Durg में धरने पर किसान, जबरन जमीन खोदने का जता रहे विरोध

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के 21 गांवों के किसानों ने धरना प्रदर्शन किया है। किसानों का आरोप है GAIL (इंडिया) लिमिटेड द्वारा किसानों को मुआवजा राशि दिए बिना ही जबरन पाइप लाइन बिछाई जा रही है...

author-image
Sandeep Kumar
New Update
PIC

दुर्ग में 21 गांवों के किसान धरने पर बैठे

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

RAIPUR. दुर्ग जिला मुख्यालय (  Durg District Headquarters ) पर किसानों की तरफ से धरना- प्रदर्शन ( Demonstration ) करने का मामला सामने आया है। किसानों का आरोप है कि गेल इंडिया कंपनी (  GAIL India Company ) बिना मुआवजा और अनुमति के जबरदस्ती उनके खेतों को खोद रही है। किसानों ने मुआवजा राशि दिलाए जाने की मांग को लेकर हिंदी भवन ( Hindi bhavan ) के सामने धरना दिया। धरना प्रदर्शन में 21 गांव के किसान शामिल हुए। प्रदर्शन के बाद संभागायुक्त के नाम पर ज्ञापन सौंपते हुए मुआवजे की मांग की है। किसानों का कहना है कि यदि जल्द भुगतान नहीं हुआ तो चक्‍काजाम करेंगे। धरना को संबोधित करते हुए किसान नेता संदीप पटेल ने कहा कि गेल (इंडिया) लिमिटेड द्वारा गैस पाइपलाइन के लिए किए जा रहे कार्यों से जिले के किसान पिछले एक साल से पीड़ित हैं।

ये खबर भी पढ़िए...Chhattisgarh में ACB-EOW में बड़ा फेरबदल, सारे घर के ही बदल डाले

किसान नेताओं का दावा

किसान नेताओं (  Farmer leaders ) ने दावा किया है कि दुर्ग जिले (  Durg District ) के कई गांव में गेल इंडिया कंपनी की गैस पाइप लाइन गुजर रही है। कंपनी ने पहले तो किसानों से कहा कि वे लोग खेत में बस 4 फीट जगह लेंगे, लेकिन अब कंपनी किसानों की फसल के ऊपर गाड़ी चलाकर उनके खेत को खोद रही है। इस बात से नाराज जिले के 21 गांव के एक हजार से अधिक किसान जिला मुख्यालय में पिछले दो दिनों से धरना दे रहे हैं। किसान नेताओं ने बताया कि उन्होंने कलेक्टर दुर्ग को ज्ञापन सौंपकर उचित कार्रवाई की मांग की है। जब कलेक्टर ने उनकी मांग पर ध्यान नहीं दिया, तो उन्होंने संभागायुक्त को इस संबंध में ज्ञापन दिया है। किसानों का कहना है कि यदि उनकी नहीं सुनी गई, तो वे इसकी शिकायत ऊपर तक करेंगे और अंतिम फैसले तक लड़ाई लड़ेंगे।

ये खबर भी पढ़िए...Chhattisgarh: छुईखदान वाले पान ने खोला बंटूराम की किस्मत का ताला

881 किसानों की ली जा रही जमीन

गैस पाइप लाइन (  Gas pipeline ) बिछाने के लिए दुर्ग और धमधा ब्लॉक के 881 किसानों की जमीन ली जा रही है । जानकारी के मुताबिक गैस पाइप लाइन दुर्ग और धमधा ब्लॉक के 21 गांवों के 881 किसानों की जमीन से होकर जा रही है। टेमरी, रौता, खर्रा, हिर्री, परसदा, नवागांव, पथरिया, डोमा, अहेरी, बागडूमर, बानबरद, ढौर, हींगनडीह, अछोटी, गोढ़ी, ढौर, लहंगा, मलपूरीकला, अंजोरा, ननकट्टी, बोड़ेगांव, रवेलीडीह जैसे गांव में गैस पाइप लाइन बिछाने का काम जारी है।

ये खबर भी पढ़िए...महादेव सट्टा एप: ED ने कहा ब्लैक के 5000 करोड़ शेयर मार्केट में लगाए



किसानों की फसलों को रौंद रही कंपनी

धरने पर बैठे किसानों का दावा है कि जिले के किसान करीब 6 महीने से इसका विरोध कर रहे हैं। पिछले दिनों कंपनी के कर्मचारियों ने रवेली और बोड़ेगांव के आसपास किसानों से बिना पूछे उनके खेत की लगी फसल को गाड़ी से रौंद दिया और वहां पाइप लाइन के लिए खुदाई शुरू कर दी। करीब दो किलोमीटर पाइप लाइन बिछाने के बाद किसानों का विरोध उग्र हो गया, तो कंपनी के कर्मचारियों को काम बीच में रोककर लौटना पड़ा। 

ये खबर भी पढ़िए..VHP प्रखंड संयोजक को गोली मारने वाला AAP नेता रायपुर में गिरफ्तार

धरना-प्रदर्शन Hindi bhavan Durg District Headquarters GAIL India Company गैस पाइप लाइन