अबकी बार 400 पार या INDIA की सरकार ? आज शाम एग्जिट पोल बताएंगे अनुमान

EXIT POLL मतदान करने वालों का मूड बताता है। 2019 के लोकसभा चुनाव में एग्जिट पोल ने एनडीए की पूर्ण बहुमत से सरकार बनने का दावा किया था। हालांकि यूपीए के 100 से कम सीटों पर सिमटने का अनुमान कोई एग्जिट पोल नहीं लगा पाया था...

author-image
Shreya Nakade
एडिट
New Update
लोकसभा चुनाव 2024 एग्जिट पोल
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

आज भारत में लोकसभा चुनाव 2024 के आखिरी चरण का मतदान है। मतदान समाप्त होते ही शाम 6:30 बजे से लोकसभा चुनाव 2024 के एग्जिट पोल ( lok sabha election 2024 exit poll ) जारी हो जाएंगे। एग्जिट पोल, मतलब मतदान किए हुए मतदाताओं का वह सर्वे, जिससे विजेता का अनुमान लगाया जा सके। यह एग्जिट पोल खास इसलिए होता है, क्योंकि इससे नतीजे के दिन जीतने वाली पार्टी का पता चलता है। लेकिन हर बार यह सवाल जरूर उठता है कि एग्जिट पोल कितना सटीक आकलन कर पाते हैं । 

क्या है जनता के मन में, शाम को पता चलेगा 

इस बार जनता के मन में क्या है? मध्य प्रदेश की जनता का मन किसके साथ है? यह जानने का इंतजार अब खत्म होने वाला है। आज शाम इंडिया टुडे एक्सिस मॉय इंडिया, एबीपी न्यूज सी-वोटर समेत सभी प्रमुख न्यूज चैनल सर्वे यानी एग्जिट पोल दिखाएंगे। 1 जून 2024 को शाम 6 बजे अंतिम मतदान होने के बाद, उसी दिन शाम 6.30 बजे के बाद से एग्जिट पोल दिखाए जा सकेंगे। निर्वाचन आयोग की ओर से उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार, जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 126 A के तहत 19 अप्रैल सुबह 7 बजे से 1 जून 6.30 बजे तक एग्जिट पोल पर बैन था।

पिछले तीन चुनावों के एग्जिट पोल और नतीजों की ओर देखें तो एग्जिट पोल नतीजों के बारे में सटीक अनुमान लगाने का प्रयास करते हैं। 2009, 2014 और 2019 के एग्जिट पोल को देखकर समझते हैं कि इन पोल्स में कितनी सच्चाई होती है। 

ये खबर भी पढ़िए...

लोकसभा चुनाव 2024 के आखिरी चरण के लिए वोटिंग आज, 8 राज्यों की 57 सीटों पर वोटिंग शुरू

2019 : अनुमान से बेहतर था NDA का प्रदर्शन

2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा गठबंधन की वापसी और यूपीए के निराशाजनक प्रदर्शन का दावा तो सभी एग्जिट पोल्स ने ठोका था। हालांकि ज्यादातर एग्जिट पोल्स ने एनडीए को 300 पार नहीं पहुंचाया था। 2014 में 300 पार जाने के बाद भी कई एग्जिट पोल 2019 में एंटी इनकंबेंसी का दावा कर रहे थे। इसी तरह किसी पोल ने यूपीए को भी 100 से कम सीटें नहीं दी थीं। जबकि अलायंस ने 2014 में कुल 66 सीटें ही जीती थीं। कई एग्जिट पोल यूपीए की सीटों में दोगुनी बढ़ोतरी का भी दावा कर रहे थे। नतीजों के बाद कांग्रेस गठबंधन की सीट्स में बढ़ोतरी तो हुई पर कांग्रेस का अलायंस 100 के पार नहीं जा पाया। भाजपा अलायंस की सीटें 336 से बढ़कर 352 हो गईं। भाजपा को अकेले 303 सीटें मिलीं। 

2019 के एग्जिट पोल परिणाम से कितने करीब थे? 

