लोकसभा चुनाव : राम मंदिर नहीं आया भाजपा को रास, अयोध्या में जानें कैसे हो गई हार

लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा ने अयोध्या के जिस राम मंदिर को मुद्दा बनाना चाहा, वही लोकसभा सीट पार्टी अपने हाथों से गंवा बैठी। सपा प्रमुख अखिलेश यादव पहले ही इस जीत की भविष्यवाणी कर चुके थे...

author-image
Shreya Nakade
New Update
फैजाबाद लोकसभा सीट
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

पूरे भारत में भारतीय जनता पार्टी और एनडीए ने राम मंदिर के मुद्दे पर चुनाव लड़ा। विपक्ष को अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में न आने के लिए घेरा। इसके बावजूद अयोध्या में ही भाजपा जनता को प्रभावित नहीं कर पाई। अखिलेश यादव ने पहले ही अवधेश पासी को पूर्व विधायक बोलकर इस जीत की भविष्यवाणी कर दी थी।



फैजाबाद लोकसभा सीट ( faizabad lok sabha seat ) के अंतर्गत अयोध्या नगरी आती है, जहां इसी साल रामलला का विशाल मंदिर बना है। उत्तर प्रदेश की इस सीट पर भाजपा के लल्लू यादव ( lallu yadav ) 54 हजार से ज्यादा मतों से हार गए। समाजवादी पार्टी के अवधेश प्रसाद पासी ( awdhesh prasad pasi ) ने पहली बार लोकसभा का चुनाव जीता। ऐसे में जानिए समाजवादी पार्टी ने इस सीट पर कैसे अपना कब्जा किया-

सपा का दलित उम्मीदवार पर प्रयोग

फैजाबाद में अखिलेश यादव की रणनीति भाजपा की हार का कारण बनी। सामान्य सीट होने के बावजूद सपा ने यहां अवधेश प्रताप पासी, एक दलित उम्मीदवार को मैदान में उतारा। वे अयोध्या की सबसे बड़ी दलित आबादी पासी बिरादरी से आते हैं।

अखिलेश को इस प्लान का पूरा फायदा मिला। इलाके में एक नारा- "अयोध्या में न मथुरा न काशी, सिर्फ अवधेश पासी" खूब गुंजा। नतीजे आने पर सपा के वरिष्ठ नेता अवधेश प्रताप फैजाबाद के सांसद बन गए।

ये खबर भी पढ़िए...

MP Lok Sabha Result 2024 : कांग्रेस के गढ़ छिंदवाड़ा में नकुलनाथ पस्त, BJP के विवेक बंटी साहू से 1 लाख 13 हजार 618 वोट से हारे

लल्लू सिंह पर बयान पड़े भारी

भाजपा के लल्लू सिंह पर उनका अति आत्मविश्वास भारी पड़ गया। उन्होंने एक बयान में कहा था कि मोदी सरकार को संविधान बदलने 400 सीटें चाहिए।

लोकसभा चुनाव 2024 में उन्हें तीसरी बार मौका दिया गया था। शायद लल्लू सिंह ने सोच लिया था कि राम मंदिर बनने के बाद तो इस सीट पर उनकी जीत पक्की है। हालांकि ऐसा हुआ  नहीं और फैजाबाद में उनकी हार हुई।

ये खबर भी पढ़िए...

गुजरात गांधीनगर सीट से अमित शाह 10 लाख वोटों से जीते

अखिलेश यादव की भविष्यवाणी

फैजाबाद चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे अखिलेश यादव ने पहले ही अवधेश प्रताप पासी की जीत की भविष्यवाणी कर दी थी। चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने पासी को पूर्व विधायक कह दिया। जबकि वे मिल्कीपुर के मौजूदा विधायक हैं। अब यह गलति से कहा या जानबूझकर ये तो अखिलेश ही जाने। हालांकि इसके बाद बात संभालते हुए उन्होंने कहा- "पूर्व विधायक इसलिए कह रहा हूं क्योंकि अब तो सांसद होने वाले हैं।"

देखें वीडियो 

ये खबर भी पढ़िए...

मोदी शपथ ग्रहण के लिए राष्ट्रपति भवन 9 जून तक आम लोगों के लिए बंद , तैयारियां शुरू

9 बार के विधायक हैं अवधेश प्रताप पासी 

अवधेश प्रताप पासी सपा के वरिष्ठ नेता हैं। वे पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक है। अवधेश प्रताप 8 बार सोहावल और 2 बार मिल्कीपुर से विधायक चुनकर आए हैं। पासी की वरिष्ठता के चलते अखिलेश भी उनका बहुत सम्मान करते हैं। विधानसभा में अवधेश पासी की सीट अखिलेश यादव की बराबरी में होती है। 

ये खबर भी पढ़िए...

अयोध्या हारी बीजेपी , TV के राम को मेरठ का मिला राजपाठ

राम मंदिर लोकसभा चुनाव 2024 अखिलेश यादव फैजाबाद लोकसभा सीट faizabad lok sabha seat लल्लू यादव lallu yadav awdhesh prasad pasi अवधेश प्रसाद पासी अखिलेश यादव की रणनीति राम मंदिर के मुद्दे पर चुनाव अवधेश पासी