Advertisment

11 सौ वर्ग मीटर में फैला है मामा का घर, दो साल में 3 करोड़ रुपए खर्च

इस तरह बना मामा का घरः शिवराज सिंह ने मुख्यमंत्री रहते हुए ही अपने 74 बंगले स्थित बी-8 को बी-9 से मिला लिया। यह बंगला पहले जमुना देवी के पास था। इस तरह दो बंगले बी-8 का 774 वर्ग मी. और बी-9 का 371 वर्ग मी. मिलाकर कुल एरिया 1145 वर्ग मी. हो गया।

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
shivraj ka mama ka ghar

ऐसे बना पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का मामा का घर

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

अरुण तिवारी, BHAOPAL. मामा का घर यानी पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का सरकारी बंगला 1100 वर्ग मीटर में फैला है। इस बंगले पर पिछले दो साल में तीन करोड़ से ज्यादा खर्च किए गए हैं। यह जानकारी कांग्रेस विधायक देवेंद्र सखवार के सवाल के लिखित जवाब में पीडब्ल्यूडी मंत्री राकेश सिंह ने दी। जो पैसा खर्च किया गया है वो अतिरिक्त निर्माण, साज सज्जा और बिजली पर खर्च किए गए हैं। यहां पर सवाल उठता है कि बच्चों के मामा और लाड़ली बहनों के भाई उनके टैक्स के पैसे को अपनी सुविधा पर इस तरह क्यों उड़ा रहे हैं। 

Advertisment

सबसे बड़ा मामा का घर

सरकारी नियम के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री को सरकारी बंगला मिलता है, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो बंगलों को एक बनाकर अपना आवास बनाया। इसका इंतजाम उन्होंने अपने मुख्यमंत्री रहते ही कर लिया। 74 बंगले स्थित बी-8 उनको आवंटित था। उन्होंने पास के बंगले बी-9 को भी मिला लिया। यह बंगला पहले पूर्व उप मुख्यमंत्री और पूर्व नेता प्रतिपक्ष जमुना देवी का रहा है। यह दो बंगले मर्ज हुए और उन पर खूब पैसा खर्च हुआ। शिवराज सिंह चौहान जब सीएम पद से हटे तो इसी सरकारी आवास में रहने लगे। बी-8 का एरिया 774 वर्ग मीटर है और बी 9 का क्षेत्रफल 371 वर्ग मीटर है। इस तरह इस बंगले का कुल एरिया 1145 वर्ग मीटर हो गया। यानी सरकारी बंगलों में सबसे शिवराज सिंह चौहान यानी मामा का घर हो गया। 

9 जून को हेलिकॉप्टर में आखिर क्या हुआ था शिवराज के साथ, जानें वजह

Advertisment

लाड़ली बहना को फिलहाल नहीं मिलेंगे 1500 रु., इतने से ही चलाना होगा काम

शिवराज-कमलनाथ से कितना अलग मोहन सरकार का बजट,जानें तीनों का लेखानुदान

शिवपुरी में 27 पार्षदों ने नपा अध्यक्ष के खिलाफ खोला मोर्चा, शिकायत

Advertisment

बंगले को आलीशान बनाने बेतहाशा खर्च

दो बंगलों को एक कर उसे आलीशान बनाने में शिवराज सिंह चौहान ने बेतहाशा पैसा खर्च किया। यह सरकारी पैसा उन टैक्स पेयर का था जिनको शिवराज, भाई-बहन और भांजे-भांजी कहते हैं। विधानसभा से मिली जानकारी के अनुसार पिछले दो साल में इस बंगले के अतिरिक्त निर्माण, साज सज्जा और बिजली पर 3 करोड़ 10 लाख रुपए खर्च किए गए। इन दो साल से पहले के दो सालों में सीएम हाउस पर 26 करोड़ और 74 बंगले के इस सरकारी आवास पर 1 करोड़ 64 लाख रुपए खर्च किए गए। 

बंगले का बिजली बिल सवा लाख रुपए महीना

जब शिवराज सिंह चौहान सीएम हाउस में रहते थे तब इस बंगले का दो साल का बिजली बिल 28 लाख रुपए आया यानी सवा लाख रुपए महीने। ऐसा है मामा का घर। मामा का ये आलीशान घर आम आदमी के टैक्स के पैसे खर्च कर बना है। यहां पर सवाल यह उठता है कि यह कैसी आम आदमी की सरकार है जो अपने बंगले की साज सज्जा पर आम आदमी के टैक्स के करोड़ों रुपए बेतकल्लुफी से उड़ाए जा रहे हैं।

शिवराज सिंह चौहान मामा का घर
Advertisment
Advertisment