  1. इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया चैनल ने भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए की भारी जीत की भविष्यवाणी की, जिसके अनुसार एनडीए को 339 से 365 सीटें मिलेंगी, जबकि यूपीए को 77-108 सीटें मिलने का अनुमान था। चैनल के अनुसार, उनकी कार्यप्रणाली में सभी निर्वाचन क्षेत्रों में लगभग 8,00,000 लोगों का सर्वेक्षण शामिल था।
  2. न्यूज़ 24-टुडेज़ चाणक्य ने कहा था कि एनडीए लगभग 350 सीटें जीतेगा (14 कम या ज्यादा) जबकि यूपीए - 95 (9 कम या ज्यादा)।
  3. न्यूज़18-आईपीएसओएस 2019 के चुनावों में एनडीए को 336 सीटें मिलने का अनुमान है। उनके सर्वेक्षण में यूपीए को 82 सीटें और अन्य दलों को 124 सीटें मिलने का अनुमान था।
  4. टाइम्स नाउ-वीएमआर के अनुसार, एनडीए को लगभग 306 सीटें जीतने का अनुमान था, जबकि यूपीए को 132 सीटें (सभी अनुमानों के लिए 3 की त्रुटि के मार्जिन के साथ) जीतने का अनुमान था।
  5. इंडिया टीवी-सीएनएक्स सर्वेक्षण में एनडीए को 300 सीटें (10 सीटें कम या ज्यादा) और यूपीए को 120 सीटें (5 सीटें कम या ज्यादा) मिलने का अनुमान लगाया गया था।
  6. एबीपी-सीएसडीएस सर्वेक्षण में एनडीए को 277 सीटें और यूपीए को 130 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था।
  7. इंडिया न्यूज़-पोलस्ट्रैटएनडीए को 287 और यूपीए को 128 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था।
  8. सी-वोटर ने एनडीए  को 287, यूपीए को 128 और शेष सीटें अन्य दलों को मिलने का अनुमान लगाया था।

2019 एग्जिट पोल 

गठबंधन

India Today Axis My India

Times Now

CVOTER

ABP Nielsen

India Today E-Chuna

एनडीए

339-365

306

287

277

326

यूपीए

77-108

132

128

130

112

अन्य

69-95 

104 

127

135

105

 

लोकसभा चुनाव 2019 नतीजे

पार्टी

सीटें

भाजपा

303

कांग्रेस

52

 

लोकसभा चुनाव 2019 नतीजे

गठबंधन

सीटें

एनडीए

352

यूपीए

91

अन्य 

100

कुल

543

ये खबर भी पढ़िए...

मध्य प्रदेश में BJP के क्लीन स्वीप के आड़े आईं ये छह सीटें, क्या यहां जीतेगी कांग्रेस?

2014 : सिमट गया UPA 

2014 में भाजपा गठबंधन की सत्ता की उम्मीद सभी एग्जिट पोल ने जताई थी। हालांकि बहुत कम ने 300 पार जाने का दावा किया था। वहीं कांग्रेस गठबंधन की कम होती सीटों का अनुमान भी सभी एग्जिट पोल ने लगाया था। किसी भी एग्जिट पोल में अलायंस को 150 से ज्यादा सीटें नहीं दी गई थीं। अलायंस 147 सीटों पर सिमट गया था। कांग्रेस पार्टी के खाते में सिर्फ 44 सीटें आईं। भाजपा और उसके सहयोगी दलों ने 336 सीटें जीतकर सरकार बनाई। 2014 में हुआ एग्जिट पोल काफी मायनों में सटीक रहा। 

2014 एग्जिट पोल 

गठबंधन

CNN-IBN – CSDS–Lokniti

India Today–Cicero

News 24–Chanakya

Times Now–ORG

ABP News–Nielsen

NDTV–Hansa Research

एनडीए

276

272

340

249

274

279

यूपीए

97

115

70

148

97

103

अन्य

148

156

133

146

165

161

 

लोकसभा चुनाव 2014 नतीजे

गठबंधन

सीटें

एनडीए

336

यूपीए

66

अन्य 

147

कुल

543

 

लोकसभा चुनाव 2014 नतीजे

पार्टी

सीटें

भाजपा

282

कांग्रेस

44

ये खबर भी पढ़िए...

