BJP ने की 212 शिकायतें, चुनाव आयोग किस पर करेगा कार्रवाई

मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव के दौरान मतदान प्रक्रिया में आने वाली गड़बड़ियों और परेशानियों को लेकर विधानसभा, लोकसभा, जिला और प्रदेश कार्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए थे। इनमें बीजेपी ने कुल 212 शिकायतें की हैं...

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
THESOOTR
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव के दौरान विधानसभा, लोकसभा क्षेत्र के साथ जिला और राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष में कुल 212 शिकायतें प्राप्त हुई हैं। इनमें से 141 शिकायतें राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष में प्राप्त हुई हैं, जिन्हें निराकरण के लिए निर्वाचन आयोग को प्रेषित कर दिया गया है। वहीं 14 शिकायतें ई-मेल द्वारा भारत निर्वाचन आयोग को गई तथा भाजपा ( BJP ) विधि प्रकोष्ठ द्वारा जिलों में 57 शिकायतें की गई हैं।

मध्यप्रदेश में अंतिम चरण के मतदान

मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव के चौथे और अंतिम चरण के मतदान के दौरान उज्जैन, इंदौर, रतलाम, मंदसौर, खण्डवा, खरगौन, धार और देवास लोकसभा क्षेत्रों में आज मतदान हो चुका है। मतदान प्रक्रिया में आने वाली गड़बड़ियों और परेशानियों को लेकर विधानसभा, लोकसभा, जिला और प्रदेश कार्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए थे। 

राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष में 212 शिकायतें मिली

बीजेपी प्रदेश कार्यालय में राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष में हर लोकसभा क्षेत्र के लिए दो-दो नेताओं और तीन-तीन अधिवक्ताओं को लगाया गया था। विधानसभा, लोकसभा क्षेत्र के साथ जिला और राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष में कुल 212 शिकायतें मिली हैं। इनमें से 141 शिकायतें राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष में प्राप्त हुई हैं, जिन्हें निराकरण के लिए निर्वाचन आयोग को प्रेषित कर दिया गया है। वहीं 14 शिकायतें ई-मेल द्वारा भारत निर्वाचन आयोग को गई तथा भाजपा विधि प्रकोष्ठ द्वारा जिलों में 57 शिकायतें की गई हैं।

सबसे अधिक इंदौर, सबसे कम खरगोन में की गई शिकायतें

लोकसभा के तीसरे चरण के मतदान को लेकर सबसे अधिक शिकायतें इंदौर लोकसभा क्षेत्र में प्राप्त हुई हैं, वहीं सबसे कम शिकायतें खरगोन लोकसभा क्षेत्र में की गई हैं। उज्जैन 15, मंदसौर 25, रतलाम 16, धार 08, इंदौर 36, खरगोन 05 और खण्डवा में 11 शिकायतें की गई हैं।

बीजेपी प्रदेश कार्यालय BJP निर्वाचन आयोग राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष