Advertisment

दिल्ली जाने से रोकने के लिए इंदौर में भी हुई किसानों की धरपकड़,भेजा जेल

16 फरवरी को किसान इस मुद्दे पर हड़ताल करने की तैयारी में हैं। इनमें संयुक्त किसान मोर्चा के किसान नेता और सदस्य शामिल हैं। सांवेर पुलिस ने संयुक्त किसान मोर्चा के नेता और भाकिमसे के प्रदेश अध्यक्ष बबलू जाधव को नजरबंद किया, फिर जेल भेज दिया।

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
kisan andolan

आंदोलन में दिल्ली जा रहे किसानों को पकड़कर जेल भेजा।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता, INDORE. किसानों का प्रदर्शन फिर उग्र हो रहा है, दिल्ली बार्डर देश की बार्डर जैसी हो गई है। वहीं दिल्ली की ओर बढ़ रहे किसान आंदोलन 2.0 को लेकर इंदौर पुलिस भी सक्रिय है। चार किसान नेताओं को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से एक बड़े नेता को जेल भेजा जा चुका है। कई नेताओं को नजरबंद कर रखा है। कुछ नेताओं को थाने पर बैठाया है। एक्शन पता चलते ही आसपास के नेता घरों से गायब हो गए।

Advertisment

पुलिस ने किसानों पर गुपचुप शुरू की कार्रवाई

दिल्ली जाने से पहले ही इंदौर पुलिस रविवार से छापामारी कर रही है। यह भी जानकारी मिली थी कि 16 फरवरी को किसान इस मुद्दे पर हड़ताल करने की तैयारी में हैं। इनमें संयुक्त किसान मोर्चा के किसान नेता और सदस्य शामिल हैं। सांवेर पुलिस ने सबसे पहले सोमवार दोपहर में संयुक्त किसान मोर्चा के नेता और भारतीय किसान मजदूर सेना के प्रदेश अध्यक्ष बबलू जाधव को नजरबंद किया। शाम होते-होते उन्हें एसडीएम के यहां पेश कर जेल भेज दिया। इसके अलावा सोमवार देर रात अन्नपूर्णा पुलिस ने किसान नेता रामस्वरूप मंत्री को भी पकड़ा है।

किसान आंदोलन में जा रहे थे भोपाल में नजरबंद, खुफिया सूचना पर उतारा

Advertisment

किसान आंदोलन- पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, रबर की गोलियां चलाई!

किसानों का दिल्ली कूच आज, जानें दो साल पहले कैसे घेरी थी दिल्ली

अभी तक तीन नेताओं को किया गिरफ्तार

Advertisment

राजेश हिंगणकर (डीआईजी ग्रामीण) ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों से अभी तक तीन किसान नेताओं को गिरफ्तार किया गया। इनमें सोमवार दोपहर को सांवेर से बबलू जाधव, मजदूर संघ के नेता राजकुमार पाटीदार और बल्लूसिंह को देर रात अलग-अलग क्षेत्रों से गिरफ्तार किया। एक अन्य को शहर से गिरफ्तार किया है। वहीं शहरी क्षेत्र उषा नगर से रामस्वरूप मंत्री को पकड़ा गया है। इनके सहित अब तक चार किसान नेताओं को पकड़ा गया है।

बात करने के बहाने बुलवाया और बैठा लिया

पुलिसकर्मियों ने प्रदेशाध्यक्ष जाधव के घर जाकर कहा था कि टीआई साहब ने कुछ चर्चा के लिए बुलाया है। ऐसा कहकर वे उन्हें गाड़ी में बैठाकर ले गए। जब रात तक नहीं लौटे तो किसान साथियों ने जानकारी निकाली। पता चला कि उन्हें थाने में बैठाया गया है। बाद में एसडीएम कोर्ट में पेश कर सांवेर जेल भेज दिया गया। इससे मंगलवार को किसानों में भारी आक्रोश दिखा।

नेता भी हुए गायब

इस बीच सभी किसान नेताओं ने अपने मोबाइल बंद कर लिए। घर से बाहर हैं। बताया जाता है अभी तक अलग-अलग जिलों से गिरफ्तार डेढ़ सौ किसानों को लेकर इंदौर में भी अंदरुनी विरोध चल रहा है। ये सभी किसान आंदोलन में की जा रही मांगों के समर्थन में हैं।

किसानों का प्रदर्शन दिल्ली दिल्ली का किसान आंदोलन
Advertisment
Advertisment