लोकसभा में मप्र को लेकर क्यों सटीक बैठते हैं एग्जिट पोल , जानें इस बार कब जारी होगा सर्वे

2009 : 50-50 के बीच UPA को जीत

2009 के लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल एनडीए या यूपीए को बहुमत देते नहीं दिख रहे थे, हुआ भी ऐसा ही। भाजपा और कांग्रेस दोनों के ही गठबंधन को बहुमत नहीं मिला। हालांकि एग्जिट पोल के हिसाब से कांग्रेस का अलायंस 250 सीटें भी नहीं जीत रहा था पर नतीजों में यूपीए ने 262 सीटें अपने नाम करी। इसके अलावा बीजेपी के एनडीए अलायंस को सभी एग्जिट पोल 200 के करीब सीटें मिलने का दावा कर रहे थे। जबकि अलायंस 159 सीटें जीत पाई। यूपीए ने बहुमत के लिए क्षेत्रिय पार्टियों से जरूरी समर्थन जुटाकर अपनी सरकार बनाई। मोटे तौर पर तो यह पोल भी सही साबित हुए थे। 

2009 एग्जिट पोल 

गठबंधन

CNN-IBN – Dainik Bhaskar

Star-Nielsen

India TV – CVoter

एनडीए

165–185

196

183–195

यूपीए

185–205

199

189–201

थर्ड फ्रंट

110–130

100

105–121

फोर्थ फ्रंट

25–35



36

-

 

लोकसभा चुनाव 2009 नतीजे

गठबंधन

सीटें

एनडीए

159

यूपीए

262

थर्ड फ्रंट

79

फोर्थ फ्रंट

27

 

लोकसभा चुनाव 2009 नतीजे

पार्टी

सीटें

भाजपा

206

कांग्रेस

116

 

पिछले तीन लोकसभा चुनावों के एग्जिट पोल और नतीजों को देखें, तो इसमें समानता दिखाई देती है। एग्जिट पोल जनता का मूड समझने में सफल रहे हैं। जीत और हार का दावा तो यह एग्जिट पोल सही करते आए हैं। हालांकि सीटों की गिनती में समस्या रही है। खासतौर पर 2019 में भाजपा को 300 पार और एनडीए को 350 पार का अनुमान ज्यादातर पोल्स ने नहीं लगाया था। इसी तरह 2019 में यूपीए की 100 से कम सीटें आने का आकलन भी कोई पोल नहीं कर पाए थे। ऐसे में जीत और हार के लिए इन पोल्स पर निर्भर किया जा सकता है। हालांकि सीटों की गिनती के मामले में इनकी सटीकता अभी सर्वश्रेष्ठ नहीं है। 

ये खबर भी पढ़िए...

जिसका मंगल प्रबल उसकी होगी कुर्सी, लोकसभा चुनाव नतीजों पर और क्या कह रहे हैं देश के बड़े ज्योतिष

एग्जिट पोल क्या होता है ?

एग्जिट पोल चुनाव के अंतिम दिन मतदाताओं के पास जाकर उनसे उनके वोट की प्राथमिकता को जानना है। इससे चुनाव परिणामों का पूर्वानुमान लगाया जाता है। एग्जिट पोल में एक सर्वे किया जाता है, जिसमें वोटर्स से कई सवाल किए जाते हैं। सर्वे करने वाली टीम पोलिंग स्टेशन के बाहर लोगों से सवाल करती है। उनसे पूछा जाता है कि उन्होंने किसे वोट दिया। इस सर्वे का विष्लेशन करके एग्जिट पोल तैयार होता है।

ये वीडियो भी देखें...

Health Insurance : किस उम्र में Health Insurance लेना होता है सही ?

एग्जिट पोल की गाइडलाइंस 

एग्जिट पोल को लेकर भारत में पहली बार 1998 में गाइडलाइंस जारी हुई थीं। रिप्रेजेंटेशन ऑफ पीपुल्स एक्ट 1951 के मुताबिक,एग्जिट पोल के नतीजे चुनाव के सभी चरण खत्म होने के बाद ही दिखाए जा सकते हैं। आखिरी चरण का चुनाव खत्म होने के आधे घंटे बाद एग्जिट पोल के नतीजे दिखाए जा सकते हैं। इस नियम का उल्लंघन करने पर  2 साल तक की कैद या जुर्माना या फिर दोनों की सजा हो सकती है।

 

एग्जिट पोल exit poll 2019 लोकसभा चुनाव लोकसभा चुनाव 2024 के एग्जिट पोल lok sabha election 2024 exit poll एग्जिट पोल कितना सटीक आकलन कर पाते हैं एग्जिट पोल कितना सटीक आकलन एग्जिट पोल क्या होता है एग्जिट पोल की गाइडलाइंस