Advertisment

बात बंद करने से नाराज युवक ने महिला मित्र के फ्लैट में लगाई आग

मध्यप्रदेश के इंदौर में एक ब्वॉयफ्रेंड ने अपनी गर्लफ्रेंड से नाराज होकर उसके फ्लैट को ही आग लगा दी। ये हैरतअंगेज मामला इंदौर का ही है जहां कनाड़िया थाना क्षेत्र में ये घटना घटित हुई है।

author-image
Pooja Kumari
New Update
Indore
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. मध्यप्रदेश के इंदौर के कनाड़िया इलाके में एक युवक ने अपनी गर्लफ्रेंड के ही फ्लैट में आग लगा दी। इसके बाद इस आरोपी को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। जानकारी के मुताबिक आरोपी पिछले एक साल से महिला को परेशान कर रहा था। इसे लेकर पीड़िता ने थाने में शिकायत भी किया था। लेकिन पीड़िता ने जब एमआईजी थाने में केस दर्ज कराया तो, आरोपी के परिवारजनों ने महिला से माफी मांगकर मामले को खत्म करने की कोशिश की। लेकिन आरोपी इसके बाद भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। 

Advertisment

गुस्से में आकर फ्लैट में लगाया आग



पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया तो वह खुद को निर्दोष बताने लगा। उसका कहना है कि फ्लैट में पहले से आग लगी हुई थी, मैंने केवल उस आग को बुझाई है, लेकिन जब आरोपी को फुटेज दिखाए गए तो, उसने बताया कि महिला उससे बात नहीं कर रही थी, इसलिए उसने गुस्से में आकर फ्लैट में आग लगा दी। जानकारी के मुताबिक ये फ्लैट कनाड़िया के आलोक नगर में है। इस महिला की उम्र 34 साल बताई जा रही है। बता दें कि महिला का पति नहीं है। वह इस फ्लैट में अपने दो बेटे के साथ रहती थी। महिला का कहना है कि वो आरोपी उर्फ तरुण को पिछले तीन सालों से जानती है। आरोपी ने कई बार महिला को उसके साथ रहने के लिए दबाव बनाया है, लेकिन महिला इस बात को इनकार करती रही। इसका परिणाम ये हुआ। 

आरोपी ने 4 साल पहले अपनी पत्नी को छोड़ा

Advertisment



महिला ने बताया कि मैंने पिछले एक सालों से तरुण से बात करना बंद कर दिया था। इस दौरान आरोपी कई बार उसे कॉल करके परेशान भी करता था। पुलिस का कहना है कि आरोपी शादीशुदा है, उसके बच्चे भी है और उसने 4 साल पहले अपनी पत्नी को छोड़ दिया। वर्तमान में दोनों का केस चल रहा है। तरुण की हरकतें कथित रूप से मेंटल की तरह हैं। वह महिला के साथ में रहना चाहता है। महिला इस रिलेशनशिप के लिए राजी नहीं है। एक बार उसने नाराज होकर महिला पर हाथ भी उठा दिया था। जानकारी के मुताबिक आरोपी सनकी किस्म का आदमी है। उसके पिता फाइनेंस का काम करते हैं। एक भाई सुखलिया में मिठाई की दुकान चलाता हैं। घर के लोगों को कई बार उसे समझाने को कहा। शुरुआत में तो उन्होंने भी सपोर्ट किया। बाद में कहा कि तरुण से उनका कोई लेना-देना नहीं है।

तेरे फ्लैट में आग लगा दी है, जाकर देख ले

https://thesootr.com/state/instructions-to-start-payment-to-indore-hukamchand-mill-workers-in-three-days-hc-ask-for-final-compliance-report-on-26-feb/52670

Advertisment



महिला ने जब बात बंद किया तो उसने एक साल पहले उसके घर के आगे से कार चुरा लिया था। घर से 85 हजार रुपए भी निकाल कर ले गया। कनाड़िया थाने में शिकायत करने पर उसने कार लौटा दी थी। इतना ही नहीं, सात महीने पहले महिला एमआईजी इलाके में पार्सल लेने गई तो आरोपी ने जान से मारने की नीयत से कार से टक्कर मार दी। इस मामले में भी पीड़िता ने तरूण के खिलाफ एमआईजी थाने में केस दर्ज कराया था। महिला ने बताया बिल्डिंग में ही रहने वाली एक अन्य महिला के बेटे का बर्थडे होने के चलते वह पार्टी में गई थी। तब तरुण का कॉल आया। वह मिलने के लिए धमकाया। इनकार किया तो कहा कि तेरे फ्लैट में आग लगा दी है, जाकर देख ले। इस तरह आरोपी ने घटना (Crime)  को अंजाम दिया 

महिला ने कई थानों में लगाई गुहार 

https://thesootr.com/state/dispute-between-shukla-and-chadha-on-forming-indore-city-executive-executive-stuck-for-years/52666



मुझे पहले लगा कि सिर्फ धमकी दे रहा है। बिल्डिंग से कॉल आया तो पता चला कि घटना सही है। फ्लैट पर पहुंची तो सब कुछ तबाह हो चुका था। यहां पर करीब 21 फ्लैट हैं। सभी में परिवार रहते हैं। समय रहते आग नहीं बुझाई जाती तो बड़ा हादसा हो सकता था। पीड़िता ने बताया कि उनका आलोक नगर इलाके में कैफे है। यहां तरूण आता-जाता था। तीन साल पहले यहीं से बात शरू हुई थी। महिला ने बातचीत में तरूण को बता दिया कि वह पति से अलग है। इसके बाद आरोपी ने दोस्ती बढ़ाने की कोशिश की। लेकिन महिला ने इनकार कर दिया। महिला आरोपी को लेकर काफी समय से अलग-अलग थानों के चक्कर लगाती रही लेकिन सुनवाई नहीं हुई।

Indore Crime
Advertisment
Advertisment