Advertisment

दिल्ली में होने वाले किसान आंदोलन को दबाने जबलपुर में चल रही कवायद

एएसपी प्रियंका शुक्ला ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि जबलपुर के ये किसान नेता ज्यादा से ज्यादा भीड़ लेकर दिल्ली जाने की तैयारी में हैं। सभी नेताओं को उनके थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर धारा 151 के तहत दंडात्मक कार्यवाही की गई है। राजनीति

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
kisan andolan

जबलपुर से आंदोलन में जा रहे किसान गिरफ्तार।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

नील तिवारी, JABALPUR. दिल्ली में किसान आंदोलन के लिए किसान संगठनों ने 13 फरवरी को किसान कूच का आव्हान किया है। जिसके चलते जबलपुर में समाजसेवी और किसानों की आवाज उठाने वाले कुल 8 नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जबलपुर की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रियंका शुक्ला ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि जबलपुर के ये किसान नेता ज्यादा से ज्यादा भीड़ लेकर दिल्ली जाने की तैयारी में हैं। जिसके बाद सभी नेताओं को उनके थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर धारा 151 के तहत दंडात्मक कार्यवाही कि गई है।  

Advertisment

क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार 

जबलपुर के समाजसेवी और किसान नेता राम रतन यादव को कल देर रात जबलपुर की क्राइम ब्रांच पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किया गया, उनके समर्थन में पहुंचे हुए लोगों ने पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाए कि यह गिरफ्तारी दिल्ली में आगामी 13 तारीख को होने वाले आंदोलन को दबाने के लिए की गई है। वहीं उनके समर्थकों ने आरोप लगाए कि राम रत्न यादव कि पत्नी ह्रदय रोड से ग्रसित हैं उसके बाद भी उन्हे बिना किसी वररेन्ट या सम्मन के गिरफ्तार कर लिया गया ।   रामरतन यादव के ऊपर धारा 151 का केस दर्ज किया गया है परंतु उनके समर्थकों ने कहा है कि वह जमानत न कर कर स्वयं भी इसके विरोध में गिरफ्तारी देंगे

किसान आंदोलन में जा रहे थे भोपाल में नजरबंद, खुफिया सूचना पर उतारा

Advertisment

दिल्ली कूच करने को किसान तैयार, जानें क्या हैं किसानों की 12 मांगें

सत्ता का दुरुपयोग कर उड़ा रहे लोकतंत्र कि धज्जियां 

राम रतन यादव के समर्थकों ने गोरखपुर थाने पहुंचकर अपना विरोध जताया और यह आरोप लगाए कि सत्ता का दुरुपयोग कर लोकतंत्र कि धज्जियां उड़ाने के आरोप इस सरकार पर लगातार लगाए जा रहे थे जो आज सत्य साबित हो रहे हैं। किसानों के आंदोलन को दबाने के लिए असंवेधनिक तरीके अपनाए जा रहे हैं और किसान आंदोलन को दबाने के लिए किये जा रहे इन प्रयासों को तानाशाही बताया।

जबलपुर किसान आंदोलन
Advertisment
Advertisment