Advertisment

राजस्थान में आएगा यूसीसी, आज नहीं तो कल आएगा UCC - मंत्री दिलावर

यूसीसी के लिए जयपुर में धरना दे चुकीं गुजरात की सामाजिक कार्यकर्ता तंजीम मेरानी को आज लिखी चिट्ठी में शिक्षा मंत्री ने UCC लाने की बात कही। उन्होंने कहा कि यूसीसी के संबंध में ड्राफ्ट कमेटी बनाने का विषय जल्द मंत्रिपरिषद की बैठक में रखा जाएगा।

author-image
Pooja Kumari
New Update
Madan Dilawar

सबके लिए समान कानून हो - मदन दिलावर

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. उत्तराखंड के बाद अब राजस्थान में भी समान नागरिक संहिता यानी यूसीसी (UCC) लाए जाने पर विचार किया जा रहा है। फिलहाल सरकार और पार्टी के स्तर पर विचार विमर्श चल रहा है। राजस्थान में यूसीसी (UCC) के लिए जल्द ड्राफ्ट कमेटी भी बनाई जाएगी। बता दें कि यूसीसी (UCC) के लिए ड्राफ्ट कमेटी बनाने का प्रस्ताव जल्द कैबिनेट में रखा जा सकता है। 

Advertisment

लिव-इन रिलेशनशिप के लिए कराना होगा रजिस्‍ट्रेशन, नहीं तो 6 माह की जेल

शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने यूसीसी (UCC) लाने की कही बात 



यूसीसी (UCC) के लिए जयपुर में धरना दे चुकीं गुजरात की सामाजिक कार्यकर्ता तंजीम मेरानी को आज लिखी चिट्ठी में शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने यूसीसी (UCC) लाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि समान नागरिक संहिता के संबंध में ड्राफ्ट कमेटी बनाने का विषय जल्द मंत्रिपरिषद की बैठक में रखा जाएगा। संवैधानिक प्रक्रिया के अनुरूप आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

Advertisment

UCC बिल उत्तराखंड विधानसभा में पेश, शादी-तलाक पर बदलेंगे नियम

राजस्थान में जल्द आएगी यूसीसी (UCC) 



शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने कहा- सबके लिए समान कानून होना ही चाहिए। अलग-अलग कानून होते हैं तो उससे नुकसान होते हैं। इससे एकरूपता और एकता दिखाई नहीं देती। पूरा देश एक होना चाहिए, देश में एकरूपता हो। सरकार आज नहीं तो कल यूसीसी (UCC) लाएगी, लेकिन कब लाती है, ये अभी नहीं कहा जा सकता। उत्तराखंड में यूसीसी (UCC) बिल पारित होने के बाद अब राजस्थान में भी इसकी तैयारी शुरू हो गई है। बीजेपी का कोर वोट बैंक और हिंदुवादी संगठन लंबे समय से समान नागरिक संहिता की मांग करते रहे हैं। बीजेपी ने भी इसे अपने कोर एजेंडे में रखा हुआ है। ऐसे में अब राजस्थान में भी इस पर काम शुरू कर दिया है।

Advertisment

लिव इन रिलेशनशिप: शादी से पहले सुरक्षा के लिए युवक-युवती पहुंचे कोर्ट, जज ने कहा-पहाड़ा सुनाओ; जानें पूरी कहानी

यूसीसी बिल का ड्राफ्ट तैयार करने के लिए बनेगी कमेटी 



बता दें कि यूसीसी बिल का ड्राफ्ट तैयार करने के लिए पहले कमेटी बनेगी। यूसीसी  कमेटी में मंत्रियों, विधि विशेषज्ञों और अफसरों को रखा जा सकता है। ड्राफ्ट तैयार करके इस पर जनता से सुझाव मांगे। फिर इसे विधानसभा में बिल के तौर पर पेश किया जाएगा। बताया जा रहा है कि उत्तराखंड के यूसीसी बिल में हर धर्म के लोगों पर बहुविवाह प्रतिबंधित करने का प्रावधान किया है। लिव इन में रहने वालों के लिए भी सख्त प्रावधान है। लिव इन रिलेशनशिप में रहने वालों को रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। बिना रजिस्ट्रेशन कार्रवाई का प्रावधान किया है। खून के रिश्ते या निकट पारिवारिक रिश्ते वालों के लिव इन रजिस्टर्ड नहीं होंगे। इसके कुछ प्रावधानों को लेकर कई वर्ग नाराजगी भी जता रहा है।

Advertisment

आज इन राशियों पर होगी भगवान बजरंगबली की कृपा, हर काम में मिलेगी सफलता, इन्हें रहना होगा सावधान, जानिए कौन सी हैं वो राशियां

बीजेपी ने किया था यूसीसी लागू करने का वादा 



उत्तराखंड में बीजेपी ने 2022 के विधानसभा चुनाव के दौरान समान नागरिक संहिता लागू करने का वादा किया था। उत्तराखंड यूसीसी (UCC) बिल के प्रावधान एसटी के लोगों पर लागू नहीं होंगे। राजस्थान में उत्तराखंड के यूसीसी बिल का अध्ययन होगा। सरकार जब ड्राफ्ट कमेटी बनाएगी तो वह समान नागरिक संहिता कानून में कुछ अलग प्रावधान भी करेगी। राजस्थान में ड्राफ्ट कमेटी बनने के बाद ही बिल की दिशा तय होगी। माना जा रहा है कि ज्यादातर प्रावधान उत्तराखंड वाले ही हो सकते हैं, लेकिन स्थानीय हालातों के मुताबिक कुछ नए प्रावधान भी जोड़े जा सकते हैं।

राजस्थान UCC मदन दिलावर
Advertisment
Advertisment