उच्च माध्यमिक शिक्षक वर्ग 1 में पद बढ़ाने और नियुक्ति के लिए शिक्षकों का जय श्रीराम नारे के साथ भोपाल में अंदोलन

मध्यप्रदेश शासन के राजपत्र में एक दिसंबर 2022 के अनुसार उच्च माध्यमिक शिक्षक (वर्ग 1) के 34789 पद खाली है ,जिनमें से 50% यानी 17394 पद सीधी भर्ती द्वारा भरे जाने है। बताया जा रहा है कि सरकार वित्त की कमी के चलते यह पद नहीं भर रही है। 

author-image
Pratibha ranaa
एडिट
New Update
fvfv

उच्च माध्यमिक शिक्षक वर्ग 1

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

संजय गुप्ता, INDORE. उच्च माध्यमिक शिक्षक वर्ग 1 ( Higher Secondary Teacher Class 1 ) के 34789 पद खाली है, लेकिन सरकार कुल 16 विषय में केवल 8720 पदों पर भी नियुक्ति की प्रक्रिया कर रही है। पद बढ़ाने और नियुक्ति जल्द देने की मांग के साथ चचनित और मेरिट होल्डर सभी भोपाल में मंगलवार (12 मार्च) को आंदोलन करने के लिए प्रदेश भर से भोपाल के कमलापति रेलवे स्टेशन पर जमा होना शुरू हो गए हैं। यह सभी आंदोलनकारी अपने हाथो में जय श्रीराम की फोटो, नारे के साथ आंदोलन कर रहे हैं। जय श्रीराम के नाम के दुपट्‌टे डाल रहे हैं और पोस्टर, बैनर में अयोध्या के श्रीराम की फोटो लगी हुई है। 

ये खबर भी पढ़िए...CAA से लोकसभा चुनाव में BJP को कितना होगा नफा और कहां होगा नुकसान, समझें पूरा हिसाब-किताब

कम पदों के कारण मेरिट वालों को भी नियुक्ति नहीं

कम पदों के कारण हालत यह है कि कई विषयों मे तो अनारक्षित और ओबीसी के लिए पद ही नहीं है। वहीं अन्य विषयों में इतने कम पद है कि मेरिट होल्डर टॉप टेन वालों को भी नियुक्ति के आसार नहीं है। सभी छात्र चयनित शिक्षक संघ ( वर्ग 1 ) का गठन कर इन मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। 

टच

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी लिखी सीएम को चिट्‌ठी

इसी मामले में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने सीएम डॉ. मोहन यादव को पत्र लिखा है। उन्होंने चयनितों की ओर से मांग रखी है कि केवल 8720 पदों पर भर्ती हो रही है। इसमें भी अन्य राज्यों के कई उम्मीदवारों को बिना मापदंड के चुना गया है। जबकि पद करीब 35 हजार रिक्त है। कई उम्मीदवारों की उम्र सीमा पार हो जाएगी। इसलिए इसमें पद वृद्धि कर चयनित शिक्षकों को सही अवसर दिया जाए।

ये खबर भी पढ़िए...ग्वालियर में पूर्व मंत्री के बेटे के रिसॉर्ट पर CGST का छापा, पकड़ी डेढ़ करोड़ की टैक्स चोरी

इस बार मिले हैं सबसे ज्यादा योग्य क्योंकि दो बार हुई परीक्षा

शिक्षक वर्ग 1 के लिए चयन पात्रता परीक्षा औसतन पांच साल में सरकार एक बार लेती है। इसके पहले 2012, 2018 और अब 2023 में यह परीक्षा हुई है, यानि कि चुनावी साल में ही यह परीक्षा होती है। पहली बार यह परीक्षा दो चरणों में हुई है, इसलिए योग्यता की जांच का स्तर दोहरा था। इसमें पहले चयन पात्रता परीक्षा मार्च 2023 में और फिर चयन परीक्षा अगस्त 2023 में हुई। रिजल्ट फरवरी 2024 में आया, लेकिन ना तो अभी तक नियुक्ति हुई और ना ही इसमें पदों को लेकर बढ़ोतरी की जा रही है। 

तटतट

सरकार के मुताबिक ही 17 हजार सीधी भर्ती से होना है भर्ती

उम्मीदवारों की मांग है कि 20 हजार पदों की वृद्धि की जाए और साल 2018 की भर्ती प्रक्रिया में काउंसलिंग में खाली रहे 5935 पदों को भी इसमें शामिल किया जाए। मध्यप्रदेश शासन के राजपत्र में एक दिसंबर 2022 के अनुसार उच्च माध्यमिक शिक्षक (वर्ग 1) के 34789 पद खाली है ,जिनमें से 50% यानी 17394 पद सीधी भर्ती द्वारा भरे जाने है। बताया जा रहा है कि सरकार वित्त की कमी के चलते यह पद नहीं भर रही है। उधर सरकार मंच से कहती है कि वित्त की कमी नहीं है।

ये खबर भी पढ़िए...उज्जैन व्यापार मेला से खरीदी कार तो होगा ढाई लाख का फायदा, इस तारीख तक है मौका!

8720 पद में भी 3668 तो बैकलॉग के ही है

  • अभी खाली 8720 पदों में से स्कूल शिक्षा विभाग के 7591 और ट्राइबल के 1129 पद है। इसमें भी कुल फ्रेश पद मात्र 5052 ही है, बाकी 3668 पद तो बैकलॉग के है। फ्रेश 5052 पद में भी 25 फीसदी यानि 1264 सीधे अतिथि शिक्षकों के लिए आरक्षित है।
  • पदों की हालत देखिए, मेरिट वालों की भी नियुक्ति इसलिए नहीं

ये खबर भी पढ़िए...NEWS STRIKE : दलबदलुओं से Congress से ज्यादा BJP को नुकसान! कब तक चलेगा ये सिलसिला?

पदों की हालत 12 फरवरी को ईएसबी (कर्मचारी चयन मंडल) के जारी पत्र के आधार पर ही एक बार देखिए क्या है?

1-    पद कोड टू हिंदी- 7 पद- सभी एसटी वर्ग में

2-    पद कोड 4 अंग्रेजी- 606 पद जो एससी व एसटी वर्ग के, यानि बैकलॉग के, अनारक्षित, ओबीसी के लिए एक भी नहीं

3-    इसी तरह संस्कृत, गणति, उर्दू, जीव विज्ञान, भौतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र, इतिहास सहित कई विषयों में अनारक्षित, ओबीसी के लिए पद ही नहीं है।

उच्च माध्यमिक शिक्षक वर्ग 1 Higher Secondary Teacher Class 1