कांग्रेस के पास जिताउ उम्मीदवारों का टोटा, बीजेपी को नए चेहरों की तलाश

लोकसभा चुनाव के लिए मध्य प्रदेश में कांग्रेस को आदिवासी सीटों पर कुछ उम्मीद की किरण नजर आ रही है। वहीं बीजेपी को सीधी, सतना और दमोह में नए चेहरों की तलाश है।

author-image
Marut raj
New Update
the sootr
Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00

अरुण तिवारी, भोपाल. बीजेपी-कांग्रेस के लोकसभा उम्मीदवारों की सूची जल्द आ सकती है। कांग्रेस जल्द अपने उम्मीदवार घोषित कर जीत की उम्मीद तलाश रही है। हालांकि उसके पास जिताउ उम्मीदवारों का टोटा नजर आता है। वहीं बीजेपी उम्मीदवारों का फैसला केंद्रीय नेतृत्व के हिसाब से होगा। केंद्रीय नेतृत्व ने अधिकांश सीटों पर अपने उम्मीदवार तय कर लिए हैं। केंद्रीय चुनाव समिति को उस पर अंतिम मुहर लगानी है। हालांकि कुछ सीटों पर बीजेपी नए,युवा और महिला उम्मीदवार तलाश रही है। आइए हम आपको बताते हैं कि मध्यप्रदेश की 9 लोकसभा सीटों पर संभावित उम्मीदवारों के नाम। 

कांग्रेस को हारों का सहारा, बीजेपी को चाहिए नए चेहरे

ये खबरें भी पढ़ें...

सीएम मोहन की कैबिनेट ने MPPSC में अपात्र सदस्य की नियुक्ति को दी मंजूरी, गलती खुली तो रोका अपॉइंटमेंट

हर बूथ पर 370 वोट बढ़ाने BJP का रामनामी प्लान, योजनाओं पर मांगेंगे वोट

सुक्खू रहेंगे या जाएंगे, हिमाचल में कांग्रेस के पास सिर्फ ये विकल्प

BJP पार्षदों में चले लात-घूंसे, सड़क को लेकर हुआ विवाद

कांग्रेस के पास इन 9 सीटों में से एक भी सीट नहीं है। हालांकि, कांग्रेस ( Congress ) को आदिवासी सीटों पर कुछ उम्मीद की किरण नजर आ रही है। वहीं बीजेपी को सीधी, सतना और दमोह में नए चेहरों की तलाश है। हालांकि सीधी से एक बार फिर रीति पाठक का नाम भी चल रहा है। रीति पाठक हाल ही में सांसद से विधायक बनी हैं, लेकिन उनको कैबिनेट में शामिल नहीं किया गया। इसलिए हो सकता है उनको फिर से सीधी से चुनाव लड़वाया जाए। सतना से गणेश सिंह की जगह पार्टी नया चेहरा चाहती है। गणेश सिंह विधानसभा चुनाव हार चुके हैं। दमोह की सीट भी प्रहलाद पटेल के विधायक बनने से खाली हो गई है। प्रहलाद पटेल मंत्री हैं, इसलिए उनको पार्टी चुनाव नहीं लड़वाएगी। दमोह से किसी लोधी नेता को टिकट मिल सकता है। 

आइए अब आपको बताते हैं प्रदेश की नौ लोकसभा सीटों पर बीजेपी-कांग्रेस के संभावित उम्मीदवार 

खरगौन : 

कांग्रेस : 

बाला बच्चन – कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक, पूर्व मंत्री, बड़ा आदिवासी चेहरा

 ग्यारसीलाल रावत – पूर्व विधायक, विधानसभा चुनाव में टिकट कटा

बीजेपी : 

गजेंद्र सिंह पटेल – सिटिंग सांसद 

मंदसौर : 

कांग्रेस : 

