मध्य प्रदेश ही नहीं छत्तीसगढ़ कांग्रेस में भी नेता छोड़ रहे हाथ, दर्जनभर पूर्व विधायक जाएंगे BJP के साथ

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले कांग्रेस को देशभर में लगातार झटके लग रहे हैं। इसी क्रम में अब खबर है कि छत्तीसगढ़ से पूर्व विधायक चुन्नीलाल साहू और मन्तूराम पवार के बाद करीब दर्जन भर कांग्रेस नेता बीजेपी के संपर्क में हैं... 

author-image
Sandeep Kumar
New Update
PIC

छत्तीसगढ़ से पूर्व विधायक और कई नेता बीजेपी के संपर्क में हैं।

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

अरुण तिवारी @ RAIPUR

राजनीतिक पतन झेल रही कांग्रेस (Congress ) में भगदड़ मची हुई है। मध्य प्रदेश में एक के बाद एक कांग्रेस नेता हाथ का साथ छोड़कर बीजेपी ( BJP ) में शामिल हो रहे हैं। मप्र के साथ छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh ) में भी यही हाल हैं। पूर्व विधायक चुन्नीलाल साहू ( Former MLA Chunnilal Sahu ) और मन्तूराम पवार (Manturam Pawar ) के बाद करीब दर्जन भर कांग्रेस के नेता बीजेपी के संपर्क में हैं। सूत्रों की माने तो ये पूर्व विधायक भी जल्द ही बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। हालांकि ये नेता अभी बीजेपी में जाने से इनकार कर रहे हैं, लेकिन अंदर ही अंदर कुछ तो खिचड़ी पक रही है।

ये खबर भी पढ़िए..छत्तीसगढ़ में महादेव सट्टा एप मामले में EOW की कार्रवाई, जानें किस पर गिरी गाज

ये खबर भी पढ़िए..Shankaracharya ने राम मंदिर पर जताई थी नाराजगी, अब इस मांग को लेकर दिया धरना

कांग्रेस के इन नेताओं पर बीजेपी की नज़र

मोहित केरकेट्टा : विधानसभा चुनाव में टिकिट कटने से नाराज़ हैं।

महंत रामसुंदर दास : विधानसभा में जांजगीर से टिकिट चाहते थे, रायपुर दक्षिण से दे दिया गया लिहाज़ा चुनाव हार गए। हारने के बाद इन्होंने कांग्रेस छोड़ दी हैं।

बृहस्पति सिंह : विधानसभा चुनाव में टिकिट कटी। इन्होंने कांग्रेस नेताओं के खिलाफ बयानबाज़ी की तो पार्टी ने इन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। अब ये बीजेपी में जा सकते हैं।

शिशुपाल सोरी : ये भी विधानसभा चुनाव में टिकट कटने से नाराज़ चल रहे हैं।

चंद्रदेव राय : इनका भी विधानसभा चुनाव में टिकिट काट दिया गया। 

भुवनेश्वर बघेल : विधानसभा चुनाव में इनका टिकिट काट दिया गया। इन्होंने बहुत विरोध किया था। अब बीजेपी की तज़ार इन पर है।

मोती देवांगन : पूर्व विधायक होने के नाते ये विधानसभा चुनाव में टिकिट की दावेदारी कर रहे थे, इनको टिकिट नहीं मिला। हालांकि ये कांग्रेस छोड़ने से अभी इनकार कर रहे हैं।

डॉ विनायजसवाल : इनका भी विधानसभा चुनाव में टिकिट काट दिया गया। इन्होंने इसका खुलकर विरोध किया। कांग्रेस ने इनको बाहर का रास्ता दिखा दिया। अब ये बीजेपी जा सकते हैं।

ये खबर भी पढ़िए..Chhattisgarh : सरकार फिर से शराब दुकानों को ठेके पर देगी, आबकारी नीति अप्रैल से होगी लागू !

ये खबर भी पढ़िए..BJP नेता बोले- Lok Sabha चुनाव नहीं लड़ना चाहते विकास, Congress उम्मीदवार ने कहा, अफवाह फैला रहे विरोधी

छत्तीसगढ़ कांग्रेस