Advertisment

अयोध्या जाएगी पैलेस ऑन व्हील्स, मेन्यू में रहेगा शाकाहारी भोजन

अब तक इस ट्रेन का संचालन आरटीडीसी करता था। पैलेस ऑन व्हील्स के डायरेक्टर प्रदीप बोहरा का कहना है कि अब सात साल के लिए इस ट्रेन को निजी हाथ में दिया गया है। गुजरात की क्यूब कंस्ट्रक्शन कंपनी प्राइवेट लिमिटेड इसका संचालन कर रही है।

author-image
Pooja Kumari
New Update
Palace on Wheels

ये लग्जरी ट्रेन प्रदेश के टूरिस्ट प्लेस के साथ पहली बार धार्मिक यात्रा भी करवाएगी।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. दुनिया की दूसरी सबसे लग्जरी ट्रेन का खिताब अपने नाम करने वाली पैलेस ऑन व्हील्स ट्रेन के खाने और रूट में 42 साल बाद बदलाव होने जा रहा है। बता दें कि अब ये लग्जरी ट्रेन प्रदेश के टूरिस्ट प्लेस के साथ पहली बार धार्मिक यात्रा भी करवाएगी। इसकी शुरुआत अयोध्या में रामलला के दर्शन से होगी। साथ ही इस ट्रेन के मेन्यू में से अब नॉनवेज को भी हटाया जाएगा। इतना ही नहीं इसके अलावा भी ट्रेन में कई बदलाव किए जाएंगे। इसका दावा है कि आने वाले कुछ समय में ये ट्रेन पूरे साल चलाई जाएगी। 

Advertisment

अयोध्या जाने से पहले पढ़ें ये खबर, जानें अयोध्या घूमने से लेकर रामलला के दर्शन करने की सारी जानकारी...

मई से शुरू होगी सेवा 



बता दें कि अब तक इस ट्रेन का संचालन आरटीडीसी करता था। पैलेस ऑन व्हील्स के डायरेक्टर प्रदीप बोहरा का कहना है कि अब सात साल के लिए इस ट्रेन को निजी हाथ में दिया गया है। गुजरात की क्यूब कंस्ट्रक्शन कंपनी प्राइवेट लिमिटेड इसका संचालन कर रही है। जानकारी के मुताबिक अब ये धार्मिक यात्रा भी करवाएगी, जिसकी शुरुआत मई में होगी। 6 दिन की इस यात्रा की शुरुआत दिल्ली से होगी और ये दिल्ली से अयोध्या, वाराणसी, प्रयागराज, मथुरा और वृंदावन की धार्मिक यात्रा करवाएगी।

Advertisment

अयोध्या जाने वाली आस्था स्पेशल ट्रेनों में सिर्फ ग्रुप रिजर्वेशन, सिंगल-डबल यात्रियों को टिकट नहीं

मेन्यू में होगा बदलाव 



बोहरा का कहना है कि आमतौर पर अब तक इस ट्रेन में नॉनवेज और शराब भी परोसी जाती थी, क्योंकि इसमें देश-विदेश के सभी यात्री यात्रा करते थे, लेकिन अब इसके मेन्यू में बदलाव किया जाएगा। धार्मिक यात्रा के दौरान कंपनी मेन्यू में से नॉनवेज को हटाएगी। यात्रा के दौरान शराबी भी बैन रहेगी। जानकारी के मुताबिक यात्रियों को शुद्ध खाना परोसा जाएगा। यहां तक कि खाने में प्याज और लहसुन भी नहीं होगा। खास बात ये है कि ट्रेन जिन-जिन धार्मिक रूट से गुजरेगी, वहां के राम और कृष्ण धुन सुनाई देगी। साथ ही यात्रा के दौरान ट्रेन में सुबह-शाम भजन भी चलेंगे।

Advertisment

Ayodhya: Ram Mandir में जाने के लिए बेकाबू हुए भक्त | इस छोटी बच्ची की भक्ति देख मुस्कुरा देंगे आप!

