Advertisment

मंत्री हवाई पट्टी पर बस के लिए खड़े रहे, CS और अफसर कार में बैठ निकल गए

पीएम मोदी के जाते ही कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, तुलसी सिलावट, सांसद के साथ ही अन्य नेतागण हवाई पट्‌टी पर बस का इंतजार करने लगे। उधर मुख्य सचिव वीरा राणा, डीजीपी सुधीर सक्सेना सहित अन्य अधिकारियों के लिए वहीं पर कारें लग गई और निकल गए। राजनीति

author-image
Jitendra Shrivastava
New Update
INDORE AIRPORT

इंदौर एयरपोर्ट पर लाउंज जाने के इंतजार में मंत्रीगण।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता, INDORE. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रविवार को झाबुआ दौरे के बाद इंदौर एयरपोर्ट पर मंत्रियों के साथ अजीब स्थिति बन गई। पीएम मोदी झाबुआ से इंदौर एयरपोर्ट पर आए और फिर विमान पर बैठकर दिल्ली के लिए रवाना हुए। उनके जाने के बाद कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, तुलसी सिलावट, सांसद के साथ ही अन्य नेतागण हवाई पट्‌टी पर बस का इंतजार करने लगे, जिससे वह लाउंज में जा सकें। उधर मुख्य सचिव वीरा राणा, डीजीपी सुधीर सक्सेना सहित अन्य अधिकारियों के लिए वहीं पर कारें लग गई और सभी कार में बैठकर रवाना हो गए। बाद में लाउंज में बैठकर नेताओं के बीच अधिकारियों के इस रवैए पर चर्चा चली कि प्रोटोकॉल का भी भुला दिया गया कि कैबिनेट मंत्री अभी वहीं खड़े हैं और उनके जाने से पहले अधिकारी चले गए।

Advertisment

लाउंज में मंत्रियों में चली शिवराज की बात, अधिकारी भूल गए प्रोटोकॉल

इसके बाद सभी नेता, लाउंज में कुछ देर के लिए बैठे तो वहां पर यह बात उठी कि अधिकारियों का यह रवैया गलत था और उन्होंने प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया। इस पर कुछ लोगों ने शिवराज सिंह चौहान के सीएम काल का याद किया और तंज कसा कि उनके कार्यकाल के दौरान अधिकारियों में प्रोटोकॉल की आदत खत्म हो गई थी, इसलिए ऐसा हुआ। यह भी बात चली कि हम हवाई पट्टी पर विमानन की बस का इंतजार कर रहे हैं और अधिकारियों के लिए कारें लग गई और वह चलते बने।

PM मोदी की जड़ी-बूटी BJP कैसे जाएगी 370 पार, कांग्रेस का एक ही काम- नफरत, नफरत और नफरत

Advertisment

पीएससी को धमकी - तारीख नहीं बढ़ाई तो आत्मदाह

शिवराज के कार्यकाल में लगातार लगे अधिकारियों की मनमानी के आरोप

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में लगातार अधिकारियों की ही चलते रहने की शिकायतें खुद बीजेपी नेताओं द्वारा की गई। विजयवर्गीय के ब्यूरोक्रेसी को लेकर लगातार बयान चर्चा में रहे हैं। उन्होंने यहां तक चुनाव के दौरान कहा था मप्र में ऐसा कोई अधिकारी पैदा नहीं हुआ जो मैं फोन करूं और नहीं उठाए, मेरे चुनाव में आने के बाद अधिकारियों की नींद उड़ गई है।

मंत्री हवाई पट्टी CS और अफसर
Advertisment
Advertisment