यालय से एक शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां महिला सफाई कर्मी के साथ एक इंस्पेक्टर छेड़छाड़ करता पकड़ा गया है...

author-image
Shreya Nakade
एडिट
New Update
एसआई की महिला सफाई कर्मी से बदसलुकी
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

महिला सुरक्षा के मामले में मध्य प्रदेश से फिर से परेशान करने वाली घटना सामने आई है। दूर- दराज के इलाके तो छोड़िए पुलिस मुख्यालय में भी अब महिलाएं सुरक्षित नहीं है। बीते दिनों सीधी रेप कांड के खुलासे के बाद अब महिलाओं के साथ छेड़-छाड़ की आग राजधानी स्थित पुलिस मुख्यालय तक भी पहुंच गई है। रविवार को भोपाल स्थित मध्य प्रदेश पुलिस मुख्यालय में एक एसआई के महिला सफाई कर्मी से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है।

एसआई ने सफाई कर्मी से की छेड़-छाड़

महिला से बदसलूकी का मामला मध्य प्रदेश पुलिस मुख्यालय की इंटेलिजेंस विंग के तहत आने वाले स्टेट सिचुएशन सेंटर का है। रविवार सुबह एक महिला सफाई कर्मी दफ्तर के अंदर सफाई करने पहुंची थी। इस समय एसआई पीयूष मणि तिवारी कमरे में ही मौजूद था। सफाईकर्मी ने उसे बाहर जाने कहा। इस पर एसआई तिवारी ने महिला से सफाई जारी रखने को कहा, वह बाहर नहीं गया।

थोड़ी देर बार एसआई ने मौका देखते ही पीछे से महिला सफाईकर्मी को पकड़ लिया। महिला के विरोध करने के बाद भी एसआई ने उसे नहीं छोड़ा साथ ही पीयूष मणि तिवारी महिला के साथ बदतमीजी करने लगा। महिला के शोर मचाने पर पुलिस मुख्यालय के अन्य लोग वहां पहुंच गए। लोगों ने महिला को एसआई के चंगुल से छुड़ाया। घटना के बाद महिला पुलिसकर्मी ने जहांगीराबाद थाने में एसआई के खिलाफ आवेदन दिया है। 

ये खबर भी पढ़िए...

बच्चे थे मामा- मौसी के घर और स्कूलों ने बांट दिया मिड-डे-मील

SI को सस्पेंड कर दिया है

इंटेलिजेंस विंग के आईजी अंशुमान सिंह ने द सूत्र को बताया कि उन्हें इस मामले में सुपरवाइजर की ओर से लिखित में सूचना मिली है। मामला बेहद गंभीर है, इसलिए तत्काल प्रभाव से संबंधित सब इंस्पेक्टर पीयूष मणि तिवारी को सस्पेंड कर दिया है। इस मामले की विभागीय जांच भी शुरू कर दी गई है। पीड़ित महिला FIR करने के लिए स्वतंत्र है। पुलिस नियमानुसार कार्यवाही करेगी।

क्या है स्टेट सिचुएशन सेंटर ?

स्टेट इंटेलिजेंस विंग के तहत आने वाला स्टेट सिचुएशन सेंटर, पुलिस की एक बेहद महत्वपूर्ण शाखा होती है। पूरे प्रदेश की हर हरकत पर इस इस शाखा के अधिकारी- कर्मचारी बेहद पैनी नजर रखते हैं। नेताओं के दौरों, सभाओं और  लॉ- एंड ऑर्डर की स्थिति पर इस विंग की पहनी नजर रहती है। इसके अलावा जरूरत पड़ने पर वीडियो रिकॉर्डिंग्स की फीड लेने की जिम्मेदारी भी इनके पास रहती है। संदेह होने पर यह विंग संबंधित व्यक्तियों की कॉल रिकॉर्डिंग भी करती है। संक्षेप में कहें तो प्रदेश की नब्ज पर इस विंग की पैनी नजर रहती है। यह विंग 24 घंटे काम करती है, जिसमें हर समय 8 से 10 लोग सक्रिय रूप से काम करते हैं।

thesootr links

 

 सबसे पहले और सबसे बेहतर खबरें पाने के लिए thesootr के व्हाट्सएप चैनल को Follow करना न भूलें। join करने के लिए इसी लाइन पर क्लिक करें

द सूत्र की खबरें आपको कैसी लगती हैं? Google my Business पर हमें कमेंट के साथ रिव्यू दें। कमेंट करने के लिए इसी लिंक पर क्लिक करें

महिला सुरक्षा पुलिस मुख्यालय एसआई ने सफाई कर्मी से की छेड़-छाड़ पीयूष मणि तिवारी महिला के साथ बदतमीजी क्या है स्टेट इंटेलिजेंस विंग पुलिस मुख्यालय में ही महिला