12 महीने चलेगी अब ये ट्रेन 



इस ट्रेन का संचालन निजी हाथों में जाने के बाद इसमें दो बड़े बदलाव की भी तैयारी की जा रही है। अब तक आरटीडीसी 12 में से 8 महीने तक इस ट्रेन का संचालन करता था और बाकी के 4 महीने मेंटेनेंस के। जबकि गुजरात की कंपनी अब इसे 12 महीने चलाने की तैयारी कर रही है। इसका जल्दी ही रूट प्लान भी किया जाएगा। अभी 2 महीने तक धार्मिक यात्रा करवाई जाएगी। वहीं इस बार की धार्मिक यात्रा में लोकल टूरिस्ट को लेकर भी फोकस किया गया है। यानी कोई यात्री केवल अयोध्या या फिर प्रयागराज की ही यात्रा करना चाहता है तो वह भी कर सकेगा और इसके लिए स्पेशल डिस्काउंट भी दिया जा रहा है। इसकी बुकिंग कंपनी ने शुरू कर दी है।

Advertisment

आज से आम श्रद्धालुओं के लिए खुले राम मंदिर के कपाट, उमड़ी भक्तों की भारी भीड़, जाने दर्शन करने के लिए क्या रहेगी प्रोसेस-टाइमिंग

रेनोवेशन में लगे 7 करोड़ रुपए



गुजरात की क्यूब कंस्ट्रक्शन कंपनी ने आरटीडीसी के साथ एग्रीमेंट किया है। वर्तमान में इस ट्रेन के रेनोवेशन के लिए 7 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। आरटीडीसी से पैलेस ऑन व्हील रन करने के लिए निजी कंपनी ने हर वर्ष 5 करोड़ का एग्रीमेंट किया। इसके साथ ही टोटल टर्न ओवर का 18 प्रतिशत भी आरटीडीसी को मिलेगा। कंपनी ने इसकी जिम्मेदारी भी प्रदीप बोहरा को दी है। हाल ही में ​वे आरटीडीसी से रिटायर्ड हुए थे, जिसके बाद कंपनी ने उन्हें बतौर डायरेक्टर नियुक्त किया। बता दें कि लग्जरी ट्रेन में एक रात का सफर 70 हजार से 95 हजार रुपए तक होता है। इस ट्रेन के सेमी डिलक्स कोच का किराया 70 हजार है, वहीं डीलक्स कोच का किराया 95 हजार रुपए है। कुल 46 पैसेंजर इस ट्रेन में सफर कर सकते हैं। ये भारत की पहली लग्जरी ट्रेन है, जिसे 26 जनवरी 1982 को शुरू किया गया था।

राजस्थान की सबसे शाही ट्रेन



यह ट्रेन अब फोर्थ जेनरेशन में है यानी चार बार इसका रेनोवेशन हो चुका है। चौथा रेनोवेशन गुजरात की कंपनी ने करवाया है। यह ट्रेन फुल AC और वर्ल्ड क्लास सुविधाओं से लैस है। इस ट्रेन में AC कोच को सैलून नाम दिया गया है, बैडरुम, लाउंज, पेंट्री, किचन, डाइनिंग कार, वॉल टू वॉल कारपेंटिंग और व्यक्तिगत सेवाओं से लेकर स्टॉक बार जैसी तमाम विश्व स्तरीय सुविधाएं मौजूद हैं। ये राजस्थान की सबसे शाही ट्रेन है। जो पर्यटकों को राजस्थान की अलग-अलग जगहों की सैर कराती है। पैलेस ऑन व्हील्स ट्रेन का टूर प्लान 8 दिन और 7 रातों का होता है। ट्रेन दिल्ली से चलकर दूसरे दिन जयपुर, तीसरे दिन सवाईमाधोपुर और चित्तौड़गढ़ ले जाती है, चौथा दिन उदयपुर में, पांचवां दिन जैसलमेर, छठवां दिन जोधपुर में रहता है, सातवां दिन भरतपुर और आगरा के लिए होता है और आठवें दिन ट्रेन वापस दिल्ली पहुंचती है।

Ayodhya Ram Mandi
Advertisment
Advertisment