काम में लापरवाही करने वाले श्रम निरीक्षक और उप निरीक्षक सस्पेंड

श्रम निरीक्षक ने भोजन केंद्र बंद होने के संबंध में अधिकारियों को नहीं किया था सूचित। वहीं, श्रम उप निरीक्षक ने बिना चेक किए अपात्र हितग्राहियों के आवेदन कर दिए थे स्वीकृत।

author-image
Marut raj
New Update
the sootr
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

रायपुर. काम में लापरवाही बरतने के कारण दुर्ग जिले के श्रम निरीक्षक अमित चिराग और जांजगीर-चांपा जिले के श्रम उप निरीक्षक कैलाश साहू को सस्पेंड ( suspended ) कर दिया गया है। श्रम मंत्री लखन लाल देवांगन ने विभागीय कामकाज की समीक्षा के दौरान दोनों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

भोजन केन्द्र बंद होने की नहीं दी सूचना

मंत्री देवांगन ने समीक्षा के दौरान शहीद वीर नारायण सिंह श्रम अन्न योजना के तहत दुर्ग जिले के ग्राम अमलेश्वर में संचालित भोजन केन्द्र बिना सूचना के बंद पाए जाने और केन्द्र बंद होने की सूचना नहीं देने संबंधी अनियमितता के कारण भोजन केन्द्र निरीक्षण के लिए अधिकृत श्रम निरीक्षक अमित चिराग को तत्काल निलंबित किए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

ये खबरें भी पढ़ें...

CG Cabinet: छत्तीसगढ़ में बनेगा SIA, SP समेत 74 अफसर होंगे शामिल

CGPSC घोटाले की जांच करेगी CBI, सिलेक्शन List में भाई-भतीजावाद का आरोप

Chhattisgarh में महतारी वंदन योजना का पैसा अब 7 मार्च को नहीं मिलेगा, जानें क्या बोलीं मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े

Durg में धरने पर किसान, जबरन जमीन खोदने का जता रहे विरोध

आवेदन नहीं किए चेक

इसी प्रकार मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक आवास सहायता योजना के तहत् जिला जांजगीर-चांपा में निर्माण श्रमिकों से प्राप्त आवेदनों का नियमानुसार परीक्षण किए बिना योजना आवेदन को स्वीकृत करने की अनुशंसा के कारण अपात्र हितग्राहियों को देय राशि की वसूली से शासन की छवि खराब होने और गलत अनुशंसा करने के कारण संबधित श्रम उप निरीक्षक कैलाश साहू को तत्काल निलंबित करने के निर्देश भी दिए। बैठक नवा रायपुर स्थित छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में श्रमायुक्त एवं सहसचिव अलरमेल मंगई डी, छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल की सचिव सविता मिश्रा, अपर श्रम आयुक्त एस.एल. जांगड़े सहित जिलों से आए श्रम विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Suspended उप निरीक्षक श्रम निरीक्षक