Advertisment

कौन है कांग्रेस का छुपा रुस्तम, क्यों कराए ब्लैंक फॉर्म पर साइन, जानें

राज्यसभा के फॉर्म पर समर्थक और प्रस्तावक के तौर पर विधायकों के हस्ताक्षर कराए गए हैं। डिनर से पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि कैंडिडेट का चयन हाईकमान करेगा, जो भी नाम दिल्ली से आएगा उस पर सभी सहमत होंगे, लेकिन बात इतनी भी सीधी नहीं है...

author-image
Marut raj
New Update
कमलनाथ
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बंगले पर मंगलवार शाम कांग्रेस विधायकों और वरिष्ठ नेताओं का डिनर रखा गया था। आगामी राज्यसभा चुनाव को देखते हुए डिनर पार्टी महत्वपूर्ण थी, जिसमें सभी विधायकों से हस्ताक्षर करा लिए गए हैं। राज्यसभा के फॉर्म पर समर्थक और प्रस्तावक के तौर पर विधायकों के हस्ताक्षर कराए गए हैं। सूत्रों ने बताया कि डिनर से पहले बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विधायकों को बताया कि राज्यसभा के लिए कैंडिडेट का चयन हाईकमान करेगा। जो भी नाम दिल्ली से आएगा उस पर सभी सहमत होंगे। यहीं वजह हैं कि फॉर्म पहले ही भरवा लिए गए। दिल्ली से आने वाला नाम ऊपर लिख दिया जाएगा। कांग्रेस विधायकों से ब्लैंक फॉर्म पर क्यों साइन कराए गए, क्या समीकरण बन सकते हैं, आइए आपको बताते हैं.

Advertisment

11 सौ वर्ग मीटर में फैला है मामा का घर, दो साल में 3 करोड़ रुपए खर्च

इसलिए भरवाए गए फॉर्म

राज्यसभा के फॉर्म पर समर्थक और प्रस्तावक के तौर पर विधायकों के हस्ताक्षर कराए जाने के पीछे कांग्रेस की बड़ी रणनीति बताई जा रही है।

Advertisment
  1. सोनिया गांधी भी आ सकती हैं: मीडिया रिपोर्ट्स में सोनिया गांधी के राजस्थान से राज्यसभा उम्मीदवार बनाए जाने की बात कही जा रही है, लेकिन इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि सोनिया एमपी से राज्यसभा उम्मीदवार हो सकती हैं।
  2.  पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हालांकि अपने राज्यसभा उम्मीदवारी को खारिज कर रहे हैं, लेकिन संभव यह भी है कि उन्हें उम्मीदवार बनाया जाए। अंतिम समय में किसी प्रकार की ऊहापोह न हो, इसके लिए पहले ही विधायकों से साइन करा लिए गए।
  3. जीतू पटवारी के नाम पर भी संभावना: प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जीतू पटवारी अपनी उम्मीदवारी से इनकार कर रहे हैं, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि उनका नाम भी दिल्ली से आ जाए। किसी प्रकार का कोई विरोध न हो, इसके लिए पार्टी ने विधायकों से पहले ही साइन करा लिए।
  4. अप्रत्याशित होगा नाम: जिस प्रकार की तैयारी कांग्रेस की ओर से की जा रही है, इससे साफ है कि राज्यसभा के लिए कांग्रेस आलाकमान कोई अप्रत्याशित नाम भी दे सकता है। कौन होगा वो डार्क हॉर्स यह जल्द ही सामने आ जाएगा।  

लाड़ली बहना को फिलहाल नहीं मिलेंगे 1500 रु., इतने से ही चलाना होगा काम

5. विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है, लिहाजा सभी विधायक भोपाल में है। बुधवार को संभवतः बजट सत्र का अवसान हो जाएगा, जिसके बाद विधायक क्षेत्र में निकल जाएंगे। 15 फरवरी को राज्यसभा के लिए नामांकन होना है, लिहाजा मंगलवार को ही फॉर्म पर विधायकों के हस्ताक्षर करा लिए गए, ताकि दोबारा विधायकों को बुलाना न पड़े। 

Advertisment

एक चर्चा यह भी: राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि बीजेपी एमपी में कोई बड़ा उलटफेर करने की तैयारी कर रही है। इसकी शुरूआत राज्यसभा के चुनाव से भी हो सकती है। कांग्रेस को आशंका हो सकती है कि उसके विधायक राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग या फिर इस तरह का ही कोई और कदम न उठा लें, इससे बचने के लिए भी पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विधायकों से ब्लैंक फॉर्म पर साइन कराए हों।

जल्द लिस्ट जारी करेगी बीजेपी, इतने सांसदों के टिकट काटने की तैयारी!

कमलनाथ ने कयासों पर लगाया विराम

सरकारी कर्मचारियों को आयुष्मान योजना का लाभ दिलाएगी सीएस की कमेटी

इस डिनर को कमलनाथ की डिप्लोमेसी के तौर पर देखा जा रहा था। कयास लगाए जा रहे हैं कि कमलनाथ राज्यसभा जाने की तैयारी कर रहे हैं, लिहाजा विधायकों को डिनर दिया गया। हालांकि कमलनाथ ने साफ किया कि वें राज्यसभा नहीं जा रहे हैं। मंगलवार को उन्होंने कहा कि वे हर साल विधायकों को भोज पर बुलाते हैं।MLAs | Congress

CONGRESS कांग्रेस राज्यसभा MLAs
Advertisment
Advertisment