अंगदान करने वाले शख्स का राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

सीएम पटनायक का कहना है कि "जो लोग मृत्यु के बाद अपने अंगों का दान करके दूसरों को जीवनदान देते हैं, वे सच्चे नायक हैं। उनका बलिदान अमूल्य है और समाज हमेशा उनका ऋणी रहेगा।

author-image
Pooja Kumari
New Update
CM Naveen Patnayak
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00



BHOPAL. ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने आज यानी 15 फरवरी को बड़ी घोषणा की। सीएम पटनायक का कहना है कि राज्य में ऑर्गन डोनेट करने वाले व्यक्तियों का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। जोकि एक अच्छी पहल है। बता दें कि ये फैसला अंगदान को बढ़ावा देने और समाज में इसके प्रति जागरूकता फैलाने के लिए उठाया गया है।

यह खबर भी पढ़ें - कांग्रेस का केंद्र पर बड़ा आरोप, बोले- पार्टी से जुड़े खाते हुए बंद, 210 करोड़ की रिकवरी के दिए आदेश

CM Naveen Patnayak

जानिए सीएम पटनायक ने क्या कहा

सीएम पटनायक का कहना है कि "जो लोग मृत्यु के बाद अपने अंगों का दान करके दूसरों को जीवनदान देते हैं, वे सच्चे नायक हैं। उनका बलिदान अमूल्य है और समाज हमेशा उनका ऋणी रहेगा। राजकीय सम्मान देकर हम उनके त्याग को सम्मानित करना चाहते हैं, साथ ही आने वाले समय में समाज में रह रहे लोगों को भी अंगदान के लिए प्रोत्साहित करेंगे। 

यह खबर भी पढ़ें - किसान आंदोलन समर्थन में आज भारत बंद, छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान भी

लोगों के मन में अगदान को लेकर गलतफहमियां 

बताया जा रहा है ति ये घोषणा ऐसे समय में की गई है जब देश में अंगदान की दर काफी कम है। कई लोगों में अंगदान को लेकर गलतफहमियां हैं, जिस वजह से वे अपना अंग दान करने से घबराते हैं। ऐसे में ओडिशा सीएम द्वारा उठाए गए इस पहल से लोगों में अंगदान के प्रति जागरूकता बढ़ेगी और ये एक नेक काम के रूप में देखा जाएगा। राजकीय सम्मान में क्या-क्या शामिल होगा, इसका अभी तक औपचारिक रूप से ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन संभावना है कि इसमें सरकारी प्रोटोकॉल के अनुसार अंतिम संस्कार, पुलिस की सलामी और शहीदों को दिए जाने वाले अन्य सम्मान शामिल होंगे।

यह खबर भी पढ़ें - रायबरेली वालों के लिए सोनिया ने लिखी चिट्ठी, जानिए क्या लिखा ?

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने की सीएम के इस पहल की सराहना 

ओडिशा सरकार द्वारा उठाए इस पहल की सराहना करते हुए स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कहा कि इससे अंगदान को बढ़ावा मिलेगा और कई लोगों की जान बचाई जा सकेगी। सामाजिक कार्यकर्ताओं का भी मानना है कि ये फैसला एक सकारात्मक कदम है और इससे लोगों को अंगदान के लिए प्रेरित किया जा सकता है।

यह खबर भी पढ़ें - क्या है MSP? इस पर किसानों की मांगें मान ले तो सरकार और खजाने पर क्या-क्या फर्क पड़ेगा?

CM Naveen Patnayak