साइबर फ्राड पर सरकार की पैनी नजर, चक्षु करेगा निगरानी

अपराधी का जहां भी नंबर एक्टिव होगा, वहां की लोकल पुलिस को जानकारी चली जाएगी। नंबर के मालिक से कहा जाएगा कि 2 दिन में दोबारा केवाईसी कराएं। आउटगोइंग तत्काल बंद कर दी जाएगी।

author-image
Pratibha Rana
New Update
hrth
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

BHOPAL. साइबर क्राइम ( Cyber Fraud in India ) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। अगर आपके साथ वॉट्सऐप, फेसबुक, टेलीग्राम या किसी अन्य सोशल मीडिया पर किसी भी तरीके से कोई फ्रॉड होता है तो अब घबराएं ना, अपराधियों को पकड़ने के लिए सरकार ने अपना 'चक्षु' ( chakshu ) लॉन्च किया है। चक्षु में आप इसकी शिकायत चंद मिनटों में कर सकते हैं। चक्षु पर नागरिक ऐसे फोन कॉल और संदेशों की जानकारी दे सकेंगे, जिनके जरिए उनके साथ वित्तीय धोखाधड़ी से लेकर सेक्सटॉर्शन तक किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़िए....ग्रामीणों की प्रताड़ना से तंग आकर पिता ने बेटा-बेटी के साथ की आत्महत्या, सुसाइड नोट में 7 लोगों पर आरोप

चक्षु पर शिकायत करें, चंद घंटो में होगा एक्शन

अपराधी समय के साथ अडवांस्ड हो गए हैं और नए-नए तरीकों से आम लोगों को अपने जाल में फसा रहे हैं। इस पर लगाम लगाने के लिए केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इस प्लेटफॉर्म की सरकारी पोर्टल संचार साथी डॉट जीओवी पर औपचारिक शुरुआत की। चक्षु पर धोखेबाजों के फोन या व्हाट्सएप कॉल और मैसेज की जानकारी दी जा सकेगी। इनका स्क्रीनशॉट भी अपलोड किया जा सकेगा। उन्हें कॉल या मैसेज आने का समय, तारीख और अन्य उपलब्ध जानकारी लिखनी होगी। अपना नाम और फोन नंबर बताना होगा। उनके फोन नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा, जिसे बताने पर शिकायत दर्ज हो जाएगी। चक्षु प्लेटफॉर्म पर आई शिकायत की जांच कर अपराधियों को पकड़ा जाएगा और कार्रवाई की जाएगी। स्पैम कॉल करने वाले और अन्य संदिग्ध फोन नंबर बंद किए जाएंगे। इससे सरकार को साइबर खतरों पर समय रहते कार्रवाई करने में मदद मिलने की भी उम्मीद है।

ये खबर भी पढ़िए....MPPSC याचिकाकर्ताओं के लिए फिर खोलेगा विंडो, मेन्स के एडमिट कार्ड भी जारी करेगा, लेकिन असली तस्वीर 7 मार्च को होगी साफ

शिकायत की ये कैटेगरी

  • सेक्सटॉर्शन के कॉल या मैसेज
  • सरकारी अधिकारी या उसका रिश्तेदार बनकर बात करना
  • फर्जी कस्टमर केयर हेल्पलाइन से कॉल
  • बैंक, बिजली, गैस, इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए आने वाली कॉल
  • कुरियर डिलीवरी के नाम पर चूना लगाया
  • फोन को रिमोट कंट्रोल वाले एप के जरिए हैक करना
  • ऑनलाइन नौकरी, लॉटरी, तोहफे, लॉन ऑफर के लिए आ रही फर्जी कॉल
  • संदेहास्पद वेबसाइट्स के लिंक वाले मैसेज

ये खबर भी पढ़िए....सीक्रेट ही बना हुआ है इलेक्टोरल बॉन्ड का खुलासा, SBI ने वक्त मांगा

ऐसे कर सकते हैं रिपोर्ट

  1. sancharsaathi.gov.in वेबसाइट पर जाएं। 

    2. सिटीजन सेंट्रिक सर्विसेज पर क्लिक करें।

    3. सस्पेक्टेड फ्रॉड कम्युनिकेशन (चक्षु) पर क्लिक करें।

    4. चक्षु नाम से विंडो ओपन होगी, इसमें नीचे कंटीन्यू फॉर रिपोर्टिंग पर क्लिक कर दें।

    5. पहला सवाल दिखेगा कि आपसे कैसे संपर्क किया गया? तीन ऑप्शन होंगे- एसएमएस, कॉल, वॉट्सएप इसमें से एक सिलेक्ट करें।

    6. दूसरे सवाल में पूछा जाएगा कि किस संबंध में बातचीत हुई? इसमें सेक्सटॉर्शन, केवाईसी जैसे कई ऑप्शन दिखेंगे, इनमें से एक सिलेक्ट करें।

    7. फिर स्क्रीन शॉट अटैच करना होगा। चूज फाइल पर क्लिक करके आप इसे अपलोड कर सकते हैं।

    8. जिस दिन और समय पर कॉल, मैसेज या वॉट्सएप आया, उसे दर्ज कर दें।

    9. अधिकतम 500 शब्दों में शिकायत लिख दें।

    10. इसके बाद नाम और नंबर दर्ज करें।

    11. मोबाइल नंबर वेरिफाई करने के लिए दिया गया कैप्चा टाइप करें और वेरिफाई मोबाइल वाया ओटीपी पर क्लिक कर दें। शिकायत दर्ज हो जाएगी।

ये खबर भी पढ़िए....पीएम मोदी से बिना घूंघट में मिलेंगी संदेशखाली की पीड़ित महिलाएं!

कैसे करेगा चक्षु काम

चक्षु से अपराधी की डीटेल्स निकाली जाएगी। जहां भी नंबर एक्टिव होगा, वहां की लोकल पुलिस को जानकारी दी जाएगी। उसे कॉल कर कहा जाएगा कि 2 दिन में दोबारा केवाईसी कराएं, नहीं तो उनके नंबर की आउटगोइंग तत्काल बंद कर दी जाएगी। केवाईसी

न कराने पर एजेंसियां एक्शन लेना शुरू कर देंगी। इंटरनेट आधारित कॉल्स हैं तो यह एप आईपी एड्रेस मैप करेगा। जहां से लिंक, मैसेज या कॉल बल्क में किए जा रहे हैं, उसे ट्रेस करना आसान हो जाएगा।

Cyber Fraud in India चक्षु chakshu