Indore के 25.13 लाख, महू के 2.82 लाख voter 13 मई को चुनेंगे अपना सांसद

कलेक्टर आशीष सिंह ने कैश, ज्वेलरी लेकर कोई जा रहा है तो वह उससे संबंधित दस्तावेज लेकर चलें। अभी वही पर्याप्त है। बाद में जब चुनाव नामांकन की प्रक्रिया होगी तो एसएसटी लगेगी और तब और दिशा निर्देश जारी होंगे।

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
THESOOTR

इंदौर में कलेक्टर के साथ पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता, INDORE. लोकसभा चुनाव की तारीख आ चुकी है, पूरे मालवा-निमाड़ की सभी 8 सीटों पर एक साथ 13 मई को वोटिंग होगी। काउंटिंग 4 जून को होगी। इंदौर (Indore) सांसद के लिए 13 मई को आठ विधानसभाओं के 25 लाख 13 हजार 191 मतदाता (voter) वोट डालेंगे। वहीं इंदौर जिले की महू विधानसभा सीट के 2.82 लाख मतदाता धार एसटी सीट के लिए वोट डालेंगे। जिले के कुल मतदाता महू सीट के भी जोड़ लें तो 27 लाख 95 हजार 751 मतदाता है। 

कैश और ज्वेलरी लेकर चल रहे हैं तो दस्तावेज साथ रखें

कलेक्टर आशीष सिंह ने कैश, ज्वेलरी लेकर कोई जा रहा है तो वह उससे संबंधित दस्तावेज लेकर चलें। अभी वही पर्याप्त है। बाद में जब चुनाव नामांकन की प्रक्रिया होगी तो एसएसटी लगेगी और तब और दिशा निर्देश जारी होंगे।

ये खबरें भी पढ़ें... 

Lok Sabha elections 2024 : MP और CG में कब होगी वोटिंग, तारीख यहां देखें

श्रोत्रिय बने संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, देखिए किसे कहां भेजा

बीते चुनाव से 1.64 लाख मतदाता ज्यादा

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में इंदौर सीट के लिए कुल 23.49 लाख मतदाता था जिसमें से 69.33 फीसदी यानि 16.12 लाख ने ही वोटिंग की थी। बीजेपी के प्रत्याशी शंकर लालवानी को 10.68 लाख तो कांग्रेस के पंकज संघवी को मात्र 5.20 लाख वोट मिले थे। लालवानी 5.47 लाख की रिकार्ड वोट से जीते थे। वहीं इस बार 1.64 लाख मतदाता पांच साल में बढ़ चुके हैं और कुल 25.13 लाख वोट डालेंगे। 

कलेक्टर ने बोले 5 फीसदी वोटिंग बढ़ाना लक्ष्य

कलेक्टर सिंह ने कहा की आचार संहिता लागू हो गई है। बीते चुनाव में 69 से 70 फीसदी के मतदान हुआ था जो राष्ट्रीय औसत से कम था, इस बार हमारी कोशिश है कि 5 फीसदी कम से कम मतदान अवश्य बढ़े। इसके लिए लगातार मतदाता जागरूकता कार्यक्रम हो रहे हैं। वोटिंग में इंदौर को नंबर वन बनाने में हुआ था। 

85 से अधिक उम्र वालों व दिव्यांग को घर से वोटिंग की सुविधा

कलेक्टर ने कहा कि विधानसभा में 80 साल वालों व दिव्यांग को घर से वोटिगं सुविधा थी इस बार उम्र में 85 साल से अधिक उम्र की सीमा कर दी है। इसमें इंदौर में करीब 10600 मतदाता है और दिव्यांग में 13700 मतदाता है, इन सभी से संपर्क करेंगे कि वह घर से करना चाहते हैं या केंद्र पर जाकर, उनकी मंशानुसार व्यवस्था की जाएगी।

जिले में मतदाताओं का यह है उम्रवार ग्राफ...

  • 18 प्लस उम्र वाले नए मतदाता- 61, 298 मतदाता
  • 20-29 साल- 5.25 लाख
  • 30-39 साल- 6.70 लाख
  • 40-49 साल- 5.49 लाख
  • 50-59 साल- 3.65 लाख
  • 60-69 साल- 2.10 लाख
  • 70-79 साल- 98 हजार
  • 80-89 साल- 26806
  • 90-99 साल- 3440 
  • 100 से अधिक 161

विधानसभावार मतदाता

  • देपालपुर- 2.70 लाख
  • इंदौर एक- 3.69 लाख
  • इंदौर दो- 3.51 लाख
  • इंदौर तीन- 1.87 लाख
  • इंदौर चार- 2.42 लाख 
  • इंदौर पांच- 4.16 लाख
  • राऊ- 3.64 लाख
  • सांवेर- 3.06 लाख

मतदाताओं की यह है स्थिति... 

कुल मतदाता- 2513191 मतदाता

पुरूष मतदाता- 1268093 

महिला मतदाता- 1245001 

थर्ड जेंडर – 97

मतदान केंद्र- 2226 मूल व 173 सहायक केंद्र इस तरह कुल 2399 केंद्र

(धार सीट के लिए महू में 280 केंद्र है, इस तरह जिले में कुल मतदान केंद्र 2679 है)

चुनाव काम के लिए जिले में 32 हजार कर्मचारी उपलब्ध है जिसमें से 20 हजार 860 की जरूरत होगी।

चुनाव का यह रहेगा कार्यक्रम

  • नामांकन फार्म- 18 अप्रैल से भरे जाएंगे
  • नामांकन की अंतिम तारीख – 25 अप्रैल
  • स्क्रूटनी- 26 अप्रैल
  • नाम वापसी – 29 अप्रैल
  • वोटिंग- 13 मई
  • मतगणना-  4 जून
Indore Voter