मीनाक्षी नटराजन – पूर्व सांसद, युवा महिला नेता, राहुल गांधी की करीबी

 सोमिल नाहटा – पूर्व मंत्री के पुत्र, टिकट के प्रबल दावेदार

भानुप्रताप सिंह राठौर – युवा राजपूत नेता, करणी सेना से ताल्लुक, युवाओं में पैठ

बीजेपी : 

सुधीर गुप्ता – सिटिंग सांसद

यशपाल सिसोदिया : मंदसौर से तीन बार के विधायक, विधानसभा चुनाव हारे

देवीलाल धाकड़ - पार्टी के पुराने और सक्रिय नेता

सीधी : 

कांग्रेस : 

कमलेश्वर पटेल – पूर्व मंत्री, ओबीसी चेहरा,  एआईसीसी में शामिल, विधानसभा चुनाव में हार

बीजेपी : रीति पाठक – सांसद से विधायक बनीं, दो बार यहां की सांसद रहीं

नए चेहरे को मौका

सतना : 

कांग्रेस : सिद्धार्थ कुशवाह – दो बार के विधायक, गणेश सिंह को हराया, कमलनाथ की पसंद

दिलीप मिश्रा – ब्राह्मण चेहरा, ब्राह्मन बाहुल्य सीट

 मनीष तिवारी - ब्राह्मण चेहरा, ब्राह्मन बाहुल्य सीट, क्षेत्र में सक्रियता

बीजेपी : गणेश सिंह – सिटिंग एमपी

नए चेहरे को मौका

रीवा : 

कांग्रेस : 

अभय मिश्रा – विधायक, दबंग नेता

अजय मिश्रा – महापौर

कविता पांडे – ब्राह्मण महिला नेता, लंबे समय से टिकट की दावेदार, क्षेत्र में पकड़

बीजेपी : 

जनार्दन मिश्रा – सिटिंग सांसद 

दमोह : 

कांग्रेस : 

मुकेश नायक – पूर्व विधायक रहे, पूर्व मंत्री, विधानसभा चुनाव हारे

 तरुवर लोधी – पूर्व विधायक

बीजेपी : 

प्रहलाद पटेल की पसंद से नया चेहरा

प्रह्लाद पटेल : दमोह से लगातार सांसद रहे, लोधी बाहुल्य क्षेत्र, अब प्रदेश सरकार में मंत्री

गोपाल भार्गव : प्रदेश के सबसे पुराने और सबसे ज्यादा बार के विधायक, मंत्री पद नहीं मिला, क्षेत्र में प्रभाव

राजगढ़ : 

कांग्रेस : प्रियव्रत सिंह, रामचंद्र दांगी

बीजेपी : रोडमल नागर



रतलाम : 

कांग्रेस : 

कांतिलाल भूरिया : आदिवासी बड़ा चेहरा, लगातार सांसद रहे, पूर्व केंद्रीय मंत्री

 हर्ष विजय गेहलोत – पूर्व विधायक, विधानसभा चुनाव मे हार

बीजेपी : गुमान सिंह डामोर – सिटिंग सांसद

भानू भूरिया – आदिवासी युवा चेहरा, 

खजुराहो : 

कांग्रेस : 

कांग्रेस नहीं उतार रही उम्मीदवार, समझौते के तहत सपा को दी सीट

बीजेपी : 

वीडी शर्मा – सिटिंग सांसद, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष

संजय पाठक : वीडी शर्मा दूसरी सीट से चुनाव लड़े तो मिलेगा मौका, सीनियर विधायक, पूर्व मंत्री

बीजेपी ( BJP )  ने सभी सीटों पर पैनल तैयार कर लिए हैं। हो सकता है कि 29 फरवरी को दिल्ली में होने वाली केंद्रीय चुनाव समिति के बाद प्रदेश के भी कुछ उम्मीदवारों के नामों का एलान कर दिया जाय।

CONGRESS कांग्रेस BJP बीजेपी